भारत में FDI से इस साल हुआ 6 लाख करोड़ रुपए का निवेश, RIL रही अव्वल
FDI investment in india 2020Kavita Singh Rathore -RE

भारत में FDI से इस साल हुआ 6 लाख करोड़ रुपए का निवेश, RIL रही अव्वल

हाल ही में PwC इंडिया ने इस साल 2020 की अबतक की हुई भारतीय कंपनियों की डील से जुड़ी जानकारी साझा की है। इन आंकड़ों के मुताबिक भारत में सबसे ज्यादा निवेश पाने वाली कंपनी मुकेश अंबानी की रही।

राज एक्सप्रेस। कोरोना वायरस चलते यह साल दुनियाभर की कंपनियों के लिए बुरा साबित हुआ है। जब दुनियाभर की लगभग कंपनियां इस महामारी के कारण आर्थिक मंदी का सामना कर रही थी तब भारत की कंपनियां निवेश जुटाने में जुटी है। वहीं, हाल ही में PwC इंडिया ने इस साल 2020 की अबतक की हुई भारतीय कंपनियों की डील से जुड़ी जानकारी साझा की है। इन आंकड़ों के मुताबिक भारत में इस साल कुल 6 लाख करोड़ रुपए का निवेश हुआ है। जिसमें सबसे ज्यादा निवेश पाने वाली कंपनी मुकेश अंबानी की रही।

PwC इंडिया के आंकड़े :

दरअसल, PwC इंडिया द्वारा साल 2020 के जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक, इस साल 1,268 ट्रांजेक्शन के तहत 80 बिलियन डॉलर (5.89 लाख करोड़ रुपए) की डील हुई है। इसमें सबसे बड़ी हिस्सेदार भारत के सबसे आमिर सख्श मुकेश अंबानी के स्वामित्व वाली कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज की रही। जबकि, इससे पहले साल 2016 में भारत को 2,035 डील के तहत 63 बिलियन डॉलर का निवेश मिला था।

रिलायंस इंडस्ट्रीज ने मारी बाजी :

जारी किए गए ताजा आंकड़ों के मुताबिक, भारत में हुई कुल डील का एक तिहाई हिस्सा रिलायंस इंडस्ट्रीज का ही रहा। RIL ने लॉकडाउन के समय से ही विदेश की कंपनियों द्वारा निवेश जुटाना शुरू कर दिया था। कंपनी ने अपने जियो प्लेटफॉर्म और रिलायंस रिटेल के माध्यम से इतनी राशि जुटाई कि, कंपनी कर्ज मुक्त हो गई। कंपनी में निवेश की शुरुआत Facebook कंपनी द्वारा हुई थी और एक-एक करके रिलायंस Jio को FDI से लगभग 10.2 बिलियन डॉलर का निवेश हासिल हुआ। इन कंपनियों में सब्बसे ज्यादा हिस्सेदारी भी Facebook की ही रही। वहीं, रिलायंस रिटेल में फॉरेन डायरेक्ट इन्वेस्टमेंट (FDI) से 3.2 बिलियन डॉलर का निवेश जुटाया।

प्राइवेट इक्विटी फंड में भी रिलायंस सबसे आगे :

बताते चलें, प्राइवेट इक्विटी फंड के लिहाज से भी रिलायंस इंडस्ट्रीज ने ही सबसे आगे रहकर बाजी मारी है। रिलायंस में निवेश करने वाली कंपनियों में फेसबुक के साथ ही KKR, TPG, जनरल अटलांटिक, सिल्वर लेक, अन्य PE और सॉवरेन वेल्थ फंड्स आदि शामिल हैं। इन सबने रिलायंस के जियो प्लेटफॉर्म में 9.8 बिलियन डॉलर का निवेश किया है। जो कि, साल 2020 में भारत में हुए कुल PE निवेश यानी 15 बिलियन डॉलर का 66% हिस्सा है।

टेलीकॉम सेक्टर रहा सबसे आगे :

बताते चलें, इस साल सबसे अधिक निवेश जुटाने वाला सेक्टर टेलीकॉम सेक्टर रहा है। इसके अलावा क्रम से अन्य सेक्टर यह रहे।

  • टेलीकॉम सेक्टर ने इस साल कुल 11.2 बिलियन डॉलर का निवेश जुटाया।

  • रिटेल सेक्टर ने इस साल कुल 6.5 बिलियन डॉलर का निवेश जुटाया।

  • टेक सेक्टर ने इस साल 6 बिलियन डॉलर का निवेश जुटाया।

  • फार्मा सेक्टर ने इस साल 2.5 बिलियन डॉलर का निवेश जुटाया।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co