FIU issues notice to foreign crypto platform
FIU issues notice to foreign crypto platformRaj Express

फाइनेंशियल इंटेलिजेंस यूनिट ने नौ विदेशी क्रिप्टो प्लेटफार्म को जारी किया कारण बताओ नोटिस

एफआइयू ने धन शोधन कानून का उल्लंघन करने के आरोप में नौ विदेशी क्रिप्टोकरेंसी और वर्चुअल डिजिटल एसेट (वीडीए) प्लेटफार्म्स को कारण बताओ नोटिस जारी किया है।

हाईलाइट्स

  • एफआइयू के निदेशक ने इस संबंध में सूचना-प्रौद्योगिकी मंत्रालय को पत्र लिखा है।

  • इलेक्ट्रानिक्स एवं सूचना-प्रौद्योगिकी मंत्रालय से की URL ब्लाक करने की सिफारिश।

  • वीडीए मनी लांड्रिंग कानून का उल्लंघन करते हुए अपने एजेंडे को आगे बढ़ा रहे हैं।

राज एक्सप्रेस । वित्त मंत्रालय के अंतर्गत आने वाली फाइनेंशियल इंटेलिजेंस यूनिट (एफआइयू) ने धन शोधन कानून का उल्लंघन करने के आरोप में नौ विदेशी क्रिप्टोकरेंसी और वर्चुअल डिजिटल एसेट (वीडीए) प्लेटफार्म्स को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। इसके साथ ही इलेक्ट्रानिक्स और सूचना-प्रौद्योगिकी मंत्रालय से इनके यूआरएल को ब्लाक करने की सिफारिश की है। एफआइयू ने इस संबंध में वित्त मंत्रालय को पत्र लिखा है। पत्र में बताया गया है कि जिन प्लेटफार्म को नोटिस भेजा गया है, वे धन शोधन के साथ-साथ आतंकवाद के लिए फंडिंग का काम भी कर रहे हैं।

आतंकवाद के लिए फंडिंग कर रहे वीडीए

फाइनेंशियल इंटेलिजेंस यूनिट या एफआइयू ने मंत्रालय को लिखे पत्र में आरोप बताया है कि वीडीए धन शोधन के साथ-साथ आतंकवाद के लिए फंडिंग का काम भी कर रहे हैं। एफआइयू ने जिन वीडीए को ब्लाक करने की सिफारिश की गई है, उनमें स्विट्जरलैंड की बिनानसे, सिंगापुर की कुकायन व मिक्स ग्लोबल, हांगकांग की हुओबी, ब्रिटिश वर्जिन आइलैंड की क्रकेन व बिटफिनेक्स, केमैन आइलैंड की गेटडाटआईओ, अमेरिका की बिट्रेक्स, लक्जमबर्ग की बिट्सटैंप शामिल हैं।

बिना पंजीकरण काम कर रहे कई एफआइयू

फाइनेंशियल इंटेलिजेंस यूनिट के निदेशक ने इलेक्ट्रानिक्स मंत्रालय के सचिव को लिखे अपने पत्र में कहा है कि ये वीडीए अवैध तरीके से मनी लांड्रिंग कानून का उल्लंघन करते हुए अपने एजेंडे को आगे बढ़ा रहे हैं। बता दें कि घरेलू और विदेशी वीडीए मुख्य रूप से वर्चुअल डिजिटल एसेट के लेन-देन का काम करते है। यह करने के लिए वीडीए के लिए एफआइयू के समक्ष अपना पंजीयन कराना अनिवार्य होता है। अब तक कुल 31 वीडीए ने एफआइयू के साथ पंजीकरण कराया है। हालांकि ऐसी आशंका है कि कई वीडीए बिना पंजीयन के ही काम कर रहे हैं।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co