YouTube ने चीन के चैनलों के खिलाफ की सख्त कार्यवाही

हाल ही में YouTube ने कोरोना वैसीन से जुड़ी गलत जानकारी फैलाने वाले 2 लाख वीडियो को अपने प्लेटफॉर्म से हटाया था। वहीं, अब Google ने YouTube पर चीन के तीन हजार YouTube चैनलों पर बैन लगा दिया हैं।
YouTube ने चीन के चैनलों के खिलाफ की सख्त कार्यवाही
YouTube removed fake news videos related to CoronaSyed Dabeer Hussain - RE

राज एक्सप्रेस। हाल ही में YouTube द्वारा कोरोना और कोरोना वैक्सीन से जुड़ी गलत जानकारी फैलाने वाले 2 लाख वीडियो को अपने प्लेटफॉर्म से हटाया था। वहीं, अब Google ने YouTube पर चीन के तीन हजार YouTube चैनलों पर बैन लगा दिया है। बताते चलें, YouTube द्वारा इस तरह की कार्यवाही गलत कार्यो को बढ़ावा देने वाले, अभद्रता या झूठ फैलाने वाले वीडियोस के खिलाफ की जाती है।

YouTube पर बैन हुए 3 हजार चैनल :

दरअसल, Google समय-समय पर अपने लगभग सभी प्लेटफॉर्म जैसे प्ले स्टोर और YouTube में अपडेट करती रहती है। ऐसे में यदि कंपनी को कुछ गलत जानकारी देने वाली कोई ऐप या वीडियो दिखता है तो, वह उसे अपने प्लेटफॉर्म से हटा देती है। ऐसे ही अब Google ने चीन द्वारा दुनिया भर में झूठ और गलत जानकारी फैलाने वाले 3 हजार YouTube चैनलों पर बैन लगा दिया है। बताते चलें, एकाउंट्स पर यह कार्रवाई जुलाई से सितम्बर के बीच की गई थी।

अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव सर पर हैं :

खबरों की मानें तो YouTube की कंपनी इतने एक्शन में इसलिए दिखाई दे रही है क्योंकि, अमेरिका में राष्ट्रपति पद के लिए होने वाले चुनाव अब बहुत करीब हैं। ऐसे में फेक न्यूज फैलाने वाले चैनल पर रोक लगाना जरूरी है क्योंकि, YouTube के वीडियो ट्विटर पर भी शेयर किए जाते हैं। ऐसे में चुनाव के सन्दर्भ में फेक न्यूज फैलाने वाले चैनलों का पकड़ा जाना बहुत जरूरी है। हालांकि, कंपनी ने इन चैनलों के नाम उजागर करने से साफ़ इंकार कर दिया है।

Google का कहना :

Google ने बताया है कि, 'जिन चैनलों को हटाया गया है उनके वीडियो की पहुंच बहुत सीमित दायरे में थी। क्योंकि, इन चैनलों पर डले वीडियोस दस से ज्यादा बार ही देखे गए थे। इसके अलावा इन चैनलों पर मौजूद लगभग जानकारी या सामग्री भी झूठी थी। कंपनी ने यह भी बताया है कि, वह चैनलों पर हमेशा नजर रखती है और इन चैनलों पर भी काफी समय से कंपनी की नजर थी। जब हमारे द्वारा इन वीडियो को देखने वालों के अकाउंट की जांच की तो, वे भी फर्जी पाए गए। हालांकि, अभी तक इतनी बड़ी संख्या में चल रहे यूट्यूब चैनलों का मकसद क्या था, यह जानना अभी बाकि है।'

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co