जमा हुआ जुलाई तक का ITR कलेक्शन, आखिरी 1 दिन और 1 घंटे में लोग हुए सबसे ज्यादा एक्टिव

इनकम टैक्स रिटर्न (ITR) दाखिल करने की आखिरी तारीख 31 जुलाई थी। वहीं, अब वित्त वर्ष 2021-22 जुलाई 2022 तक हुए इनकम टैक्स रिटर्न (ITR) कलेक्शन के ताजा आंकड़े जारी कर दिए गए है।
जमा हुआ जुलाई तक का ITR कलेक्शन
जमा हुआ जुलाई तक का ITR कलेक्शनSocial Media

ITR Collection : देश में कोरोना के चलते हुए लॉकडाउन से भारत की अर्थव्यवस्था काफी हद तक बिगड़ी है। हालांकि, इस दौरान काफी लोगों को नुकसान भी उठाना पड़ा, इसके बावजूद भी देश के टैक्सपेयर ने इनकम टैक्स रिटर्न (ITR) जमा किया ही है। वहीं, 31 जुलाई को इनकम टैक्स रिटर्न (ITR) दाखिल करने की आखिरी तारीख थी। वहीं, अब वित्त वर्ष 2021-22 जुलाई 2022 तक हुए इनकम टैक्स रिटर्न (ITR) कलेक्शन के ताजा आंकड़े जारी कर दिये गए हैं।

ITR कलेक्शन का आंकड़ा :

आज वित्त वर्ष 2021-22 के लिए 31 जुलाई तक जमा हुए इनकम टैक्स रिटर्न (ITR) के ताजा आंकड़े जारी कर दिये गए है। इन आंकड़ो को देखकर समझ आता है कि, देश में इनकम टैक्स रिटर्न जमा करने को लेकर टैक्सपेयर में कितना उत्साह रहा होगा। क्योंकि, इस वित्त वर्ष के लिए पौने छह करोड़ से ज्यादा यानी लगभग 5.83 करोड़ लोगों ने रिटर्न दाखिल किया है। इन सभी में एक ही दिन में 72.42 लाख और 4.60 लाख लोगों द्वारा तो आखिरी के एक घंटे में ITR दाखिल किया गया है। इस बारे में जानकारी केंद्र सरकार ने बताया है कि, 'देश में 31 जुलाई तक 5.83 करोड़ इनकम टैक्स रिटर्न दाखिल किए गए। यह आंकड़ा पिछले साल भरे गए रिटर्न के आंकड़े के लगभग बराबर ही रहा है।

कुल जमा हुआ इनकम टैक्स रिटर्न :

बताते चलें, इस बार सरकार द्वारा इनकम टैक्स रिटर्न जमा करने की आखिरी तारीख को नहीं बढ़ाया गया था। शायद यही कारण है कि, एक दिन में इतने लोगों ने रिटर्न जमा किया है। इसके अलावा सरकार ने आईटी रिटर्न जमा करने की प्रक्रिया को भी और सरल बानने के तरफ ध्यान दिया है। साथ ही लोगों को अपनी आमदनी जाहिर करने को लेकर जागरूक भी किया है। इसका नतीजा यह हुआ है कि, वित्त वर्ष 2021-22 के लिए रिटर्न दाखिल करने के लिए 31 जुलाई को कुल 5 करोड़ 82 लाख 88 हजार 692 रिटर्न दाखिल किया गया है। इस बारे में जानकारी आयकर विभाग द्वारा ट्वीट कर दी गई है।

आयकर विभाग ने बताया :

आयकर विभाग ने ट्वीट कर बताया है कि, 'आयकर विभाग ने ITR जमा करने के लिए 31 जुलाई की डेडलाइ तय की थी। इसके चलते ही विभाग दवारा लगातार लोगों से रिटर्न दाखिल करने के लिए अनुरोध कर रहा था। इसके लिए SMS और ईमेल के जरिए अनुरोध किया गया। इसके बाद रिटर्न दाखिल करने पर लेट फीस का प्रावधान है। दूसरी ओर लोग आखिरी तारीख बढ़ाने को लेकर मांग कर रहे थे। आखिरी दिन भी ट्वीटर पर यह मांग ट्रेंड हो रही थी।'

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co