IMF Statement on Bangladesh vs Indian GDP
IMF Statement on Bangladesh vs Indian GDP|Syed Dabeer Hussain - RE
व्यापार

IMF : बांग्लादेश की प्रति व्यक्ति GDP भारत से 0.6% हो सकती है ज्यादा

IMF द्वारा समय-समय पर देश की GDP को लेकर आंकड़े जारी किए जाते हैं। हालांकि, लॉकडाउन के बाद देश में आंकड़े गिरने की आशंका थी, परंतु IMF के द्वारा GDP को लेकर दिए गए बयान पर हर कोई हैरान हैं।

Kavita Singh Rathore

Kavita Singh Rathore

राज एक्सप्रेस। इंटरनेशनल मोनेटरी फण्ड (IMF) द्वारा समय-समय पर देश की GDP को लेकर आंकड़े जारी किए जाते हैं। हालांकि, लॉकडाउन के बाद देश में आंकड़े गिरने की आशंका थी। परंतु IMF के द्वारा GDP को लेकर दिए गए बयान पर हर कोई हैरान है। जी हाँ IMF ने अपने बयान में भारत की GDP की तुलना बांग्लादेश के प्रति व्यक्ति (पर कैपिटा) की GDP से की है।

IMF का बयान :

जैसा की सभी जानते हैं बांग्लादेश की गिनती दुनिया के सबसे पिछड़े देशों में होती है और इंटरनेशनल मोनेटरी फण्ड (IMF) ने जानकारी देते हुए अपने बयान में कहा है कि, 'इस कैलेंडर साल में (जनवरी से दिसंबर) में बांग्लादेश के प्रति व्यक्ति (पर कैपिटा) GDP भारत की पर कैपिटा GDP से ज्यादा हो सकती है। IMF ने यह भी बताया है कि, 'बांग्लादेश के प्रति व्यक्ति की GDP लहभग 1,38,400 रुपए (1,888 डॉलर) हो सकती है, जबकि भारत में GDP का यह आंकड़ा लगभग 1,37,594 रुपए (1,877 डॉलर) का हो सकता है। साल 2021 में भारत इस में और आगे निकल जाएगा। 2021 में भारत में प्रति व्यक्ति जीडीपी 1 लाख 48 हजार 190 रुपए होगी, जबकि बांग्लादेश के लोगों की जीडीपी 1 लाख 45 हजार 270 रुपए होगी।'

गौरतलब है कि, वर्तमान में भारत की GDP 1 लाख 37 हजार 21 रुपए है। जबकि बांग्लादेश की प्रति व्यक्ति GDP 1 लाख 37 हजार 824 रुपए है। बता दें यह आंकड़े 1 डॉलर बराबर 73 रुपए के हिसाब से लगाया गया है।

पहली तिमाही के नतीजों में दिखा बुरा प्रभाव :

IMF ने अपने बयाना में यह भी बताया है कि, 'जब पहली तिमाही केNATIJE जारी किये गए थे, उसमे ही भारत की अर्थव्यवस्था पर बुरा प्रभाव नजर आया था। IMF ने आशंका जताते हुए कहा है कि, ऐसा लगता है कि आने वाले दिनों में अभी इसकी मुश्किलें कम नहीं होने वाली हैं। भारत की अर्थव्यवस्था की राह आगे काफी चुनौतीपूर्ण है।' यदि हम IMF के बयान पर गौर करें तो, जल्द ही भारत के हालत बांग्लादेश से भी बुरे होते नजर आएँगे। इन हालातों को देखते हुए यह कहना गलत नहीं होगा कि, यह देश में इतने समय तक लागू रहे लॉकडाउन का ही असर है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co