Ford की इलेक्ट्रिक क्रॉसओवर Mustang Mach-E ने बनाया गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड
Ford की इलेक्ट्रिक क्रॉसओवर Mustang Mach-E ने बनाया गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्डSocial Media

Ford की इलेक्ट्रिक क्रॉसओवर Mustang Mach-E ने बनाया गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड

Ford की कंपनी की इलेक्ट्रिक क्रॉसओवर कार Ford Mustang Mach-E (फोर्ड मस्टैंग मैक-ई) ने इलेक्ट्रिक व्हीकल रेंज और एफिशिएंसी के लिए एक नया गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने में कामयाब रही है।

ऑटोमोबाइल। पिछले साल काफी नुकसान उठाने के बाद इस साल की शुरुआत से ही ऑटोमोबाइल कंपनियां एक से एक वाहनों की पेशकश करने में लगी ही हुई हैं। इन्हीं में जानी मानी वाहन निर्माता कंपनी 'फोर्ड' (Ford) भी शुमार है। कंपनी इस साल की शुरुआत से अब तक अपनी कई कारें लांच कर चुकी है। इतना ही अब तो कंपनी की इलेक्ट्रिक क्रॉसओवर कार Ford Mustang Mach-E (फोर्ड मस्टैंग मैक-ई) ने इलेक्ट्रिक व्हीकल रेंज और एफिशिएंसी के लिए एक नया गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने में कामयाब रही है। इस मामले में जानकारी ऑटोकार यूके ने साझा की है।

Ford Mustang Mach-E ने बनाया रिकॉर्ड :

दरअसल, Ford पिछले कई सालों से लगातार एक से एक कार और कुछ इलेक्ट्रिक कार लांच करती आ रही है, इन्हीं में से एक इलेक्ट्रिक क्रॉसओवर कार Ford Mustang Mach-E भी है। जिसने इस साल इलेक्ट्रिक व्हीकल रेंज और एफिशिएंसी के लिए नया गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया। कंपनी ने इसे मार्केट में Tesla Model Y (टेस्ला मॉडल वाई) को टक्कर देने के चलते उतरता था, लेकिन ये कंपनी के लिए काफी फायदेमंद साबित हुई है। कंपनी की इस कार द्वारा बनाए गए नए रिकॉर्ड के दावे में बताया गया है कि, 'यह कार बैटरी से चलने वाली है और इस क्रॉसओवर एसयूवी ने 840-मील (1351 किलोमीटर) की रोड ट्रिप के दौरान 6.54 मील (10.52 किलोमीटर) प्रति किलोवाट-घंटे की ड्राइविंग रेंज हासिल की है।'

यहां से यहां तक चलाई गई कार :

खबरों की मानें तो, Mustang Mach-E को 3 जुलाई को ग्रोट्स से चलाना शुरू किया गया था और यात्रा के दौरान 31 मील प्रति घंटे (49.88 किमी प्रति घंटे) की औसत रफ्तार रखी गई। इस कार को जॉन ओ 'ग्रोट्स से लैंड्स एंड तक चलाया गया था, जिसमें ब्रिटेन की पूरी लंबाई को कवर किया गया। हैरान कर देने वाली बात यह है कि, 'इस पूरी यात्रा में सिर्फ दो स्टॉपिंग पॉइंट शामिल थे, यानी इस के दौरान सिर्फ दो बार गाड़ी को चार्जिंग के लिए रोका गया। जिसमें कुल 45 मिनट का समय लगा। टीम पहले इसे लंकाशायर के विगन में एक बीपी पल्स स्टेशन पर और दूसरी बार कुल्मप्टन, डेवोन में रोका गया था।

टीम ने बताया :

Mustang Mach-E द्वारा रिकॉर्ड बनाने वाली टीम ने बताया है कि, "यह रिकॉर्ड यह दिखाने के लिए है कि इलेक्ट्रिक कारों का इस्तेमाल अब सभी लोग कर सकते हैं। न सिर्फ काम पर जाने के लिए छोटी शहरी यात्राओं या दुकानों के लिए या एक दूसरी कार के रूप में, बल्कि लंबी क्रॉस-कंट्री यात्राओं पर वास्तविक दुनिया के इस्तेमाल के लिए भी ये उपयोगी हैं। हमने साबित कर दिया है कि, इस कार के साथ, टिपिंग पॉइंट पर पहुंच जा सकता है। फोर्ड मस्टैंग मैक-ई की रेंज और दक्षता अप्रत्याशित यात्रायों से निपटने के लिए इसे रोजमर्रा की कार बनाती है। हमने पूरे दिन की टेस्टिंग की जिसमें कुल 250 मील का सफर किया और फिर भी हमारी वापसी के दौरान इसमें 45 फीसदी बैटरी चार्ज बचा हुआ था।"

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co