Finance Ministry orders for digital printing
Finance Ministry orders for digital printing|Social Media
व्यापार

वित्त मंत्रालय ने भौतिक छपाई को बंद कर दिए डिजिटल छपाई के आदेश

डिजिटलीकरण से मिल रही सहूलियत को मद्देनजर रखते हुए वित्त मंत्रालय भी डिजिटलीकरण को और अधिक बढ़ावा देते हुए भौतिक छपाईबी को बंद कर डिजिटल छपाई करने के आदेश जारी कर दिए हैं।

Kavita Singh Rathore

Kavita Singh Rathore

राज एक्सप्रेस। देश में जब से मोदी सरकार आई है तब से डिजिटलीकरण को काफी बढ़ावा मिला है। आज हर क्षेत्र में लगभग सभी कार्य डिजिटल हो रहे हैं। आज भुगतान के नाम पर तो, लगभग सभी लोग ऑनलाइन पेमेंट का जरिया ही अपनाते हैं। डिजिटलीकरण से मिल रही सहूलियत को मद्देनजर रखते हुए वित्त मंत्रालय भी डिजिटलीकरण को और अधिक बढ़ावा देते हुए भौतिक छपाईबी को बंद कर डिजिटल छपाई करने के आदेश जारी कर दिए हैं।

सामग्रियों में छपाई होगी डिजिटल तौर पर :

दरअसल, डिजिटलीकरण को और अधिक बढ़ावा देने के उद्देश्य से वित्त मंत्रालय द्वारा 2 सितंबर को भौतिक तौर पर होने वाली छपाई पर रोक लगाने के निर्देश जारी किए हैं। बताते चलें वर्तमान में डायरी, ग्रीटिंग कार्ड, कॉफी टेबल बुक, कैलेंडर, दीवार कैलेंडर और अन्य समान सामग्री पर भौतिक तौर पर छपाई होती है। लेकिन अब 2 सितंबर से इन पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। साथ ही अब से इन सभी वस्तुओं पर छपाई का कार्य केवल डिजिटल रूप में किया जाएगा।

व्यय विभाग का कहना :

इस मामले में व्यय विभाग (Expenditure department) की तरफ से कहा गया कि, "जैसा कि दुनिया तेजी से डिजिटल की ओर बढ़ रही है, इसे देखते हुए समय की बचत और नए-नए तकनीक का इस्तेमाल करना किफायती, कुशल और प्रभावी माना जाता है। साथ ही उन्होंने बताया कि, भारत सरकार ने भौतिक छपाई को बंद करने का फैसला करते हुए कि डिजिटल छपाई के आदेश जारी किये है। बता दें, सरकार द्वारा जारी किए गए यह दिशानिर्देश तत्काल प्रभाव से लागू किए जाएंगे।

वित्त मत्रांलय के निर्देश :

डिजिटल या ऑनलाइन तरीकों का उपयोग करने के लिए नवीन साधनों को अपनाने के लिए सरकार और सरकार के अन्य सभी अंग कैलेंडर, डायरी और अन्य समान सामग्री, जो पहले भौतिक प्रारूप में छपी थी, अब डिजिटल रूप से मंत्रालयों / डिपुओं / सार्वजनिक उपक्रमों / सार्वजनिक उपक्रमों द्वारा डिजिटल रूप से किया जाएगा।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co