HDFC Bank ने लिया बड़ा फैसला, नेटवर्क बढ़ाने हेतु करेगी बैंक की ब्रांचों को दोगुना
HDFC Bank ने लिया बड़ा फैसला, नेटवर्क बढ़ाने हेतु करेगी बैंक की ब्रांचों को दोगुनाSocial Media

HDFC Bank ने लिया बड़ा फैसला, नेटवर्क बढ़ाने हेतु करेगी बैंक की ब्रांचों को दोगुना

यदि आपका अकाउंट HDFC Bank में है तो यह खबर हो सकती है आपके काम की। क्योंकि, प्राइवेट सेक्‍टर के HDFC Bank ने देशभर में अपनी मौजूद ब्रांचों की संख्या बढाकर दोगुना करने का मन बना लिया है।

राज एक्सप्रेस। यदि आपका अकाउंट देश के प्राइवेट सेक्टर के सबसे बड़े बैंक HDFC Bank (एचडीएफसी बैंक) में है तो यह खबर हो सकती है आपके काम की। क्योंकि, प्राइवेट सेक्‍टर के HDFC Bank ने देशभर में अपनी मौजूद ब्रांचों की संख्या बढ़ाकर दोगुना करने का मन बना लिया है।

HDFC Bank का फैसला :

दरअसल, पिछले कुछ समय से देश में प्राइवेट और सरकारी बैंकों के बीच काफी प्रतिस्पर्धा देखने को मिल रही है। इस प्रतिस्पर्धा के चलते ही प्राइवेट सेक्टर के बैंक अपने ग्राहकों को अच्छी सुविधा देने में लगे हुए है। जिसके कारण बैंक के ग्राहकों की संख्या लगातार बढ़ रही है। इस बात को मद्देनजर रखते हुए HDFC Bank ने एक बड़ा फैसला लेते हुए देशभर में अपनी मौजूद ब्रांचों की संख्या बढ़ाकर दोगुना करने का फैसला किया है। इस फैसले के तहत बैंक अब हर साल लगभग 1,500 से 2,000 नई ब्रांचो की शुरुआत करेगा। बैंक के इस फैसले के चलते आने वाले कुछ ही सालों में बैंक अपने नेटवर्क को बढ़ा कर दोगुना कर लेगा। इससे देशभर में HDFC Bank के ग्राहकों की संख्या में भी इजाफ़ा देखने को मिलेगा।

बैंक के CEO ने दी जानकारी :

HDFC Bank के चीफ एग्जिक्यूटिव ऑफिसर (CEO) शशिधर जगदीशन ने साल 2021-22 की सालाना रिपोर्ट जारी करते हुए शेयरधारकों को जानकारी देते हुए बताया है कि, HDFC लिमिटेड (HDFC Ltd) का और HDFC Bank का प्रस्तावित मर्जर आने वाले समय में अलग स्वरूप तैयार करेगा। रास्ता बहुत बड़ा है और संभावित रूप से हम हर पांच साल में एक एचडीएफसी बैंक खड़ा कर सकते हैं। हर साल 1,500 से 2,000 ब्रांच खोलकर आने वाले तीन से पांच साल में ब्रांच नेटवर्क को दोगुना करने का प्रस्ताव है। मौजूदा समय में देश में बैंक की 6,000 से ज्यादा ब्रांच हैं। देश की जनसंख्या के मुताबिक, बैंक की शाखाओं की संख्या आर्थिक सहयोग और विकास संगठन (OECD) देशों की तुलना में कम है।'

गौरतलब है कि, यह फैसला इस साल अप्रैल 2022 में शुरू हुई हाउसिंग डेवलपमेंट फाइनेंस कॉरपोरेशन (HDFC Ltd.) और इसकी सब्सिडियरी HDFC Bank के मर्जर को ध्यान में रख कर लिया गया है। क्योंकि, इस मर्जर से बैंक के ग्राहकों की संख्या तेजी से बढ़ेगी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co