India Shelter Finance corporation
India Shelter Finance corporationRaj Express

38 गुना ओवर-सब्सक्राइब हुआ था इंडिया शेल्टर फाइनेंस का IPO , बाजार में धमक के साथ की एंट्री फिर आई गिरावट

हाउसिंग फाइनेंस कंपनी इंडिया शेल्टर फाइनेंस के शेयरों की आज घरेलू मार्केट में जबर्दस्त एंट्री की, लेकिन इंट्री के बाद ही इसमें गिरावट देखने को मिली है।

हाईलाइट्स

  • 13 से 15 दिसंबर के बीच ओपेन हुआ था इंडिया कंपनी का 1200 करोड़ का आईपीओ।

  • आईपीओ में 38.59 गुना ओवर सब्सक्राइब हुआ, निवेशकों ने दिखाई जबर्दस्त दिलचस्पी

  • आईपीओ से मिले धन का इस्तेमाल लेंडिंग जरूरतों को पूरा करने में करेगी यह कंपनी।

राज एक्सप्रेस । हाउसिंग फाइनेंस कंपनी इंडिया शेल्टर फाइनेंस के शेयरों की आज घरेलू मार्केट में जबर्दस्त एंट्री की, लेकिन इंट्री के बाद ही इसमें गिरावट देखने को मिली है। इंडिया शेल्टर के आईपीओ को निवेशकों ने जबर्दस्त रिस्पांस दिया था। यह आईपीओ 38 गुना ओवर सब्सक्राइब हुआ था। इस आईपीओ में 493 रुपये के भाव पर शेयर जारी किए गए थे। आज बीएसई पर इंडिया शेल्टर की 612.70 रुपये के भाव पर एंट्री हुई है। यानी कि आईपीओ में निवेश करने वाले लोगों को 24 फीसदी का लिस्टिंग गेन मिला है।

लिस्टिंग से कुछ देर बाद ही दिखी गिरावट

इंडिया शेल्टर की लिस्टिंग के कुछ देर बाद ही गिरावट आनी शुरू हो गई और कुछ ही देर में शेयर टूटकर 571.00 रुपये के स्तर पर आ गया। इंडिया शेल्टर फाइनेंस का 1200 करोड़ रुपये का आईपीओ सब्सक्रिप्शन के लिए 13 से 15 दिसंबर के बीच ओपेन हुआ था। आईपीओ में निवेशकों ने जबर्दस्त दिलचस्पी दिखाई थी। यह आईपीओ 38.59 गुना ओवर सब्सक्राइब हुआ। इस आईपीओ के तहत 800 करोड़ रुपये के नए शेयर जारी किए गए हैं। इसके साथ ही, पांच रुपये की फेस वैल्यू वाले 81,13,590 शेयरों की बिक्री ऑफर फॉर सेल विंडो के तहत की गई है।

घर या प्लाट खरीदने के लिए कर्ज देती है कंपनी

नए शेयरों के जरिए जुटाए गए पैसों का इस्तेमाल लेंडिंग से जुड़ी कैपिटल जरूरतों को पूरा करने और अन्य कारपोरेट उद्देश्यों में होगा। उल्लेखनीय है कि 1998 में बनी इंडिया शेल्टर फाइनेंस (पूर्व नाम सत्यप्रकाश हाउसिंग फाइनेंस) एक हाउसिंग फाइनेंस कंपनी है। यह घर बनाने, उसके विस्तार, पुननिर्माण और नए घर या प्लॉट खरीदने के लिए लोन देती है। इसके अलावा यह कंपनी प्रॉपर्टी गिरवी रखकर लोन भी देती है। यह कंपनी 20 साल की अवधि के लिए 5 से 50 लाख रुपये तक का लोन बांटती है।

कंपनी 203 शाखाओं के माध्यम से देती है सेवाएं

30 नवंबर 2023 तक के आंकड़ों के मुताबिक हाउसिंग फाइनेंस कंपनी ने 5500 करोड़ का लोन वितरित किया है। हाल के दिनों में कंपनी ने अच्छा विस्तार किया है। इसकी शाखाओं की संख्या तेजी से बढ़ रही है। सितंबर तक कंपनी की 203 ब्रांच हैं, जो मार्च 2021 में 115 थीं। कंपनी की वित्तीय सेहत की बात करें तो वित्त वर्ष 2021 से वित्त वर्ष 2023 के बीच इसका नेट प्रॉफिट सालाना 33 फीसदी की चक्रवृद्धि दर (सीएजीआर) से बढ़कर 155.34 करोड़ रुपये और इस दौरान रेवन्यू भी 37 फीसदी की सीएजीआर से उछलकर 606.23 करोड़ रुपये के स्तर पर पहुंच गया है।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co