Fair & Lovely cream will be renamed
Fair & Lovely cream will be renamed|Kavita Singh Rathore -RE
व्यापार

जल्द ही बदल जाएगा आपकी पसंदिता क्रीम 'Fair & Lovely' का नाम

दुनियाभर में जानी जाने वाली FMCG कंपनी हिंदुस्तान यूनिलिवर लिमिटेड (HUL) ने अपने ब्रांड का नाम बदलने का फैसला कर लिया है। हालांकि, अभी नए नाम का खुलासा नहीं हुआ है।

Kavita Singh Rathore

Kavita Singh Rathore

राज एक्सप्रेस। यदि आप भी फेयरनेस के लिए मिलने वाली क्रीम 'Fair & Lovely' (फेयर ऐंड लवली) इस्तेमाल करने वाले लोगों में शामिल हैं, तो जान लें अब आपकी पसंदिता क्रीम आपको इस नाम से नहीं मिलेगी। क्योंकि, दुनियाभर में जानी जाने वाली FMCG कंपनी हिंदुस्तान यूनिलिवर लिमिटेड (HUL) ने अपने ब्रांड का नाम बदलने का फैसला कर लिया है। हालांकि, अभी नए नाम का खुलासा नहीं हुआ है।

HUL बदलेगी ब्रांड नाम :

दरअसल, आज भारत के साथ ही एशिया के कई देशों में गोरे रंग का क्रेज काफी ज्यादा ही है। कई जगह तो गोरे रंग को न केवल सुंदरता से जोड़ा जाता है बल्कि, गोरे रंग से ही इंसान का स्टेटस और पैसे से जोड़कर देखा जाने लगा है। अमेरिका सहित दुनिया भर में गोरे-कालो को लेकर चल रहे नस्लीय आंदोलनों को देखते हुए हिंदुस्तान यूनिलिवर लिमिटेड (HUL) कंपनी ने अपने सौंदर्य प्रसाधन 'Fair and Lovely' का नाम बदलने का फैसला कर लिया है। बताते चलें, दुनिया भर में काले लोगों के प्रति हो रहे भेदभाव को रोकने की मुहिम चलाई जा रही है। इन सब के बीच ही गोरा करने वाली या फेयरनेस को बढ़ावा देने वाली क्रीम्स पर भी सवाल उठने लगे थे। शायद यही कारण है कि, कंपनी को यह फैसला लेना पड़ा।

हटाएगी कई शब्द :

गौरतलब है कि, HUL कंपनी मात्र भारत से फेयर ऐंड लवली ब्रैंड की बिक्री से ही सालाना 50 करोड़ डॉलर से ज्यादा कमाती है। खबरों के अनुसार, कंपनी अपनी इन क्रीम्स की बिक्री बंद नहीं करेगी लेकिन अपने इन प्रोडक्ट्स की ब्रैंड पैकेंजिंग से फेयर, व्हाइटनिंग और लाइटनिंग जैसे शब्दों को हटा देगी। साथ ही इन क्रीम्स के प्रचार और प्रसार के लिए बनाये जाने वाले विज्ञापनों में हर गोरी और काली दोनों ही तरह की महिलाओं को लिया जाया करेगा।

कंपनी ने दी जानकारी :

बताते चलें, 'Fair and Lovely' की बिक्री भारत के साथ ही बांग्लादेश, इंडोनेशिया, थाईलैंड, पाकिस्तान और एशिया के कई देशों में की जाती है। यूनिलिवर कंपनी ने इस बात की जानकारी अपने ट्वीटर अकाउंट पर दी। कंपनी ने लिखा कि,

हम एक स्किन केयर पोर्टफोलियो के लिए प्रतिबद्ध है जो सौंदर्य की विविधता का जश्न मनाते हुए सभी स्किन टोन को शामिल करता है। इसीलिए हम उत्पादों से 'निष्पक्षता', 'सफेदी' और 'हल्का' शब्द हटा रहे हैं और फेयर एंड लवली ब्रांड नाम बदल रहे हैं।
Unilever

वीजन अध्यक्ष का कहना :

हिंदुस्तान यूनिलिवर के ब्यूटी ऐंड पर्सनल केयर डिवीजन के अध्यक्ष सनी जैन ने बताया कि, "हम इस बात को समझते हैं कि फेयर, व्हाइट और लाइट जैसे शब्द सुंदरता की एक तरफ़ा परिभाषा को दिखाता है और यह सही नहीं है। इसलिए ही हम इसमें सुधार करना चाहते हैं।"

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co