Raj Express
www.rajexpress.co
Fine on Johnson & Johnson
Fine on Johnson & Johnson|Kavita Singh Rathore -RE
व्यापार

Johnson & Johnson कंपनी पर लगा करोड़ों का जुर्माना

बच्चों के प्रोडक्ट बनाने वाली कंपनी जॉनसन एंड जॉनसन (J&J) पर नेशनल एंटी प्रॉफिटियरिंग अथॉरिटी (NAA) द्वारा करोड़ों रूपये का जुर्माना लगा है। पढ़ें पूरी जानकारी विस्तार से।

Kavita Singh Rathore

Kavita Singh Rathore

हाइलाइट्स :

  • जॉनसन एंड जॉनसन पर लगा करोड़ों का जुर्माना

  • नेशनल एंटी प्रॉफिटियरिंग अथॉरिटी द्वारा लगाया गया जुर्माना

  • जुर्माने की रकम 230.41 करोड़ रुपए

  • GST की दर को 28% से घटाकर किया 18%

राज एक्सप्रेस। बच्चों के कॉस्मेटिक प्रोडक्ट बनाने वाली कंपनी Johnson & Johnson (J&J) पर नेशनल एंटी प्रॉफिटियरिंग अथॉरिटी (NAA) द्वारा 230.41 करोड़ रुपए का जुर्माना लगाया गया है। जब NAA द्वारा जांच पड़ताल की गई तो, पूरा मामला सामने आया।

क्यों लगाना जुर्माना :

दरअसल, 15 नवंबर 2017 को कंपनी के कुछ प्रोडक्ट की GST की दर को 28% से घटाकर 18% कर दिया गया था, लेकिन J&J कंपनी ने अपने उन प्रोडक्ट्स की बिक्री 28% GST दर के हिसाब से ही की और ग्राहकों को मिलने वाला फायदा नहीं दिया। इसी के चलते कंपनी पर NAA द्वारा 230.41 करोड़ रुपए का जुर्माना लगा दिया गया है। इसके अलावा कंपनी ने अपने प्रोडक्ट की कीमतों के गलत तरह से मूल्य निर्धारित किये थे। कंपनी ने ये मूल्य GST के टेक्स की कटौती के बाद निर्धारित किये थे।

जुर्माना जमा करने के आदेश :

नेशनल एंटी प्रॉफिटियरिंग अथॉरिटी (NAA) द्वारा जॉनसन एंड जॉनसन कंपनी को जुर्माना जमा करने के लिए तीन महीने का समय दिया गया है। साथ ही J&J कंपनी से जवाब देने के लिए जनवरी तक का समय दिया गया है। खबरों के अनुसार, कंपनी ने बताया कि, इस तरह के केस में कोई गाइडलाइंस न होने के कारण अपने हिसाब से मूल्य निर्धारित किये गए थे, लेकिन NAA द्वारा कंपनी के सभी बताए दावों को ख़ारिज करते हुए आंकड़ों को अधूरा बता दिया है।

जेएंडजे का मुनाफा :

जैसा की सभी जानते हैं कि, जॉनसन एंड जॉनसन (J&J) भारत के कंज्यूमर हेल्थकेयर, मेडिकल डिवाइस और फार्मा प्रोडक्ट का बिजनेस करती है। कंपनी लगभग सभी बेबी प्रोडक्ट्स बनाती है। भारत में J&J कंपनी का मार्केट 4,000 करोड़ रुपए का है जो केवल बेबी केयर के प्रोडक्ट्स से है। बताते चले मार्केट में 2018 के अंत तक कंपनी के शेयर 75% होने का अनुमान था। वहीं वित्त वर्ष 2017-18 में भारत में कंपनी का रेवेन्यू 5,828 करोड़ रुपए हो गया और कंपनी को 688 करोड़ रुपए का मुनाफा हुआ।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।