Finance Minister Meeting with Bank Chief Executives and Directors
Finance Minister Meeting with Bank Chief Executives and Directors|Social Media
व्यापार

बैंकों के अधिकारियों के साथ वित्त मंत्री की बैठक आज

आज वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण सरकारी बैंकों के मुख्य अधिकारियों और निदेशकों के साथ बैंको के मुख्य मुद्दों पर चर्चा करने के लिए बैठक लेंगी। बैठक में कई अहम् ऐलान होने की उम्मीद।

Kavita Singh Rathore

Kavita Singh Rathore

हाइलाइट्स :

  • बैंकों के मुख्य अधिकारियों के साथ वित्त मंत्री की बैठक आज

  • बैंकिंग सेक्टरों की स्थिति पर होगी चर्चा

  • NPA वसूलने को लेकर होगी चर्चा

  • 2018-19 में वसूला 1,56,702 करोड़ रुपये का NPA

राज एक्सप्रेस। आज अर्थात शनिवार को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के प्रबंध निदेशकों और प्रमुख अधिकारियों के साथ बैठक लेंगी। इस बैठक में वित्तीय मुद्दों एवं कारोबार की वृद्धि को लेकर बातचीत की जाएगी। बैठक में और भी कई मुद्दों की समीक्षा की जाएगी। यह बैठक में मुख्य रूप से मांग व उपभोग को तेज करने को लेकर बैंकों के योगदान को देखते हुए ली जा रही है और यह बहुत विशेष बात है कि, बजट लागू होने से पहले वित्त मंत्री बैंकों के अधिकारियों के साथ मीटिंग लेंगी।

इन मुद्दों पर होगी चर्चा :

खबरों के अनुसार, वित्त मंत्री सीतारमण दूसरा पूर्ण बजट एक फरवरी को पेश कर सकती हैं। उम्मीद है कि, इस बैठक में राष्ट्रीय कंपनी कानून न्यायाधिकरण (NCLT) के द्वारा तथा अन्य उपायों से गैर-निष्पादित संपत्तियों (NPA) को वसूलने जैसे मुद्दों पर भी बात की जाये। इसके अलावा आज की बैठक के लिए चर्चाओं के अनुसार कहा जा सकता है कि, आज की बैठक मुख्य तौर पर बैंकिंग सेक्टर वालों के लिए ही रखी गई है और इस बैठक में बैंकिंग सेक्टर की स्थिति पर बात की जाएगी, साथ ही इन पर जोर दिया जाएगा। इसके अलावा उन्हें लोन भुगतान की बढ़ती दर को तेज करने की हिदायत भी दी जाएगी। वहीं, चर्चा ये भी है कि, बैंकों को रेपो रेट में बैंको द्वारा की गई गयी कटौती से प्राप्त हुआ पूरा फायदा उपभोक्ता को देने के आदेश भी दिए जा सकते हैं।

बैंकों द्वारा वसूला गया NPA :

जानकारी के अनुसार, बैंकों द्वारा पिछले चार सालों में करोड़ो रूपये का NPA वसूला गया है। इस NPA की रकम लगभग 4,01,393 करोड़ रुपये हैं। इस रकम में 1,56,702 करोड़ रुपये मात्र साल 2018-19 में वसूले गए थे।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co