सरकार ने जारी किए GDP के अनुमानित आंकड़े, FY22 में 9.2% की दर से बढ़ने की उम्मीद
सरकार ने जारी किए GDP के अनुमानित आंकड़े Syed Dabeer Hussain - RE

सरकार ने जारी किए GDP के अनुमानित आंकड़े, FY22 में 9.2% की दर से बढ़ने की उम्मीद

भारत में GDP के आंकड़े गिरने की आशंका थी। इसी बीच सरकार ने अनुमानित आंकड़े जारी किए जिसे देख कर सभी हैरान है क्योंकि, यह अनुमान उम्मीद से बिल्कुल उलट रहे हैं।

राज एक्सप्रेस। अब पूरे भारत में कोरोना और नए Omicron वेरिएंट का प्रकोप ठीक उसी तरह बढ़ता दिख रहा है। जिस प्रकार पिछले साल कोरोना और उसके पुराने अन्य वेरिएंट्स का प्रकोप बढ़ता दिखा था। वहीं, पिछले 24 घंटों में देश में फिर कोरोना के मामले 1 लाख के पास पहुंच चुके हैं। इसी बीच भारत में बढ़ रही महंगाई और कमजोर आर्थिक हालातों को देखते हुए GDP के आंकड़े गिरने की आशंका पहले से ही थी। इसी बीच सरकार ने अनुमानित आंकड़े जारी किए जिसे देख कर सभी हैरान हैं क्योंकि, यह अनुमान उम्मीद से बिल्कुल उलट रहे हैं।

सरकार के अनुमानित आंकड़ें :

दरअसल, इस साल देश की इकोनॉमी (GDP) को लेकर भारतवासियों के लिए अच्छी खबर सामने आई है। क्योंकि, आज यानि शुक्रवार को सरकार द्वारा जारी अनुमानित आंकड़ें जारी किए गए हैं। इनके अनुसार फाइनेंशियल ईयर 2021-22 (FY22) के लिए भारत की रियल GDP ग्रोथ 9.2% की दर से बढ़ने का अनुमान जताया गया है। हालांकि, सरकारी अनुमानित आंकड़े रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) की ओर से जारी आंकड़ों से कम है। क्योंकि पिछले वित्त वर्ष में इसमें 7.3% का कॉन्ट्रेक्शन देखा जाता रहा है।

मॉनिटरी पॉलिसी मीटिंग :

बताते चलें, भर्ती रिजर्व बैंक (RBI) समय समय पर मॉनिटरी पॉलिसी को लेकर मीटिंग का आयोजन करता है। वहीं, दिसंबर 2021 में हुई मॉनिटरी पॉलिसी मीटिंग में RBI ने मीटिंग के दौरान 9.5% की ग्रोथ का अनुमान लगाया था। बता दें, सरकार टैक्स कलेक्शन और राजकोषीय घाटे के अनुमानों जैसे महत्वपूर्ण आंकड़ों की गणना करने के लिए बजट से पहले से पहले GDP ग्रोथ का अनुमान जारी करती है। इसके अलावा नेशनल स्टैटिस्टिक्स ऑफिस (NSO) की द्वारा जारी किए आंकड़ों के अनुसार, 'ग्रॉस वैल्यू ऐडेड (GVA) का FY22 में 8.6% की दर से बढ़ने का अनुमान है। फाइनेंशियल ईयर 2020-21 (FY21) में GDP ग्रोथ में 6.2% का कॉन्ट्रेक्शन देखा गया था। वित्त वर्ष की पहली तिमाही में भारत की GDP ग्रोथ में 20.1% और दूसरी तिमाही में 8.4% की बढ़त दर्ज की गई थी।'

एग्रीकल्चर के लिए दर :

जारी किए गए अनुमान के मुताबिक, फाइनेंशियल ईयर 2021-22 (FY22) में एग्रीकल्चर के 3.9% की दर से बढ़ने की संभावना जताई गई है। जबकि फाइनेंशियल ईयर 2020-21 (FY21) में यही दर 3.6% से बढ़ी थी। वहीं, अभी मैन्युफैक्चरिंग के 12.5% की दर से बढ़ने का अनुमान जताया गया है जिसमें FY21 में 7.2% का कॉन्ट्रेक्शन देखा जा चुका है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co