RBI की 6 महीने के अंतर पर जारी की गई रिपोर्ट में भी विदेशी मुद्रा भंडार में भी आई गिरावट
RBI की 6 महीने के अंतर पर जारी की गई रिपोर्ट में भी विदेशी मुद्रा भंडार में भी आई गिरावटSyed Dabeer Hussain - RE

RBI की 6 महीने के अंतर पर जारी की गई रिपोर्ट में भी विदेशी मुद्रा भंडार में भी आई गिरावट

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) हर छह महीने में एक रिपोर्ट जारी करता है। जो हर साल मार्च और सितंबर के अंत के हालातों के आधार पर तैयार की जाती हैं। जिससे सही विदेशी मुद्रा भंडार की जानकारी का पता चलता है।

राज एक्सप्रेस। देश में जितना भी विदेशी मुद्रा भंडार और स्वर्ण भंडार जमा होता है, उसके आंकड़े समय-समय पर भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) द्वारा जारी किए जाते हैं। इन आंकड़ों में उतार-चढ़ाव होता रहता है, लेकिन पिछले कुछ समय से विदेशी मुद्रा भंडार (Foreign Exchange Reserves) में लगातार गिरावट ही दर्ज की जा रही है। वहीं, एक बार फिर इसमें बड़ी गिरावट दर्ज की गई है। उधर स्वर्ण भंडार में भी इस बार गिरावट दर्ज हुई है। इस बात का खुलासा RBI द्वारा जारी किए गए ताजा आंकड़ों से हुआ है। बता दें, यदि विदेशी मुद्रा परिस्थितियों में बढ़त दर्ज की जाती है तो, कुल विदेशी विनिमय भंडार में भी बढ़त दर्ज होती है।

विदेशी मुद्रा भंडार के ताजा आंकड़े :

दरअसल, भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) हर छह महीने में एक रिपोर्ट जारी करता है। जो हर साल मार्च और सितंबर के अंत के हालातों के आधार पर तैयार की जाती हैं। जिससे सही विदेशी मुद्रा भंडार की जानकारी का पता चलता है। वहीं RBI द्वारा जारी ताजा और 38वीं रिपोर्ट के अनुसार, भारत का विदेशी मुद्रा भंडार मार्च के अंत में 28.05 अरब डॉलर घटकर 607.31 अरब डॉलर पर आ गिरा है। जबकि, इससे पहले सितंबर 2021 के अंत में 635.36 अरब डॉलर पर था। रिपोर्ट में बताया गया है, "समीक्षा वाली छमाही अवधि के दौरान, सितंबर 2021 के अंत में भंडार 635.36 बिलियन अमरीकी डॉलर था, जो घटकर मार्च 2022 के अंत तक 607.31 बिलियन अमरीकी डॉलर हो गया।"

घरेलू विदेशी मुद्रा बाजार :

RBI द्वारा जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार, घरेलू विदेशी मुद्रा बाजार में RBI की नेट फॉरवर्ड एसेट मार्च 2022 के अंत में 65.79 बिलियन डॉलर थी। जबकि, दिसंबर 2021 के अंत में विदेशी मुद्रा भंडार आयात का कवर सितंबर 2021 के अंत में 14.6 महीने से घटकर 13.1 महीने हो गया। रिपोर्ट में कहा गया है कि, 'मार्च 2022 के अंत तक, RBI के पास 760.42 मीट्रिक टन सोना (11.08 मीट्रिक टन गोल्ड डिपोजिट सहित) था। वहीं, 453.52 मीट्रिक टन सोना बैंक ऑफ इंग्लैंड और बैंक फॉर इंटरनेशनल सेटलमेंट्स (BIS) के पास सुरक्षित रखा गया है। 295.82 मीट्रिक टन सोना घरेलू स्तर पर रखा गया है।'

सोने की हिस्सेदारी :

USD (वैल्यू) के आधार पर कुल विदेशी मुद्रा भंडार में सोने का भी भाग होगा है जो सितंबर 2021 के अंत में लगभग 5.88% था। यह बाद में बढ़कर मार्च 2022 के अंत तक लगभग 7.01% हो गया। मार्च 2022 के अंत तक, 540.72 बिलियन अमरीकी डॉलर के कुल FCA में से, 363.03 बिलियन डॉलर प्रतिभूतियों में निवेश किया गया था, 140.54 बिलियन डॉलर अन्य केंद्रीय बैंकों और BIS के पास जमा किया गया था, और शेष 37.16 बिलियन अमरीकी डॉलर विदेशों में कॉमर्स बैंकों के पास जमा किया गया था।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.