ताइवान की कंपनी फॉक्सकॉन के सीईओ यंग लियू को पद्म भूषण से सम्मानित कर भारत ने चीन को चिढ़ाया

फॉक्सकॉन के 66 वर्षीय अध्यक्ष और मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) यंग लियू को पद्म भूषण से सम्मानित किया गया है।
Young Liu, Chairman and CEO of Foxconn with PM Modi
Young Liu, Chairman and CEO of Foxconn with PM ModiRaj Express

हाईलाइट्स

  • भारत की आर्थिक नीतियों के समर्थक माने जाते हैं यंग लियू

  • फॉक्सकॉन करीब 70 फीसदी आईफोन को असेम्बल करती है

  • दुनिया की सबसे बड़ी इलेक्ट्रॉनिक्स मैन्युफैक्चरर है फॉक्सकॉन

राज एक्सप्रेस । 66 वर्षीय मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) और ताइवान स्थित हाई टेक्नोलॉजी ग्रुप फॉक्सकॉन के 66 वर्षीय अध्यक्ष और मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) यंग लियू को पद्म भूषण से सम्मानित किया गया है। वह ताइवान की कंपनी होन हाई प्रिसिजन इंडस्ट्री कंपनी के सीईओ और अध्यक्ष हैं, जिसे आमतौर पर फॉक्सकॉन कहा जाता है। बता दें कि वह पहले विदेशी हैं, जिन्हें सरकार ने भारत का तीसरा सबसे बड़ा नागरिक सम्मान दिया है। हाल के दिनों में फॉक्सकॉन का देश में तेजी से विस्तार हो रहा है। दुनिया की सबसे बड़ी इलेक्ट्रॉनिक्स मैन्युफैक्चरर फॉक्सकॉन पीएम मोदी की आर्थिक नीतियों के प्रशंसक माने जाते हैं। हाल के दिनों में चीन के साथ तनाव बढ़ने के बाद उन्होंने अपना उत्पादन आधार बढ़ाकर भारत की ओर कर दिया है।

ताइवान के जाने माने उद्यमी हैं यंग लियू

यंग लियू जाने माने उद्यमी हैं। उन्हें उद्योगजगत में काम करने का चार दशक से अधिक का अनुभव है। उन्होंने तीन कंपनियों की स्थापना की है। उन्होंने 1988 में पहली मदरबोर्ड कंपनी यंग माइक्रो सिस्टम्स की स्थापना की है। इसके बाद उन्होंने 1995 में एक नॉर्थब्रिज और साउथब्रिज आईसी डिजाइन कंपनी की स्थापना की थी। यह कंपनी पीसी चिपसेट के लिए आईसी डिजाइन करती है। इसके बाद उन्होंने 1997 में आईटीईएक्स की स्थापना की। बाद के दिनों में यंग माइक्रो सिस्टम्स का 1994 में फॉक्सकॉन के साथ विलय कर दिया गया। जबकि आईटेक्स को 2001 में नास्डैक पर सूचीबद्ध किया गया। ताइवान के व्यवसायी यंग लियू ने 1978 में ताइवान के नेशनल चियाओ तुंग विश्वविद्यालय से इलेक्ट्रोफिजिक्स में स्नातक की डिग्री हासिल की।

भारत में बड़े पैमाने पर निवेश की योजना

लियू यंग इसके बाद वह दक्षिण कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय चले गए, जहां उन्होंने कंप्यूटर इंजीनियरिंग में मास्टर डिग्री हासिल की है। उल्लेखनीय है कि फॉक्सकॉन महत्वपूर्ण निवेश और उद्यमों की एक श्रृंखला के साथ, भारत में तेजी से अपनी उपस्थिति का विस्तार कर रही है। फॉक्सकॉन करीब 70 फीसदी आईफोन को असेम्बल करती है। उसकी आंध्रप्रदेश स्थित इकाई में 40,000 से अधिक लोग कार्यरत हैं। फॉक्सकॉन ने भारत में 1.6 बिलियन डॉलर से अधिक का निवेश करने की योजना है। कोविड के बाद कंपनी चीन के अलावा भारत में अपना विस्तार कर रही है। साल 2023 में दक्षिण भारत में कंपनी ने तेजी से अपना कारोबार फैलाया है। कंपनी की योजना अप्रैल 2024 तक भारत में आईफोन बनाने की है।

सबसे बड़ी कॉन्ट्रैक्ट मैन्युफैक्चरर है फॉक्सकॉन

फॉक्सकॉन दुनिया की सबसे बड़ी कॉन्ट्रैक्ट मैन्युफैक्चरिंग कंपनी है। कोरोना और चीन के साथ तनाव के बाद फॉक्सकॉन ने चीन बाहर अपनी उत्पादन सुविधाओं के विस्तार पर अपना ध्यान केंद्रित किया है। पिछले साल उन्होंने कहा था कि भारत में सुधार और नीतियों ने इलेक्ट्रॉनिक्स मैन्युफैक्चरिंग के लिए बहुत बड़े मौके दिए हैं। उन्होंने कहा था कि भविष्य में मैन्युफैक्चरिंग के लिए भारत बहुत महत्वपूर्ण देश होगा। बता दें कि पद्म भूषण भारत के सबसे बड़े सम्मानों में से एक है। इसे गणतंत्र दिवस के पहले दिया जाता है। इस साल 132 लोगों को पद्म भूषण से सम्मानित किया गया है।

भारत में इलेक्ट्रॉनिक्स मैन्युफैक्चरिंग का माहौल अनुकूल

ताइवान की कंपनी के चेयरमैन को भारत को तीसरा सर्वोच्च नागरिक सम्मान देकर भारत ने एक कूटनीतिक दांव चला है। चीन और मालदीव की बढ़ती नजदीकियों के बीच इस दांव से चीन को मिर्ची लग सकती है। दरअसल ताइवान में हाल ही में चीन विरोधी सरकार सत्ता में आई है। विदेशी मामलों के जानकारों का कहना है कि भारत ने पद्म भूषण दांव से चीन को बुरी तरह पस्त किया है। लियू यंग ही वही शख्स हैं, जिन्‍होंने चीन से फॉक्‍सकॉन के मैन्‍युफैक्‍चरिंग प्‍लांट को हटाकर भारत में शिफ्ट किया है। इससे चीन स्वाभाविक रूप से नाराज है। पिछले साल यंग कहा था कि भारत में सुधार और नीतियों ने इलेक्ट्रॉनिक्स मैन्युफैक्चरिंग के लिए बहुत बड़े मौके दिए हैं। उन्होंने कहा था भविष्य में मैन्युफैक्चरिंग के लिहाज से भारत महत्वपूर्ण देश है।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

और खबरें

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co