Tesla के खिलाफ दर्ज हुआ मुक़दमा, मुकदमा दायर करने वाले है पूर्व कर्मी
Tesla के खिलाफ दर्ज हुआ मुक़दमा, मुकदमा दायर करने वाले है पूर्व कर्मी Social Media

Tesla के खिलाफ दर्ज हुआ मुक़दमा, मुकदमा दायर करने वाले है पूर्व कर्मी

Tesla कंपनी से जुड़ी ऐसी खबर सामने आई है कि, कंपनी के पूर्व कर्मचारियों ने कंपनी पर इल्ज़ाम लगाते हुए कंपनी के खिलाफ मुक़दमा दायर करवाया है।

ऑटोमोबाइल। Elon Musk की इलेक्ट्रिक कार निर्माता दिग्गज जानी मानी कंपनी टेस्ला (Tesla) का नाम ज्यादातर चर्चा में बना रहता है। वहीं, इस कंपनी का नाम एक बार फिर सुर्ख़ियों में नज़र आ रहा है। हालांकि, इस बार कंपनी का नाम उसकी किसी उपलब्धि के चलते नहीं बल्कि, कंपनी के पूर्व कर्मचारियों के कारण चर्चा में है। Tesla कंपनी से जुड़ी ऐसी खबर सामने आई है कि, कंपनी के पूर्व कर्मचारियों ने कंपनी पर इल्ज़ाम लगाते हुए कंपनी के खिलाफ मुक़दमा दायर करवाया है।

Tesla कंपनी के खिलाफ मुक़दमा :

दरअसल, इलेक्ट्रिक कार निर्माता Tesla के पूर्व कर्मचारियों ने कंपनी पर मुकदमा किया है। क्योंकि, उनका कहना है कि, 'कंपनी का ‘बड़े स्तर पर छंटनी’ का फैसला कानून का उल्लंघन है क्योंकि कर्मचारियों को इसकी पूर्व सूचना नहीं दी गई थी। मुकदमा करने वाले लोगों में मुख्य रूप से जॉन लिंच और डेक्स्टन हार्ट्सफील्ज का नाम सामने आया है।' उन्होंने बताया है कि, 'उन्हें 10 और 15 जून को नौकरी से निकाला गया था और वह कंपनी से 60 दिन के नोटिस पीरियड के बदले भुगतान और कंपनी से मिलने वाले फायदों की मांग रहे हैं। उन्होंने यह भी बताया है कि, 'उन्हें कंपनी की गीगा फैक्ट्री से निकाला गया है।'

मुकदमे में किया गया दावा :

मुकदमे में दावा किया गया है कि, 'नेवाडा स्थित टेस्ला की गीगा फैक्ट्री से 500 लोगों को निकाला गया है।' साथ ही मुकदमा दर्ज कराने वाले कर्मचारियों का यह भी कहना है कि, 'कंपनी ने वर्कर एडजस्टमेंट एंड रिटर्निंग नोटिफिकेशन एक्ट के तहत कर्मचारियों को 60 दिन का नोटिस न देकर कानून का उल्लंघन किया है। वे उन सभी टेस्ला कर्मचारियों के लिए न्याय मांग रहे हैं जिन्हें मई और जून में बगैर किसी पूर्व सूचना के कंपनी से निकाल दिया गया।' दावे में यह भी कहा गया है कि, 'टेस्ला ने बस कर्मचारियों को बता दिया कि उनकी सेवाएं तत्काल प्रभाव से समाप्त की जाती हैं।'

Tesla ने नहीं दिया कोई बयान :

बताते चलें, कंपनी पर लगे इन आरोपों और मुकदमे के बाद भी Tesla कंपनी की तरफ से अब तक कोई बयान सामने नहीं आया है, लेकिन इसी मामले में पिछले दिनों Tesla के CEO Elon Musk का एक बयान सामने आया था। जिसमें उन्होंने कहा था कि, 'अर्थव्यस्था अभी खराब दौर में जाती दिख रही है और उन्हें करीब 10% कर्मचारियों को काम से निकालना होगा। जबकि 20 से ज्यादा लोगों का कहना है कि, 'वह टेस्ला के पूर्व कर्मचारी हैं और उन्हें इसी महीने नौकरी से निकाला गया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co