नुकसान के चलते Ford भारत की मैन्युफैक्चरिंग फैक्ट्रीज बंद करने को मजबूर
नुकसान के चलते Ford भारत की मैन्युफैक्चरिंग फैक्ट्रीज बंद करने को मजबूरSocial Media

नुकसान के चलते Ford भारत की मैन्युफैक्चरिंग फैक्ट्रीज बंद करने को मजबूर

पिछले दिनों कोरोना से हुए नुकसान के चलते Yamaha कंपनी ने अपने दो प्रोडक्शन यूनिट को बंद करने का फैसला किया था। वहीं, अब इसी तरह का फैसला अमेरिकन ऑटोमोबाइल कंपनी 'फोर्ड' (Ford) को भी लेना पड़ा है।

ऑटोमोबाइल। दुनियाभर में कोरोना वायरस तेजी से फैल रहा है। इसी बीच भारत में कोरोना की तीसरी लहर की संभावनाए नजर आने लगी है। जो काफी भयानक साबित हो सकती है। क्योंकि, कोरोना की दूसरी लहर का असर अब तक बुरा नजर आरहा है। जो कि, सबसे ज्यादा देश की कंपनियों और आम लोगों पर पड़ा है। क्योंकि, सिर्फ इसी दौरान हुए नुकसान के चक्कर में कंपनियों को अपनी प्रोडक्शन यूनिट बंद करना पड़ रहा है। पिछले दिनों टू-व्हीलर निर्माता कंपनी Yamaha ने अपने दो प्रोडक्शन यूनिट को बंद करने का फैसला किया था। वहीं, अब इसी तरह का फैसला अमेरिकन ऑटोमोबाइल कंपनी 'फोर्ड' (Ford) को भी लेना पड़ा है।

Ford ने बंद की मैन्युफैक्चरिंग फैक्ट्रीज :

जी हां, देशभर में तेजी से बढ़ रहे कोरोना मामलों के चलते अमेरिकन ऑटोमोबाइल कंपनी Ford ने अपने व्हीकल मैन्युफैक्चरिंग फैक्ट्रीज को बंद करने का फैसला लिया है। इन फैक्ट्रीज में साणंद (गुजरात) और मराईमलाई (चेन्नई) वाली मैन्युफैक्चरिंग फैक्ट्रीज शामिल है।कंपनी को पिछले कुछ समय में कोरोना के चलते काफी नुकसान उठाना पड़ा है। खबरें तो यह भी है कि, Ford को लगभग 2 अरब डॉलर का नुकसान उठाना पड़ा है और कंपनी की हालात लगातार खराब होते जा रहे थे। इतना ही नहीं कंपनी की गाड़ियों की बिक्री में भी लगातार गिरावट दर्ज हो रही थी। इस गिरावट का एक कारण यह भी है कि, कंपनी की गाड़िया महंगी आती है और हर कोई इन्हें नहीं खरीद सकता है। हालांकि, कंपनी अपने ग्राहकों को सर्विसेज देना बंद नहीं करेगी।

Ford India के प्रेसिडेंट का कहना :

Ford India के प्रेसिडेंट और मैनेजिंग डायरेक्टर, अनुराग मेहरोत्रा ने कहा, "फोर्ड भारत में ग्राहकों को सर्विस और वारंटी सपोर्ट को जारी रखेगी। फिगो, एस्पायर, फ्रीस्टाइल, इकोस्पोर्ट और एंडेवर जैसे मौजूदा प्रोडक्ट की बिक्री मौजूदा डीलर इन्वेंट्री के बेचे जाने के बाद बंद हो जाएगी। फोर्ड का भारत में एक लंबा और गौरवपूर्ण इतिहास है। हम अपने ग्राहकों और रीस्ट्रक्चरिंग से प्रभावित लोगों के लिए कर्मचारियों, यूनियनों, डीलरों और सप्लायर्स के साथ मिलकर काम कर रहे हैं।"

कंपनी के टॉप मैनेजमेंट का कहना :

बताते चलें, Ford द्वारा मैन्युफैक्चरिंग फैक्ट्रीज बंद करने का असर फैक्ट्री में काम करने वाले 4000 कर्मचारियों पर भी पड़ेगा। ऐसे में कंपनी के टॉप मैनेजमेंट ने कर्मचारियों से कहा है कि, 'कंपनी भारत में तैयार किए गए पॉपुलर मॉडल जैसे कि Ford Figo, Ford Freestyle का प्रोडक्शन तेजी से कम करेगा और कंपनी साणंद के इंजन प्लांट को चालू रखेगी। साथ ही दिल्ली, चेन्नई, मुंबई, साणंद और कोलकाता में कंपनी के पार्ट्स डिपो भी जारी रहेंगे।'

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co