HDFC Bank के शेयर 2 दिन में 11% से अधिक गिरे, निवेशकों के 1.44 लाख करोड़ रुपए डूबे

पिछले दो दिनों में एचडीएफसी बैंक के शेयरों में बड़ी गिरावट हुई है। इस दौरान बैंक के शेयरों में 11 फीसदी से अधिक की गिरावट देखने को मिली है।
HDFC Bank
HDFC BankRaj Express

हाईलाइट्स

  • मार्च 2020 के बाद देखने को मिली दो दिनों में सबसे अधिक गिरावट

  • बैंक की वैल्यू में दो दिन में हुआ घाटा उसके पूरे साल के राजस्व से अधिक

  • 1995 में शेयर बाजार में लिस्ट होने के बाद से 6 बार ऐसी गिरावट दिखी

राज एक्सप्रेस । पिछले दो दिनों में एचडीएफसी बैंक के शेयरों में बड़ी गिरावट हुई है। इस दौरान बैंक के शेयरों में 11 फीसदी से अधिक की गिरावट देखने को मिली है। इस गिरावट की वजह से इस शेयर में निवेश करने वाले लोगों को करीब 1.44 लाख करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। बता दें कि एचडीएफसी बैंक के मार्केट वैल्यूएशन में दो दिन में हुआ घाटा उसके पूरे साल के राजस्व से अधिक है। ब्लूमबर्ग के अनुसार एचडीएफसी बैंक का स्टैंडअलोन ट्रेलिंग ट्वेल्व मंथ (टीटीएम) राजस्व 1.43 लाख करोड़ रुपये है।

एचडीएफसी बैंक के निवेशकों के बीते दो दिन बड़ी कठिनाई में बीते हैं। बीते बुधवार के दिन 8.4 फीसदी की गिरावट के बाद आज गुरुवार को भी शेयर में 3.3 फीसदी की गिरावट देखने को मिली है। शेयरों की कीमत में गिरावट मार्च 2020 के बाद के दो दिनों में सबसे तेज गिरावट देखने को मिली है। अगर कोविड के समय के उतार-चढ़ाव को छोड़ दिया जाए, तो बैंक के शेयरों में मई 1995 में शेयर बाजार में लिस्ट होने के बाद से अब तक केवल छह बार इतनी बड़ी गिरावट देखने को मिली है।

शेयरों में गिरावट की वजह मौजूदा वित्त वर्ष की तीसरे तिमाही के नकारात्मक नतीजे हैं। फ्लैट मार्जिन, सुस्त डिपॉजिट ग्रोथ और अर्निंग पर शेयर (ईपीएस) से निवेशक गहरी निराशा में डूब गए। दिसंबर तिमाही में बैंक का नेट ब्याज से आय 3.4% रही, जो अनुमान 3.6% से कम रही।

शेयर बाजार के विशेशज्ञों ने 12 महीने के लिए 2000 रुपये के टारगेट प्राइस के साथ स्टॉक को बाइ करने की सलाह दी है। ब्रोकरेज का मानना है कि बैंक की अर्निंग पर शेयर (ईपीएस) अगले साल 2025 की पहली तिमाही से बढ़ेगी। दिसंबर तिमाही के लिए ईपीएस सालाना दो फीसदी कम हो गई, जबकि इसका कोर ईपीएस सालाना 12 फीसदी नीचे रहा।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

और खबरें

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co