डिस्प्ले के आयात पर लगने वाले शुल्क में बढ़ोतरी महंगे हो जाएंगे स्मार्टफोन

सरकार ने स्मार्टफोन के डिस्प्ले के आयात पर लगने वाले शुल्क में बढ़ोतरी कर दी है। इस बढ़ोतरी के चलते जल्द ही स्मार्टफोन्स की कीमतें बढ़ जाएंगी।
डिस्प्ले के आयात पर लगने वाले शुल्क में बढ़ोतरी महंगे हो जाएंगे स्मार्टफोन
imports Duty increased on smartphone display Social Media

राज एक्सप्रेस। आज अनेक कंपनियां मोबाईल फोन इतनी सस्ती दरों पर मुहैया कराती हैं कि, देश के हर घर में 4 लोगों के बीच 2 मोबाइल फोन तो जरूर ही होते हैं। वहीं, यदि अब आप भी मोबाईल फोन खरीदने का मन बना रहे हैं, तो हो सकता है यह खबर आपके काम की हो, क्योंकि जल्द ही यह स्मार्टफोन लगभग 3% तक महंगे हो सकते हैं। क्योंकि सरकार ने स्मार्टफोन के डिस्प्ले के आयात पर लगने वाले शुल्क में बढ़ोतरी कर दी है। इस बारे में इंडियन सेल्युलर एंड इलेक्ट्रॉनिक्स एसोसिएशन (ICEA) ने शुक्रवार को जानकारी दी।

आयात पर लगने वाले शुल्क में हुई बढ़ोतरी :

सरकार द्वारा ने स्मार्टफोन के डिस्प्ले के आयात पर लगने वाले शुल्क में लगभग 10% की बढ़ोतरी करने का फैसला किया है। इस बढ़ोतरी के चलते जल्द ही स्मार्टफोन्स की कीमतें 3% तक बढ़ जाएंगी। खबरों की माने तो, उद्योग जगत की सहमति से साल 2016 में घोषित फेज्ड मैन्युफैक्चरिंग प्रोग्राम (PMP) के अंतर्गत डिस्प्ले असेंबली और टच पैनल पर 1 अक्टूबर से शुल्क लगाने का प्रस्ताव पेश किया गया था। बता दें, ICEA के सदस्यों में Apple, Huawei, Xiaomi, Vivo और Winstron जैसी भारत के बाहर की बहुचर्चित कंपनियां शामिल हैं।

ICEA के नेशनल चेयरमैन ने बताया :

ICEA के नेशनल चेयरमैन पंकज मोहिंद्रू ने अपने एक बयान के जरिए बताया कि, 'सरकार द्वारा बढ़ाए गए इस शुल्क से मोबाइल फोन की कीमतों पर 1.5-3% तक असर पड़ सकता है। साथ ही उन्होंने बताया कि, यह शुल्क कंपोनेंट का घरेलू उत्पादन बढ़ाने और आयात घटाने के मकसद से लगाया गया है। PMP का लक्ष्य देश में ही कंपोनेंट के उत्पादन को बढ़ावा देना और आयात को हतोत्साहित करना था।' मोहिंद्रू ने आगे बताया कि, 'कोरोनावायरस महामारी और एनजीटी एंबार्गो के चलते उद्योग समुचित स्तर तक डिस्प्ले असेंबली का उत्पपादन बढ़ाने में असफल रहा है।'

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co