देश की पहली प्राइवेट ट्रेन 'तेजस एक्सप्रेस' का संचालन हो जाएगा बंद

बहुत समय के इंतजार के बाद देश में हाल ही में पहली प्राइवेट ट्रेन तेजस एक्सप्रेस चलाई गई थी, लेकिन अब कुछ ऐसी खबर सामने आई है कि, देश में चलाई जा रही तेजस एक्सप्रेस ट्रेनें बंद कर दी जाएगी।
देश की पहली प्राइवेट ट्रेन 'तेजस एक्सप्रेस' का संचालन हो जाएगा बंद
indian first private train tejas express will be closedSyed Dabeer Hussain - RE

राज एक्सप्रेस। बहुत समय के इंतजार के बाद देश में हाल ही में पहली प्राइवेट ट्रेन तेजस एक्सप्रेस (Tejas Express) चलाई गई थी, लेकिन अब कुछ ऐसी खबर सामने आई है कि, देश में चलाई जा रही तेजस एक्सप्रेस ट्रेनें बंद कर दी जाएंगी। यानि की देश की पहली प्राइवेट ट्रेने एक बार फिर से यार्ड में खड़ी दिखाई देंगी। जानिए इन ट्रेनों को बंद करने का कारण आखिर क्या है।

बंद हो जाएगा तेजस एक्सप्रेस का संचालन :

देश में हाल ही में चलाई गई पहली प्राइवेट ट्रेन तेजस एक्सप्रेस को बंद करने की खबर सामने आई है। आपमें से कई लोग तो शायद कोरोना के चलते अब तक तेजस ट्रेन में सफर भी नहीं कर पाए होंगे और इसके बंद होने की बात सामने आगई है। दरअसल, इस ट्रेन को बंद करने का कारण भी हम लोग यानि यात्री ही हैं। तेजस ट्रेन को चलाने वाली सरकारी कंपनी इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन लिमिटेड (IRCTC) ने यात्रियों की कमी के चलते इन ट्रेनों को बंद करने का फैसला कर लिया है।

कब से होंगी बंद :

बता दें, नई दिल्ली से लखनऊ के बीच चलाई जा रही तेजस एक्सप्रेस का ऑपरेशन इसी 23 नवंबर से और अहमदाबाद से मुंबई के बीच चलाई जाने वाली तेजस एक्सप्रेस ट्रेन का संचालन इसी 24 नवंबर से बंद कर दिया जाएगा। बता दें, सरकारी कंपनी इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन लिमिटेड (IRCTC) रेल मंत्रालय का एक सार्वजनिक उपक्रम है। IRCTC के कर्मचारियों से प्राप्त जानकारी के अनुसार, दिवाली के आसपास तो ट्रेन में यात्रियों की संख्या ठीक थी, लेकिन उसके बाद से यात्रियों की संख्या में बहुत तेजी से गिरावट आ गई। इसलिए, ही IRCTC प्रबंधन ने तेजस ट्रेनों के सभी प्रस्थान रद्द करने का फैसला किया है।

IRCTC के प्रवक्ता ने बताया :

IRCTC के प्रवक्ता सिद्धार्थ सिंह ने इस मामले में बताया है कि, 'नई दिल्ली से लखनऊ के बीच चलने वाली तेजस एक्सप्रेस 23 नवंबर 2020 से अगले आदेश तक नहीं चलेगी। इसी तरह मुंबई और अहमदाबाद के बीच चलने वाली तेजस एक्सप्रेस आगामी 24 नवंबर से नहीं चलेगी।' उन्होंने आगे बताया कि, 'तेजस ट्रेन को चलाने में आमदनी कम है जबकि खर्चा ज्यादा है। इस ट्रेन को एक दिन चलाने का खर्च 15 से 16 लाख रुपये का खर्चा आता है। जबकि, इस पूरे ट्रेन में 50 से 60 पैसेंजरों की ही बुकिंग होती है। यदि प्रति यात्री के टिकट का किराया 1,000 रुपये औसत भी वसूला जाए तो भी पार्टी दिन के 50 से 60 हजार रुपये ही होते हैं। जबकि इस ट्रेन में एक बार में 758 पैसेंजरों की बुकिंग की जा सकती है।'

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co