Share Market
Share MarketRaj Express

अगले हफ्ते किस दिशा में आगे बढ़ेंगे सेंसेक्स और निफ्टी , आइए देखें कैसी रहने वाली है बाजार की चाल

बीते सप्ताह एक फरवरी को केंद्र सरकार ने अपना विकासोन्मुख अंतरिम बजट पेश किया है। इस सप्ताह में भारतीय बाजारों में बड़ी बढ़त देखने को मिली थी।

हाईलाइट्स

  • निवेशकों की नजरें कंपनियों के तीसरी तिमाही के नतीजों पर रहेंगी

  • आरबीआई के ब्याज दर निर्णय की घोषणा 08 फरवरी को की जाएगी

  • कुछ अन्य कारक करेंगे बाजार के कामकाज को कम-ज्यादा प्रभावित

राज एक्सप्रेस। बीते सप्ताह एक फरवरी को केंद्र सरकार ने अपना विकासोन्मुख अंतरिम बजट पेश किया है। इस सप्ताह में भारतीय बाजारों में बड़ी बढ़त देखने को मिली थी। इसके अलावा सकारात्मक व्यापक आर्थिक आंकड़ों से भी शेयरों में तेजी की धारणा को बल मिला। माह के इस दूसरे सप्ताह में निवेशकों की नजर विभिन्न क्षेत्रों की कुछ प्रमुख कंपनियों के शेष तिमाही नतीजों पर रहेगी। आरबीआई के ब्याज दर निर्णय के अलावा, भारत में जमा वृद्धि और बैंक ऋण वृद्धि डेटा के साथ-साथ शुरुआती बेरोजगार दावे और अमेरिका में व्यापार संतुलन ऐसे प्रमुख घटनाक्रम हैं जो अगले सप्ताह शेयर बाजार पर असर डालेंगी। इस सप्ताह कई कंपनियां अपनी तिमाही नतीजे जारी करने वाली हैं।

कई कंपनियां घोषित करेंगी तिमाही नतीजे

हेल्थकेयर और फार्मा सेक्टर से फोर्टिस हेल्थकेयर, ल्यूपिन, अपोलो हॉस्पिटल्स एंटरप्राइज, बायोकॉन और ज़ाइडस लाइफसाइंसेज जैसी कंपनियां अपने तिमाही नतीजों की घोषणा करेंगे। इन कंपनियों के नतीजे शेयर बाजार की दिशा को कम ज्यादा मात्रा में निश्चि्त ही प्रभावित करेंगे। इस हफ्ते बीमा क्षेत्र की दिग्गज कंपनी एलआईसी भी अपने तीसरी तिमाही के नतीजे जारी करेगी। इनके अलावा, अशोक लीलैंड, भारती एयरटेल, ब्रिटानिया इंडस्ट्रीज, गोदरेज प्रॉपर्टीज, अपोलो टायर्स, कमिंस इंडिया, नेस्ले इंडिया, पावर ग्रिड कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया, एस्कॉर्ट्स कुबोटा, ग्रासिम इंडस्ट्रीज, एमआरएफ, पीआई इंडस्ट्रीज, एसजेवीएन और टाटा पावर भी अपने तिमाही नतीजे घोषित करेंगे।

8 को घोषित होंगे रिजर्व बैंक के आंकड़े

अर्थव्यवस्था के मोर्चे पर, निवेशकों की नजर एचएसबीसी कंपोजिट पीएमआई फाइनल और एचएसबीसी सर्विसेज पीएमआई फाइनल के आंकड़ों पर रहेगी, जो 5 फरवरी को जारी होने वाले हैं। व्यापारी भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) की ब्याज दर के फैसले का भी इंतजार कर रहे होंगे, जिसकी घोषणा 8 फरवरी को की जाएगी। आरबीआई ने दिसंबर 2023 में लगातार पांचवीं बैठक में अपनी बेंचमार्क नीति रेपो को 6.5% पर रखा ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि मुद्रास्फीति केंद्र द्वारा निर्धारित सीमा के भीतर रहे। विकास को समर्थन देते हुए बैंक की लक्ष्य सीमा 2-6% है। इसके अलावा 9 फरवरी को बैंक लोन ग्रोथ, डिपॉजिट ग्रोथ और विदेशी मुद्रा भंडार के आंकड़े जारी होने वाले हैं।

अमेरिकी बाजार के डेटा पर रहेगी नजर

अमेरिका से वैश्विक मोर्चे पर, व्यापारियों की नजर सबसे पहले पांच फरवरी को एसएंडपी ग्लोबल कंपोजिट पीएमआई, एसएंडपी ग्लोबल सर्विसेज पीएमआई पर रहेगी, इसके बाद 6 फरवरी को रेडबुक, 7 फरवरी को व्यापार संतुलन, 8 फरवरी को प्रारंभिक बेरोजगार दावे पर होगी। 9 फरवरी को बेकर ह्यूजेस ऑयल रिग काउंट पर नजर रहेगी। जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा रूढ़िवादी अंतरिम बजट का शेयर बाजार पर कोई प्रभाव नहीं देखने को मिला है। शेयर बाजार बजट आने के तुरंत बाद गिरा लेकिन वह जल्दी ही अपनी स्थति से उबर कर फिर से ऊपर बढ़ने लगा। उन्होंने कहा राजकोषीय घाटे के लक्ष्य में भारी गिरावट से बांड यील्ड में कमी देखने को मिली है। जिससे कॉर्पोरेट डेट लागत कम हो जाएगी। इसका सकारात्मक पक्ष यह है कि इससे निवेश को प्रोत्साहन मिलेगा।

सख्त जोखिम प्रबंधन उपायों के साथ करें ट्रेड

तकनीकी दृष्टिकोण से शेयर बाजार को देखने की कोशिश करें तो निफ्टी ने शुक्रवार के सत्र की पहली छमाही के दौरान 22,000 अंक को पार कर लिया, लेकिन बाद में प्रति घंटा चार्ट पर डबल टॉप बनाया। तेजी की प्रवृत्ति की बहाली की पुष्टि डबल टॉप के ऊपर एक निर्णायक ब्रेकआउट के साथ होगी, जिसे वर्तमान में 22,125 के आसपास पहचाना जाता है। इसके विपरीत, 21,500 के समर्थन स्तर से नीचे का ब्रेक एक मंदी की गति का संकेत दे सकता है। उन्होंने कहा 22,150 से ऊपर के ब्रेकआउट के परिदृश्य में, निफ्टी ऊपर की ओर गति कर सकता है।

बैंक निफ्टी पर दिख सकता है मंदड़ियों का प्रभाव

बैंक निफ्टी पर मंदड़ियों ने नियंत्रण हासिल कर लिया है, क्योंकि सूचकांक समापन आधार पर 46,500 के महत्वपूर्ण स्तर को पार करने में विफल रहा। उन्होंने कहा कि सूचकांक के लिए तत्काल समर्थन 47,700 पर स्थित है, और इस स्तर के नीचे के नीचे जाने का मतलब है कि बिकवाली का दबाव बढा है, सूचकांक को 45,000 अंक की ओर धकेल सकता है। व्यापारियों को सलाह दी जाती है कि वे सावधानी से बाजार में आएं और संभावित उतार-चढ़ाव से निपटने के लिए सख्त जोखिम प्रबंधन उपायों को अपनाएं।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co