GDP Groth
GDP GrothRaj Express

पहली तिमाही में 7.8 फीसदी रही देश में जीडीपी ग्रोथ, यह पिछली चार तिमाहियों में सबसे अधिक

मौजूदा वित्तवर्ष 2023-24 की पहली तिमाही अप्रैल-जून में देश की जीडीपी ग्रोथ 7.8 फीसदी रही है। भारत की विकास दर इस समय दुनिया में सबसे तेज है।

हाईलाइट्स

  • चीन के मुकाबले सबसे तेज गति से विकास कर रही अर्थव्यवस्था बना हुआ है भारत

  • चालू साल की अप्रैल-जून की तिमाही में चीन की जीडीपी ग्रोथ 6.3% थी

  • जून तिमाही में एग्रीकल्चर सेक्टर की ग्रोथ बढ़कर 3.5 फीसदी हो गई

  • मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर की ग्रोथ जून तिमाही में घटकर 4.7% रह गई

राज एक्सप्रेस । मौजूदा वित्तवर्ष 2023-24 की पहली तिमाही अप्रैल-जून में देश की जीडीपी ग्रोथ 7.8 फीसदी रही है। यह पिछली 4 तिमाहियों में सबसे अधिक है। मार्च तिमाही में जीडीपी ग्रोथ 6.1 फीसदी रही थी। पिछले साल की इसी अवधि में जून तिमाही में लो बेस के चलते जीडीपी ग्रोथ 13.1 फीसदी रही थी। केंद्र सरकार ने गुरुवार 31 अगस्त को जारी आंकड़ों में यह जानकारी दी है। उल्लेखनीय है कि भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने 8 फीसदी विकास दर का अनुमान लगाया था। इससे पहले वित्त वर्ष 2023 में देश की जीडीपी ग्रोथ 7.2 फीसदी रही थी।

भारत सबसे तेज गति से बढ़ती अर्थव्यवस्था

केंद्र और राज्य सरकारों की ओर से कैपिटल एक्सपेंडिचर के लिए अपने खजाने खोलने, खपत से जुड़ी मजबूत मांग और सर्विस सेक्टर की गतिविधियों में उछाल से जून तिमाही में अच्छी जीडीपी ग्रोथ हासिल करने में सहायता मिली है। अप्रैल-जून तिमाही में चीन की जीडीपी ग्रोथ 6.3% थी। ऐसे में दुनिया के प्रमुख देशों में, भारत अभी भी सबसे तेज गति से बढ़ती अर्थव्यवस्था बना हुआ है।

एग्रीकल्चर में 3.5 फीसदी रही ग्रोथ

सरकार की ओर से जारी किएं गए आंकड़ों के अनुसार जून तिमाही में एग्रीकल्चर सेक्टर की ग्रोथ 3.5 फीसदी रही है, जो एक साल पहले इसी तिमाही में 2.4 फीसदी थी। हालांकि, मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर की ग्रोथ जून तिमाही में घटकर 4.7% रह गई है, जो एक साल पहले इसी अवधि में 6.1% थी।

सर्विस सेक्टर की मजबूती अर्थव्यवस्था को दिया सहारा

भारत के सेवा क्षेत्र में मजबूत वृद्धि ने भी एशिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था को वैश्विक मंदी से उबरने में सहायता की है। वित्त वर्ष 2022-23 में जीडीपी ग्रोथ रेट 7.2 फीसदी थी। केंद्र और राज्य सरकारों की ओर से कैपिटल एक्सपेंडिपेंचर के लिए सरकारी खजाने खोलने, खपत से जुड़ी मजबूत मांग और सर्विस सेक्टर की गतिविधियों में उछाल से जून तिमाही में अच्छी जीडीपी ग्रोथ हासिल करने में मदद मिली है।

चीन सहित कई देशों की अर्थव्यवस्थाएं लड़खड़ाईं

सरकारी आंकड़ों के अनुसार बीते वित्त वर्ष 2022-23 की समान तिमाही में जीडीपी की ग्रोथ रेट 13.1 फीसदी रही थी। वहीं जुलाई में कोर सेक्टर ग्रोथ में गिरावट दर्ज की गई है। आंकड़ों के अनुसार जुलाई माह में कोर सेक्टर ग्रोथ रेट 8 प्रतिशत रहा है। जबकि एक साल पहले समान अवधि में कोर सेक्टर की ग्रोथ 4.8 फीसदी थी। चालू-वित्त वर्ष के जून महीने में आठ बुनियादी उद्योगों की ग्रोथ रेट 8.3 प्रतिशत थी। उल्लेखनीय है कि सेवा क्षेत्र के कमजोर प्रदर्शन की वजह से चीन सहित कई देशों की अर्थव्यवस्थाएं लड़खड़ा रही हैं। ऐसे माहौल में भारत मजबूती के साथ आगे बढ़ रहा है। भारत दुनिया की बड़ी अर्थव्यवस्थाओं में सबसे तेजी से वृद्धि करने वाला देश है। चीन की जीडीपी ग्रोथ रेट जून तिमाही में 6.3 प्रतिशत रहा है।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co