भारत की GDP को लेकर रेटिंग्स एजेंसी फिच ने जताया अनुमान
भारत की GDP को लेकर रेटिंग्स एजेंसी फिच ने जताया अनुमानSyed Dabeer Hussain - RE

भारत की GDP को लेकर रेटिंग्स एजेंसी फिच ने जताया अनुमान

कोरोना वायरस का भी बुरा असर भारत की अर्थव्यवस्था पर भी पड़ता नजर आ रहा है। इसका अंदाजा तब हुआ जब रेटिंग्स एजेंसी फिच ने सकल घरेलू उत्पाद (GDP) ग्रोथ का अनुमान जताया है।

राज एक्सप्रेस। चीन से फैलना शुरू हुआ कोरोना वायरस आज पूरी दुनिया के कोने-कोने में फैल चुका है। जिसके चलते कई देशों की अर्थव्यवस्था भी बिगड़ गई है। वहीं, इस वायरस का भी बुरा असर भारत की अर्थव्यवस्था पर भी पड़ता नजर आ रहा है। इसका अंदाजा तब हुआ जब रेटिंग्स एजेंसी फिच ने सकल घरेलू उत्पाद (GDP) ग्रोथ का अनुमान जताया है।

फिच का अनुमान :

दरअसल, भारत की अर्थव्यवस्था पर कोरोना वायरस का बुरा असर पिछले कुछ समय से लगातार नजर आ रहा है। भारतीय अर्थव्यवस्था को लेकर अनुमान जताते हुए रेटिंग्स एजेंसी फिच ने गुरुवार को कहा है कि, 'भारत में कोरोना का बुरा असर लंबे समय तक दिखने वाला है। अगले वित्त वर्ष यानी 2021-22 में भारतीय अर्थव्यवस्था 11% की अच्छी वृद्धि दर्ज करेगी, लेकिन उसके बाद 2022-23 से 2025-26 तक भारत के GDP की वृद्धि दर सुस्त पड़कर 6.5% के पास पहुंच सकती है।

भारतीय अर्थव्यवस्था की स्थिति :

भारतीय अर्थव्यवस्था को लेकर फिच रेटिंग्स एजेंसी का कहना है कि, 'आपूर्ति पक्ष के साथ मांग पक्ष की अड़चनों, मसलन वित्तीय क्षेत्र की कमजोर स्थिति की वजह से भारत के सकल घरेलू उत्पाद की वृद्धि दर महामारी के पूर्व के स्तर से नीचे रहेगी। कोरोना वायरस की वजह से भारत में मंदी की स्थिति दुनिया में सबसे गंभीर है। सख्त लॉकडाउन और सीमित वित्तीय समर्थन की वजह से ऐसी स्थिति बनी है। अर्थव्यवस्था की स्थिति अब सुधर रही है। अगले कुछ माह के दौरान वैक्सीन आने की वजह से इसे और समर्थन मिलेगा।'

फिच एजेंसी का कहना :

बताते चलें फिच एजेंसी द्वारा लगाए गए अनुमान के मुताबिक साल 2021-22 में भारतीय अर्थव्यवस्था में 11% की बढ़त दर्ज की जाएगी, लेकिन चालू वित्त वर्ष 2020-21 में देश की GDP में 9.4% की गिरावट दर्ज होगी। फिच रेटिंग्स का कहना है कि, कोविड-19 संकट शुरू होने से पहले ही भारतीय अर्थव्यवस्था नीचे आ रही थी। 2019-20 में GDP की वृद्धि दर घटकर 4.2% पर आ गई थी। जबकि इससे पहले पिछले साल यह 6.1% रही थी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co