Raj Express
www.rajexpress.co
Eveready-Duracell Deal
Eveready-Duracell Deal|Kavita Singh Rathore -RE
व्यापार

कर्ज में डूबी एवरेडी कंपनी की ड्यूरासेल से हुई डीलः मिलेगी राहत

बैटरी निर्माता कंपनी एवरेडी इंडस्ट्रीज 700 करोड़ रुपए के कर्ज के चलते बिकने की कगार पर पहुंच गई है। ड्यूरासेल और एवरेडी की डील अपने आखिरी चरण में है। इस स्लंप सेल डील से कंपनी को मिल सकती है राहत।

Kavita Singh Rathore

Kavita Singh Rathore

हाइलाइट्स :

  • कर्ज के चलते एवरेडी इंडस्ट्रीज बिकने की कगार पर

  • कंपनी पर 700 करोड़ रुपए का कर्ज

  • ड्यूरासेल इंक से हुई 1600-1700 करोड़ रुपए की डील

  • सौदा आखिरी चरण में पहुँचा

  • ड्यूरासेल को केवल भारत में ही मिलेगा एवरेडी ब्रांड पर मालिकाना हक

  • कई बैंकों और अन्य स्रोतों से लिया था कर्ज

राज एक्सप्रेस। भारत की 114 साल पुरानी जानी-मानी बैटरी निर्माता कंपनी एवरेडी इंडस्ट्रीज अब बिकने की कगार पर आ खड़ी हुई है। हाल ही में कई कंपनिया जैसे-जेट एयरवेज और किंगफिशर घाटे में चलने के कारण डूब गईं। अब एवरेडी कंपनी के हालत भी ठीक उसी तरह बनते नजर आ रहे हैं। एवरेडी कंपनी पर 700 करोड़ रुपए का कर्ज है, जिसे वो कुछ समय पहले से चुकाने की लगातार कोशिश कर रही थी।

सौदा पंहुचा आखिरी चरण में :

कर्ज के तले दबी एवरेडी कंपनी इस कर्ज से मुक्त होने के लिए वॉरेन बफे के मालिकाना हक रखने वाली कंपनी और बर्कशायर हैथवे की यूनिट कंपनी ड्यूरासेल इंक से डील कर रही है। इस डील के मुताबिक एवरेडी कंपनी को ड्यूरासेल इंक खरीदेगी। एवरेडी कंपनी की पूरी तरह से कैश में होने वाली यह स्लंप सेल डील अपने आखिरी चरण तक पहुंच गई है। यह डील करीब 1600-1700 करोड़ रुपए में पूरी होगी। जिससे कंपनी को कर्ज से मुक्त होने में मदद मिलेगी। इस डील के बाद ड्यूरासेल को केवल भारत में ही एवरेडी ब्रांड पर मालिकाना हक मिलेगा। साथ ही इस डील से कंपनी सालभर में 7 से 70 करोड़ रूपये तक का इंट्रेस्ट कॉस्ट बचा सकेगी।

इन बैंको से लिया कर्ज :

एवरेडी इंडस्ट्रीज ने ये 700 करोड़ रुपए का कर्ज कई बैंको से लिया है। जिसमें यूको बैंक, एचडीएफसी बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, आरबीएल, इंडसइंड बैंकों के नाम शामिल हैं। इसके अलावा इस कंपनी ने कई और अन्य स्रोतों से भी कर्ज लिया था।

डील (Eveready-Duracell Deal) में यह है शामिल :

एवरेडी कंपनी की इस डील में मैन्युफैक्चरिंग प्लांट्स, डिस्ट्रीब्यूशन नेटवर्क और एवरेडी ब्रांड शामिल हैं। हालांकि इस डील को लेकर ड्यूरासेल इंक कंपनी और खेतान कंपनी के बीच कुछ समय पहले से बात चल रही थी। वही इसी डील को लेकर अमेरिका की कंपनी एनर्जाइजर (Enerigizer) से भी बात चल रही थी। अमेरिका और चीन में एवरेडी ब्रांड एनर्जाइजर के पास ही है। खेतान कंपनी कई प्राइवेट इक्विटी कंपनी से भी बातचीत कर रहा थी।

कंपनी से जुड़ी जानकारी :

  • एवरेडी कंपनी हर साल करीब 1.5 अरब बैटरी का निर्माण करती है।

  • एवरेडी सालभर में 20 लाख से अधिक फ्लैश लाइट बनाती है।

  • कंपनी का बिजनेस 900 करोड़ रूपये का है।

  • एवरेडी कंपनी की शुरुआत साल 1896 में हुई थी।

  • कंपनी का मुख्यालय सेंट लुइस, मिसौरी में स्थित है।

  • यह एनर्जाइजर होल्डिंग्स की पैरेंट कंपनी है।

  • एवरेडी कंपनी स्लंप सेल में डील कर रही है।

  • स्लंप सेल में डील की कीमत के बदले एक से अधिक दायित्वों का मालिकाना हक ट्रांसफर करना पड़ता है।