India, US, Israel to develop 5G technology
India, US, Israel to develop 5G technology |Kavita Singh Rathore -RE
व्यापार

चीन को अलग कर भी भारत डेवलप करेगा 5G टेक्नोलॉजी

चीन को अलग कर भारत अमेरिका और इजराइल मिलकर 5G कम्युनिकेशन नेटवर्क तैयार करने के लिए काम करेंगे। इन तीनों देशों के तीन टेक्नोलॉजी हब में 5G टेक्नोलॉजी पर रिसर्च किया जाएगा।

Kavita Singh Rathore

Kavita Singh Rathore

राज एक्सप्रेस। भारत और चीन के विवादों के चलते भारत ने चीन को हर क्षेत्र से पूरी तरह से अलग कर दिया है। इसके बावजूद भी भारत 5G टेक्नोलॉजी डेवलप करने पर विचार कर रहा है। 5G कम्युनिकेशन नेटवर्क तैयार करने के लिए भारत, अमेरिका और इजराइल मिलकर काम करेंगे। इन तीनों देशों के तीन टेक्नोलॉजी हब में 5G टेक्नोलॉजी पर रिसर्च किया जाएगा।

भारत करेगा 5G टेक्नोलॉजी डेवलप :

दरअसल, भारत पहले 5G टेक्नोलॉजी डेवलप करने के लिए चीन से मदद लेता था, परंतु अब भारत द्वारा पूर्ण रूप से चीन को बॉयकॉट करने के बाद भारत अमेरिका और इजराइल के साथ 5G टेक्नोलॉजी डेवलप करने की तैयारी कर रहा है। 5G टेक्नोलॉजी डेवलप करने के लिए तीनों देशों के टेक्नोलॉजी हब एक साथ काम करेंगे। बताते चलें, तीनों देशों में भारत का टेक्नोलॉजी हब बेंगलुरु, अमेरिका का सिलिकॉन वैली और इजराइल का तेल अवीव में स्थित है।

अमेरिका के ब्राजील को आदेश :

बताते चलें, अमेरिका द्वारा दो महीने पहले ब्राजील को साफ़ तौर पर आदेश दिए गए थे कि, 'ब्राजील 5जी नेटवर्क कॉन्ट्रैक्ट चीन की 'Hubei' कंपनीको न दे।' दरअसल, 5G टेक्नोलॉजी को लेकर तीनों देशों का मत एक ही है इन तीनों देशों में से एक भी यह नहीं चाहता है कि, 5G कम्युनिकेशन नेटवर्क तैयार करने के लिए चीन की कंपनियों की मदद ली जाए। यह तीनों देश एक साथ मिल कर 5G कम्युनिकेशन नेटवर्क का विस्तार करेंगे इस बारे में जानकारी एक अमेरिका के एक अधिकारी ने एक इंटरव्यू के दौरान साझा की थी। साथ ही उन्होंने कहा था कि,

भारत, अमेरिका और इजराइल पारदर्शी, खुला और भरोसेमंद 5जी नेटवर्क तैयार करेंगे।

अमेरिकी अधिकारी

तीन साल पहले शुरु हुई बातचीत :

खबरों की मानें तो, भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जब तीन साल पहले इजराइल गए थे, तब से ही 5G टेक्नोलॉजी डेवलप करने को लेकर बातचीत शुरु हुई थी। वहीं अब इसे तैयार करने के लिए काम शुरू हो चुका है। अमेरिकी एजेंसी USAID के एडमिनिस्ट्रेटर बोनी ग्लिक ने जानकारी देते हुए बताया है कि,

'हम नेक्स्ट जेनरेशन टेक्नोलॉजीस पर मिलकर काम कर रहे हैं। इसके बेहतरीन नतीजे सामने आएंगे। इस बारे में पिछले हफ्ते भारत, अमेरिका और इजराइल की बेहद अहम मीटिंग हो चुकी है। दूसरी टेक्नोलॉजी के अलावा हमारा मुख्य फोकस नेक्स्ट जेनरेशन 5जी टेक्नोलॉजी पर रहेगा।'

बोनी ग्लिक, USAID के एडमिनिस्ट्रेटर

तीनों देशों की मीटिंग :

बताते चलें, तीनों देशों यानि भारत अमेरिका और इजराइल के बीच एक वर्चुअल मीटिंग हुई थी। इस मीटिंग के दौरान में भारत और इजराइल के एम्बेसेडर भी शामिल हुए थे। 5G कम्युनिकेशन नेटवर्क तैयार करने में मुख्य भूमिका भारत और इजराइल की रहेगी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co