इसी महीने बंद हो जाएगा 'मेड इन इंडिया' स्टिकर चैट ऐप 'Hike'
Hike will be closed Syed Dabeer Hussain - RE

इसी महीने बंद हो जाएगा 'मेड इन इंडिया' स्टिकर चैट ऐप 'Hike'

यदि आप 'मेड इन इंडिया' चैटिंग सर्विस स्टिकर चैट ऐप 'Hike' का इस्तेमाल करते हैं तो, अब आप इस ऐप का इस्तेमाल नहीं कर सकेंगे क्योंकि, जल्द ही यह ऐप बंद होने जा रहा है।

राज एक्सप्रेस। यदि आप अपनी चैट में स्टिकर का इस्तेमाल करना पसंद करते हैं तो आप भारत की 'मेड इन इंडिया' चैटिंग सर्विस स्टिकर चैट ऐप 'Hike' का इस्तेमाल जरूर करते होंगे, लेकिन अब आप इस ऐप का इस्तेमाल नहीं कर सकेंगे क्योंकि, जल्द ही यह ऐप बंद होने जा रहा है। इस बारे में जानकारी कंपनी के CEO कविन भारती मित्तल ने माइक्रोब्लॉगिंग के जरिए दी। CEO के अनुसार, यह ऐप इसी महीने बंद हो जाएगा।

इसी महीने बंद हो जाएगा ऐप :

स्टिकर चैट ऐप 'Hike' के CEO कविन भारती मित्तल ने इस बारे में बताया कि, हाइक स्टिकर चैट ऐप जनवरी, 2021 में बंद कर दिया जाएगा। इस ऐप को बंद करने का मुख्य कारण यह है कि, यह 'मेड इन इंडिया' चैटिंग ऐप उतनी सफल नहीं रही, जिसकी उम्मीद कंपनी ने की थी।' CEO कविन का मानना है कि, 'यूजर्स पर विदेशी ऐप्स के नेटवर्क का प्रभाव ज्यादा है और ऐसे में भारत के पास खुद का मेसेंजर नहीं हो सकता।' Hike के CEO ने बताया कि,

Summary

Hike के CEO ने बताया कि,

'Hike ऐप जनवरी, 2021 में बंद होने जा रही है और यूजर्स अपना डाटा ऐप से डाउनलोड कर सकते हैं। Hike स्टिकर चैट मेसेजिंग सेवा बेशक बंद हो रही है, लेकिन इसमें मिलने वाले हाइकमोजी कंपनी की दूसरी सर्विसेज में मिलते रहेंगे।'
कविन भारती मित्तल, Hike के CEO

Hike ने लांच किए 2 अन्य ऐप :

बताते चलें, Hike कंपनी ने दो नई ऐप्स लांच की है। जिन्हें कंपनी ने वाइब (Vibe) और रश (Rush) नाम से लांच की है। बता दें, यदि आपको Hike के ईमोजी पसंद है तो, आप इन ऐप्स पर भी इन हाइकमोजी का इस्तेमाल कर सकते हैं। हालांकि, 'वाइब बाय हाइक' कंपनी के पुराने हाइकलैंड (HikeLand) ऐप को नया नाम दिया है। जबकि, रश ऐप की मदद से यूजर्स कैरम और लूडो जैसे छोटे-छोटे गेम्स खेल सकते हैं। कंपनी अपनी मेसेजिंग सर्विस ऐप Hike को बंद करने के बाद अपना सारा ध्यान इन दोनों ऐप्स पर ही लगाने वाली है।

40 भारतीय भाषाओं में लांच हुआ था Hike ऐप :

बताते चलें, Hike स्टिकर चैट ऐप अप्रैल, 2019 में एंड्रॉयड और iOS यूजर्स के लिए लॉन्च की गई थी। जिसे 40 भारतीय भाषाओं में और 30,000 से ज्यादा स्टिकर्स के साथ लांच किया गया था। दिसंबर, 2019 तक हाइक के वीकली ऐक्टिव यूजर्स 20 लाख से ज्यादा हो चुके थे। उस वक्त CEO कविन मित्तल ने साल 2020 से हाइकमोजी और हाइकमोजी स्टिकर्स के साथ ऐप से कमाई शुरू करने का प्लान भी कन्फर्म किया था।

क्या करें इस ऐप से जुड़ने के लिए ?

कंपनी ने बताया है कि, 'इस ऐप से जुड़ने के लिए यूजर्स को अप्लाई करना होगा। अनुमति मिलने के बाद ही वह इस ऐप का हिस्सा बन सकते है।' कंपनी CEO ने बताया है कि, 'अब तक 1 लाख से ज्यादा लोग वाइब के लिए अप्लाई कर चुके हैं। इस ऐप पर पिछले महीने 3 लाख से ज्यादा कन्वर्सेशन हुए हैं और कंपनी का लक्ष्य 2021 में इसे दोगुना करना है।'

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co