GST Collection increased
GST Collection increased|Kavita Singh Rathore -RE
व्यापार

GST कलेक्शन की राशि में लगातार दूसरे महीने में हुई बढ़ोतरी

मोदी सरकार द्वारा लागू की गई GST की दर से हुए कलेक्शन में लगातार दूसरे महीने भी बढ़ोतरी दर्ज की गई है। यहाँ पढ़े, किस महीने में हुई थी कितनी बढ़ोतरी।

Kavita Singh Rathore

Kavita Singh Rathore

राज एक्सप्रेस। लगातार गिरती अर्थव्यवस्था के चलते मोदी सरकार पर कुछ समय से उंगलिया उठ रही थीं, लेकिन अब लग रहा है कि, मोदी सरकार को कुछ राहत मिली है, दरअसल मोदी सरकार द्वारा लागू की गई गुड्स सर्विसेज एंड टेक्स (GST) की दर से होने वाला कलेक्शन लगातार दूसरे महीने में 1 लाख करोड़ रूपये के पार पहुंच गया है। सरकार ने यह राहत की खबर आंकड़े जारी करते हुए दी।

GST की दर :

जानकारी के लिए बता दें वर्तमान में GST से होने वाले कलेक्शन से दूसरे महीने 1 लाख करोड़ रूपये से भी ज्यादा का धन इकठ्ठा हुआ है। आंकड़ों के आधार पर प्राप्त जानकारी के अनुसार GST कलेक्शन में लगभग 16% की वृद्धि दर्ज की है जिसकी गणना सालाना आधार पर की गई है। GST कलेक्शन की राशि की दर अन्य महीनों में -

  • दिसंबर में GST कलेक्शन की राशि कुल 1 लाख 3 हजार 184 करोड़ रुपये थी।

  • नवंबर में GST कलेक्शन की राशि कुल 1,03,492 करोड़ रुपये थी।

  • अक्टूबर में GST कलेक्शन की राशि कुल 95,380 करोड़ रुपये थी।

  • सितंबर में GST कलेक्शन की राशि कुल 91,916 करोड़ रुपये थी।

नोट : GST के इस कलेक्शन में 20,948 करोड़ रूपये का इंपोर्ट भाग भी शामिल है।

इंपोर्ट और उपकर का भाग :

जानकारी के लिए बता दें कि, नवंबर माह में GST कलेक्शन कुल 19,592 करोड़ रूपये रहा था, इसी अवधि में राज्य स्तर पर GST कलेक्शन 27,144 करोड़ रूपये था। इस मुताबिक एंटीग्रेटेड GST कलेक्शन 49,028 करोड़ हुआ था, जिसमें 20,948 करोड़ रूपये का इंपोर्ट और 7,727 करोड़ रूपये का उपकर का भी भाग शामिल था। वहीं दिसंबर में IDST इंपोर्ट्स के हिसाब से कुल रेवेन्यू में 9% की बढ़ोतरी दर्ज की गई यह आंकड़ा दिसंबर 2018 से लेकर दिसंबर 2019 का है हालांकि  IGST इंपोर्ट के हिसाब से इसमें 10% नकारात्मक बढ़ोतरी दर्ज की गई है, हालांकि नवंबर माह में इस की दर में सुधार दर्ज किया गया।

टैक्स चोरी रोकने के उपाय :

केंद्र सरकार द्वारा हाल ही में बीते महीनों में हो रही टैक्स चोरी की घटनाओं को रोकने के लिए कलेक्शन में कई तरह के सुधार भी किये थे। वहीं इन्ही सुधार के तहत दिसंबर में रेवेन्यू सेक्रेटरी अजय पांडे ने वरिष्ठ अधिकारियों के साथ मीटिंग ली थी, जिसमें कलेक्शन बढ़ाने को लेकर स्पष्ट संदेश दिए थे। साथ ही डिफॉल्टर्स का रजिस्ट्रेशन केंसल करने और इनपुट टैक्स क्रेडिट ब्लॉक करने के आदेश भी दिए थे।

GST कलेक्शन में गिरावट :

याद दिला दें, पिछले कुछ महीनों में GST की दर से हुए कलेक्शन में गिरावट दर्ज की गई थी जिसके आंकड़े इस प्रकार हैं।

  • सितंबर माह में GST कलेक्शन में 2.7% की गिरावट हुई थी।

  • अक्टूबर माह में GST कलेक्शन में 5.3% की गिरावट हुई थी।

अन्य शहरों के आंकड़े :

  • अरुणाचल प्रदेश के GST कलेक्शन में 124 % की बढ़ोतरी दर्ज की गई। जो आंकड़ा दिसंबर 2018 में 26 करोड़ रूपये था, वहीं दिसंबर 2019 में 58 करोड़ रूपये पर पहुंच गया था।

  • नगालैंड के GST कलेक्शन में 88% की बढ़ोतरी दर्ज की गई। जो GST कलेक्शन दिसंबर 2018 में 17 करोड़ रूपये था, वहीं दिसंबर 2019 तक बढ़कर 31 करोड़ रूपये पर पहुंच गया।

  • जम्मू और कश्मीर के GST कलेक्शन में 40% की बढ़ोतरी दर्ज की गई।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co