Missile Protection Suite
Missile Protection Suite |Kavita Singh Rathore -RE
व्यापार

अब विमान सुरक्षा हेतु भारत के पास भी होगा 'मिसाइल प्रोटेक्शन सुइट'

अब भारत सरकार ने प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति के विमानों की सुरक्षा का जिम्मा उठाया है। जिसके तहत भारत सुरक्षा प्रदान करने के मकसद से जल्द ही अमेरिका से 'मिसाइल प्रोटेक्शन सुइट' खरीदेगा।

Kavita Singh Rathore

Kavita Singh Rathore

हाइलाइट्स :

  • भारत के पास भी होगा 'मिसाइल प्रोटेक्शन सुइट'

  • राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री की यात्राओं में दिए जाते हैं विमान

  • दो बोइंग 777 विमान तैयार किये जाएंगे

  • भारतीय वायुसेना के अधिकारी बने कार्यशाला का हिस्सा

राज एक्सप्रेस। भारत में राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री को उनकी देश-विदेश की यात्राओं के लिए अलग से हवाई जहाज दिए गए हैं, जिसमें वह सुरक्षित रहते हैं। अब भारत सरकार ने उन हवाई जहाजों की सुरक्षा का जिम्मा उठाया है। जिसके तहत भारत प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति के विमानों को सुरक्षा प्रदान करने के मकसद से जल्द ही अमेरिका से 'मिसाइल प्रोटेक्शन सुइट' खरीदेगा।

कितने में होगी डील :

प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति के विमानों के लिए भारत यह 'मिसाइल प्रोटेक्शन सुइट' अमेरिका से 1200 करोड़ रुपए में खरीदेगा। भारत में इस सुइट के आने के बाद VVIP विमान बिलकुल सुरक्षित हो जाएंगे, इन पर किसी भी मिसाइल या इलेक्ट्रानिक हमले का भी कोई असर नहीं होगा। आपको बता दें, भारत-अमेरिका के बीच यह डील तब साइन हुई थी जब, अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रम्प भारत की दो दिवसीय यात्रा पर आये थे। जी हां तब ही यह सैन्य डील फाइनल हुई थी। डील में सुरक्षा सुइट से लैस दो बोइंग 777 विमान तैयार किये जाएंगे जिनका नाम एयरफोर्स वन कोड रखा जाएगा।

नए सुइट की खासियत :

नए सुइट की सबसे बड़ी खासियत यह है कि, इस सूट में इन्फ्रारेड और इलेक्ट्रॉनिक युद्ध के खतरे को मापने की क्षमता मौजूद है। इतना ही नहीं यह खतरा आने से पहले ही उसे भांपकर उससे हवाई जहाज को बचा सकते हैं। इस सुइट को मिसाइल वॉर्निंग सेंसर से लैस बनाया गया है। उम्मीद की जा रही है कि, यह सुइट तैयार होने के बाद भारत अगले साल के दौरान भारत आ जाएंगे। बताते चलें कि, हाल ही में भारतीय वायुसेना के अधिकारियों ने बोइंग की कार्यशाला में हिस्सा लिया था। कार्यशाला का हिस्सा बनने के बाद उन्हें VVIP विमानों में लगाए गए सुरक्षा सिस्टम से लैस सुइट से जुड़ी बहुत सी जानकारी प्राप्त हुई हैं।

VVIP विमान सैन्य :

अमेरिका से आये इन विमानों में बहुत अधिक मात्रा में सैन्य उपकरण मौजूद होंगे, इसी के चलते इसे VVIP विमान सैन्य वर्गीकरण में शामिल किया जाएगा। इसके अलावा हम आपको याद दिला दें कि, ट्रम्प की दो दिवसीय भारत यात्रा के दौरान भारत और अमेरिका के बीच 24 MH60 रोमियो मल्टी रोल हेलीकॉप्टर और छः नए अपाचे हेलीकॉप्टर खरीदने से जुड़ी डील हुई थी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co