Raj Express
www.rajexpress.co
Bank Fraud Cases
Bank Fraud Cases|Kavita Singh Rathore -RE
व्यापार

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सदन में खोले बैंक धोखाधड़ी के राज

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सदन में बैंक धोखाधड़ी के मामलों की पूरी जानकारी देते हुए, धोखाधड़ी मामलों की संख्या सहित सरकार द्वारा की गई कार्यवाही के बारे में बताया।

Kavita Singh Rathore

Kavita Singh Rathore

हाइलाइट्स :

  • धोखाधड़ी के फ्रॉड मामले आये सामने

  • धोखाधड़ी के मामलों की कुल संख्या 5,743

  • मोदी सरकार ने की 10 हजार बैंक कर्मियों पर कार्रवाई

  • 2 साल में बंद किए 3.38 लाख बैंक खाते

राज एक्सप्रेस। केंद्र सरकार द्वारा उठाये कड़े कदमों के बावजूद भी बैंकों से जुड़े कई फ्रॉड की खबरें सुनने में आ रही हैं। सदन के दौरान वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने राज्यसभा में स्वयं यह खबर बताई कि, पिछले 6 माह में बैंकों के साथ 95,700 करोड़ रुपये से अधिक की धोखाधड़ी हुई है। वित्त मंत्री ने यह भी बताया कि, यह आंकड़ें RBI की रिपोर्ट के अनुसार प्राप्त हुए हैं। इस पर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बताया कि,

'सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों (PSB) द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक, 1 अप्रैल 2019 से 30 सितंबर 2019 की अवधि में 95,760.49 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी के 5,743 मामले हुए हैं।

निर्मला सीतारमण, वित्त मंत्री

बैंक खातों पर रोक :

वित्त मंत्री के ने यह भी बताया कि, बैंकों से जुड़े धोखाधड़ी की घटनाओं के मामले सामने आते ही सरकार ने इनमें से 3.38 लाख निष्क्रिय कंपनियों के बैंक खातों पर रोक लगा दी है। सरकार द्वारा यह कदम धोखाधड़ी की घटनाओं को रोकने के लिए उठाया गया है। निर्मला सीतारमण ने यह खबर ऐसे समय में बताई है जब प्राइवेट बैंक्स का NPA बढ़ कर बोझ सा बन गया है।

बैंकों का नॉन परफॉर्मिंग एसेट (NPA) :

इंडसइंड बैंक का NPA

आंकड़ों के अनुसार, इंडसइंड बैंक को 30 सितंबर, 2019 तक काफी मुनाफा हुआ है, लेकिन वहीं इंडसइंड बैंक के NPA भी बड़ा है। बैंक के NPA कुल कर्ज का 2.19% बढ़ा है। पिछले साल इसी अवधि में यही NPA 1.09% था। बैंक के NPA में 1.11% की बढ़ोत्तरी हुई है।

कोटक बैंक का NPA :

कोटक बैंक के नॉन परफॉर्मिंग एसेट (NPA) में भी 30 सितंबर, 2019 तक 2.17% की बढ़ोत्तरी दर्ज की गई है। पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि में यह NPA 1.91% था।

कर्नाटक बैंक का NPA :

कर्नाटक बैंक के नॉन परफॉर्मिंग एसेट (NPA) में भी 30 सितंबर, 2019 तक 4.78% की बढ़ोत्तरी दर्ज की गई है। पिछले वित्त वर्ष की इसी अवधि में यह NPA 4.66% था।

एक्सिस बैंक का NPA :

एक्सिस बैंक को चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में घाटा हुआ, साथ ही सितंबर 2019 में बैंक के नॉन परफॉर्मिंग एसेट (NPA) में भी गिरावट दर्ज की गई है, बैंक का NPA गिरकर 5.03% ही रह गया। जानकारी के लिए बता दें, एक्सिस बैंक के अलावा ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स (OBC) और HDFC बैंक के NPA में भी गिरावट आई है।

सरकार द्वारा उठाये कदम :

देश की केंद्र सरकार ने पहले भी कई कड़े कदम उठाये हैं, उसी के तहत मोदी सरकार ने उन बैंकों के खिलाफ कड़ा फैसला लिया, जिन बैंकों ने एक लाख से अधिक का लोन देने में भ्रष्टाचार किया है। सरकार ने 2015 से 2017 के बीच करीब 10 हजार बैंक कर्मियों पर कार्रवाई की है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।