Government will sell up to 20% stake in IRCTC
Government will sell up to 20% stake in IRCTC|Syed Dabeer Hussain - RE
व्यापार

सरकार कर रही IRCTC में 20% हिस्सेदारी बेचने पर विचार

सरकार का अब IRCTC की 20% तक हिस्सेदारी बेचने का मन बना रही है। सरकार का विचार ऑफर फॉर सेल के माध्यम से बिक्री करने का है।

Kavita Singh Rathore

Kavita Singh Rathore

राज एक्सप्रेस। सरकार बीते कुछ समय से कई सेक्टरों में प्राइवटाइज़ेशन करती आ रही है। वहीं, अब अगला नंबर भारतीय रेलवे खानपान एवं पर्यटन निगम (IRCTC) का नजर आ रहा है। क्योंकि, सरकार का अब IRCTC की 20% तक हिस्सेदारी बेचने का मन बना रही है। सरकार का विचार ऑफर फॉर सेल के माध्यम से बिक्री करने का है। बता दें, वर्तमान में IRCTC में सरकार की मौजूदा हिस्सेदारी 87.40% है। इस हिस्सेदारी को सेबी के नियम के अंतर्गत काम करके 75% तक पहुंचना है।

IRCTC की 20% हिस्सेदारी की बिक्री करेगी सरकार :

दरअसल, सरकार अब IRCTC का प्राइवटाइज़ेशन करने पर विचार कर रही है। इस बारे में रेलवे ने स्वयं जानकारी देते हुए बताया है कि, सरकार IRCTC की 15 से 20% हिस्सेदारी की बिक्री करने के लिए योजना तैयार कर रही है। यह हिस्सेदारी सरकार के 2.10 लाख करोड़ की विनिवेश योजना का ही भाग होगी। जिसके तहत सरकार का विचार सार्वजनिक (सरकारी) इकाइयों को बेच के से 1.20 लाख करोड़ और वित्तीय संस्थानों में बेचकर 90 हजार करोड़ रूपये जुटाने का है।

ऑफर फॉर सेल के माध्यम से होगी बिक्री :

सरकार की योजना IRCTC में 15 से 20 प्रतिशत हिस्सेदारी को बेचने की है। ये पूरी बिक्री ऑफर फॉर सेल के माध्यम से होगी। वित्त मंत्रालय द्वारा निवेश एवं सार्वजनिक संपत्ति प्रबंधन विभाग (Deepam) ने इसके लिए मर्चेंट बैंकरों से प्रस्ताव के लिए आवेदन (आरएफपी) आमंत्रित करने के टेंडर्स जारी किए जा चुके हैं। बोलिया लगाने के लिए सरकार ने अंतिम तारीख 10 सितंबर तय की है। जो भी इच्छुक हो वह 10 सितंबर या कल तक बोलियां लगा सकता है। हालांकि इस दौरान यह जानकारी सामने नहीं आई है कि, IRCTC की कितनी हिस्सेदारी बेची जानी है।

Deepam ने बताया :

बताते चलें, निवेश एवं सार्वजनिक संपत्ति प्रबंधन विभाग (Deepam) विभाग द्वारा चार सितंबर को एक बैठक की गई थी। जिसमें संभावित बोलीदाताओं को शामिल कर एक बोली हुई थी। इस बैठक के दौरान संभावित बोलीदाताओं द्वारा पूछे गए सवालों पर Deepam ने अपने जवाब वेबसाइट के जरिए डाल दिये। हिस्सेदारी बिक्री की मात्रा के बारे में Deepam ने कहा, ‘‘सांकेतिक प्रतिशत 15 से 20 प्रतिशत तक है, सही ब्यौरा चुने गये मर्चेंट बैंक के साथ साझा किया जायेगा।’’

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co