सोना वायदा उच्चतम स्तर से करीब 11 हजार सस्ता
सोना वायदा उच्चतम स्तर से करीब 11 हजार सस्ताSyed Dabeer Hussain - RE

सोना वायदा उच्चतम स्तर से करीब 11 हजार सस्ता

सोने-चांदी की कीमतों में लगातार गिरावट दर्ज होने से गहने खरीदने का मन बना रही महिलाओं में काफी खुशी के लहर देखी गई है। इस प्रकार प्रकार सोना वायदा उच्चतम स्तर से करीब 11 हजार सस्ता हो गया है।

Gold-Silver Prices : इस साल 2021 में भले ही देश में कितनी ही महंगाई क्यों न बढ़ी हो, लेकिन सर्राफा बाजार में सोने-चांदी की कीमतों के मामले में यह साल काफी फायदेमंद साबित हो रहा है। वहीं, आज सोने की कीमतें तो फ्लेट रही, लेकिन चांदी की कीमतों में गिरावट दर्ज की गई है। हालांकि, पिछले कुछ समय में सोने-चांदी की कीमतों में लगातार गिरावट दर्ज होने से गहने खरीदने का मन बना रही महिलाओं में काफी खुशी के लहर देखी गई है। इस प्रकार प्रकार सोना वायदा उच्चतम स्तर से करीब 11 हजार सस्ता हो गया है।

सोना वायदा हुआ इतना सस्ता :

दरअसल, आज भारतीय सर्राफा बाजारों में सोने की वायदा कीमत फ़्लैट देखी गई। वहीं, जबकि चांदी की कीमतों में गिरावट दर्ज की गई है। MCX पर यदि सोने का भाव देखा जाए तो, जून का सोना वायदा 44,977 रुपये प्रति 10 ग्राम पर रहा, जबकि चांदी वायदा 0.35% घटाकर 63,595 रुपये प्रति किलोग्राम पर आ गई। जबकि, पिछले सत्र में सोने की कीमतों में 1% की और चांदी में 0.9% की बढ़त दर्ज की गई थी। इस प्रकार सोना वायदा उच्चतम स्तर से लगभग 11 हजार रूपये सस्ता हुआ।

ग्लोबल मार्केट में सोने-चांदी की कीमत :

यदि ग्लोबल मार्केट में सोने-चांदी की कीमतों की बात करें तो,

  • हाजिर सोना 0.2% बढ़कर 1,710.28 डॉलर प्रति औंस पर जा पंहुचा।

  • अन्य कीमती धातुओं में चांदी की कीमत 0.1% घटकर 24.36 डॉलर पर आ पहुंची।

  • प्लैटिनम की कीमत 0.3% की गिरकर 1,184 डॉलर पर आ गई।

इसी प्रकार एशियाई मार्केट में इक्विटी ज्यादातर अधिक थी। डॉलर इंडेक्स 93.233 पर सपाट था। एक साल में यह डॉलर के लिए सबसे बेहतर तिमाही रही।

11 महीनों में सोने का आयात :

बताते चलें, पिछले साल कोरोना के चलते सभी सेक्टर्स को हुए नुकसान के चलते चालू वित्त वर्ष 2020-21 के पहले 11 महीनों में सोने का आयात भी होना मुश्किल हुआ। जिससे आयात में 3.3% घटकर 26.11 अरब डॉलर रह गया। बता दें, सोने का आयात में घट-बढ़ होने से देश के चालू खाते के घाटे (कैड) पर प्रभाव पड़ता है। जबकि, पिछले साल की समान अवधि के दौरान सोने का आयात 27 अरब डॉलर रहा था।

वाणिज्य मंत्रालय के नए आंकड़े :

वाणिज्य मंत्रालय द्वारा जारी किए गए ताजा आंकड़ों के अनुसार, 'सोने के आयात में कमी से देश के व्यापार घाटे को कम करने में मदद मिली है। चालू वित्त वर्ष के पहले 11 माह में व्यापार घाटा कम होकर 84.62 अरब डॉलर रह गया, जो एक साल पहले इसी अवधि में 151.37 अरब डॉलर रहा था।'

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co