सर्दियों में कोरोना के अगले लेवल की तैयारी के लिए सरकार खरीदेगी ऑक्सीजन
Government will buy oxygen for Corona in winterSyed Dabeer Hussain - RE

सर्दियों में कोरोना के अगले लेवल की तैयारी के लिए सरकार खरीदेगी ऑक्सीजन

सरकार ने सर्दियों के लिए कोरोना के अगले लेवल का सामना करने के लिए तैयारियां करना शुरू कर दी हैं। इन तैयारियों के तहत सरकार ने ऑक्सीजन की जुगाड़ लगाना शुरू कर दिया है।

राज एक्सप्रेस। भारत में कोरोना का प्रकोप लगातार तेजी से बढ़ता ही नजर जा रहा हैं। दिन प्रति दिन कोरोना के मामले बढ़ ही रहे हैं। ऐसे में हाल ही में स्वस्थ मंत्रालय ने इस बारे में जानकारी दी थी कि, सर्दियों में कोरोना का प्रकोप और तेजी से बढ़ सकता है। इन निर्देशों को ध्यान में रखते हुए सरकार ने कोरोना के अगले लेवल का सामना करने के लिए तैयारियां करना शुरू कर दी हैं। इन तैयारियों के तहत सरकार ने ऑक्सीजन की जुगाड़ लगाना शुरू कर दिया है।

सरकार कर रही तैयारी :

दरअसल, कोरोना से संक्रमित गंभीर मरीजों को खास तौर पर ऑक्सीजन की आवश्यकता होती हैं। आने वाले समय यानि सर्दियों में मरीजों के लिए ऑक्सीजन उपलब्ध कराने के लिए सरकार ने एक लाख मीट्रिक टन ऑक्सीजन विदेशों से खरीदने के लिए योजना तैयार की है। जिसके बारे में सरकार ने बुधवार को एक टेंडर जारी कर दिया है। खबरों के अनुसार सरकार कोरोना को रोकने के लिए जनांदोलन चला रही है। इस बारे में मंत्रालय ने जानकारी दी है।

मंत्रालय द्वारा दी जानकारी :

मंत्रालय द्वारा दी जानकारी के अनुसार, '10 अक्टूबर को कैबिनेट सचिव के साथ हुई बैठक में ऑक्सीजन की उपलब्धता को लेकर बातचीत हुई थी, इस चर्चा में तय किया गया है कि, विदेशों से एक लाख मीट्रिक टन ऑक्सीजन की खरीद की जाएगी। जिसमे लगभग एक से डेढ़ महीने का समय लग सकता है। खबरों की मानें, तो अभी तक भारत में ऑक्सीजन पर्याप्त ही रही है, लेकिन आने वाले समय यानि सर्दियों के चलते सरकार पहले से एहतियात बरतते हुए इंतजाम करने पर विचार कर रही हैं।

भारत की क्षमता :

देश की वर्तमान स्थिति के अनुसार, फिलहाल एक दिन में सात हजार मीट्रिक टन ऑक्सीजन उत्पादन की क्षमता है, जानकी इसमें से लगभग 3094 टन ऑक्सीजन का इस्तेमाल कोरोना और अन्य मरीजों के लिए होता है। जबकि, देश में लॉकडाउन से पहले तक प्रति दिन 6 हजार मीट्रिक टन ऑक्सीजन के उत्पादन की क्षमता थी। उस समय मात्र एक हजार मीट्रिक टन ऑक्सीजन का इस्तेमाल मरीजों के लिए किया जाता था। लॉकडाउन के दौरान कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ने से ऑक्सीजन की मांग में 3 गुना बढ़ोतरी हुई है।

सरकार का मानना :

भारत में वर्तमान में हो रही ऑक्सीजन की खपत को देखते हुए सरकार का मानना है कि, 'अनलॉक में जहां औद्योगिक गतिविधियां वापस से शुरू हो रही हैं। ऐसे में मरीजों को ऑक्सीजन की दिक्कत न हो, इसलिए पहले से ही उसकी तैयारियां शुरू कर दी हैं।' बताते चलें, देश में वर्तमान समय में 3.97% कोरोना के मरीज ऑक्सीजन के सहारे पर हैं। जबकि 2.46% मरीज ICU में हैं।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co