GST राजस्व में कमी की भरपाई के लिए 9वीं साप्ताहिक किस्त जारी
Finance Ministry releases 9th weekly installment for GST revenueKavita Singh Rathore -RE

GST राजस्व में कमी की भरपाई के लिए 9वीं साप्ताहिक किस्त जारी

देश में सभी राज्यों के GST राजस्व में संभावित कमी की भरपाई के लिए वित्त मंत्रालय साप्ताहिक किस्त जारी करता है। वहीं, अब सरकार ने GST राजस्व में 9वीं साप्ताहिक किस्त जारी कर दी है।

राज एक्सप्रेस। देश में सभी राज्यों के गुड्स एंड सर्विसेस (GST) राजस्व में संभावित कमी की भरपाई के लिए सरकार के वित्त मंत्रालय द्वारा साप्ताहिक किस्त जारी की जाती है। वहीं, अब सरकार ने गुड्स एंड सर्विसेस (GST) राजस्व में कमी की भरपाई के लिए राज्यों को 9वीं साप्ताहिक किस्त जारी कर दी है।

GST राजस्व के लिए 9वीं साप्ताहिक किस्त :

दरअसल, सरकार ने गुड्स एंड सर्विसेस (GST) राजस्व में कमी की भरपाई के लिए राज्यों को 9वीं साप्ताहिक किस्त जारी कर दी है। 9वीं साप्ताहिक किस्त के तहत वित्त मंत्रालय ने 6,000 करोड़ रुपये की किस्त जारी की है। इसमें से 5,516.60 करोड़ रुपये की धनराशि 23 राज्यों को जारी की गई है और 483.40 करोड़ रुपये की धनराशि दिल्ली, जम्मू कश्मीर और पुडुचेरी संघ शासित प्रदेशों के लिए जारी की गई है। बाकी बचे 5 राज्य अरुणाचल प्रदेश, मणिपुर, मिजोरम, नागालैंड और सिक्किम में GST कार्यान्वयन के चलते राजस्व में कोई कमी नहीं आई है।

कब कब जरी की गई साप्ताहिक किस्त :

बताते चलें, अब तक राज्यों और संघ शासित प्रदेशों को इस मद में 54,000 करोड़ रुपये की कुल धनराशि जारी की जा चुकी है। राज्यों को इस धन राशि की साप्ताहिक किस्त केंद्र सरकार द्वारा 23 अक्टूबर, 2 नवंबर, 9 नवंबर, 23 नवंबर, 1 दिसंबर, 7 दिसंबर, 14 दिसंबर, 21 दिसंबर और 28 दिसंबर को जारी गई है। बताते चलें, GST राजस्व में कमी की भरपाई के लिए राज्यों को ऋण लेने के लिए विशेष खिड़की की शुरूआत की गयी है। इसके तहत अब तक 9 किस्तों में राज्यों द्वारा उधार लिया जा चुका है। इस हफ्ते जारी धनराशि राज्यों को दी गई निधि की 9वीं किस्त है।

किस्त की धनराशि पर ब्याज दर :

बताते चलें इस सप्ताह जारी की गई 9वीं साप्ताहिक किस्त की धनराशि 5.1508% की ब्याज दर पर उधार ली गई है। अब तक, केन्द्र सरकार विशेष उधार खिड़की के जरिए 4.7488% की औसत ब्याज दर पर 54,000 करोड़ रुपये का कर्ज ले चुकी है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co