रोहतांग: 540 करोड़ की लागत से निर्मित होगा भारत का सबसे बड़ा रोपवे
रोहतांग में सबसे ज्यादा उचाई पर देश के सबसे बड़े रोपवे का निर्माण होने जा रहा हैं। इसके निर्माण कार्य में लगभग 540 करोड़ रूपये की लागत लगेगी।
रोहतांग: 540 करोड़ की लागत से निर्मित होगा भारत का सबसे बड़ा रोपवे
India's Largest RopewaySyed Dabeer Hussain - RE

रोहतांग। भारत एक ऐसा देश है जो, ताजमहल, सरदार पटेल की मूर्ति जो दुनियाभर में सबसे बड़ी ईमारत के लिए जाना जाता है। इस तरह सैकड़ों स्थान भारत में मौजूद हैं। हाल ही में भारत को नई अटल टनल की सौगात मिली हैं। वहीं अब भारत के रोहतांग में भारत के सबसे बड़े रोपवे का निर्माण होने जा रहा है। जिसको बनाने के लिए लगभग 540 करोड़ रूपये की लागत लगेगी।

भारत का सबसे बड़ा रोपवे :

दरअसल, भारत में आए दिन कोई न कोई निर्माण कार्य जारी ही रहता है। जल्द ही भारत के रोहतांग में भारत का सबसे बड़ा यानि 8.01 किलोमीटर लंबा रोपवे निर्मित किया जाएगा। यह रोपवे कोठी से रोहतांग आने जाने के लिए तैयार किया जाएगा। इस रोपवे को तैयार करने के लिए करीबन 540 करोड़ का बजट तैयार किया गया है। रोपवे के निर्माण कार्य के लिए भारत के पर्यटन विभाग द्वारा रोहतांग रोपवे का पूरा सर्वे किया गया है। इसके बाद तैयार किया पूरा प्राक्कलन सरकार को सौंप दिया है। इस रोपवे के तैयार होने के बाद 2 से 3 घंटे का रास्ता मात्र 20 मिनट में पूरा किया जा सकेगा।

PM मोदी ने किया था प्रोजेक्ट का जिक्र :

बताते चलें, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 3 अक्तूबर को अटल टनल के उद्घाटन के समय में अपने भाषण में इस प्रोजेक्ट का जिक्र किया था। रोहतांग में बनने वाला यह रोपवे तीन चरणों में निर्मित किया जाएगा। तीनों चरणों के बाद यह रोपवे पूरा तैयार हो जाएगा। तीन चरण कुछ इस प्रकार किया जाएगा रोपवे का निर्माण -

  • पहले चरण में - मनाली के कोठी से गुलाबा तक रोपवे की लंबाई 1.2 किलोमीटर

  • दूसरे चरण में - गुलाबा से मढ़ी तक रोपवे की लंबाई 2.8 किलोमीटर

  • तीसरे और अंतिम चरण में - मढ़ी से रोहतांग दर्रे तक रोपवे की लंबाई 3.1 किलोमीटर

India's Largest Ropeway
India's Largest RopewaySocial Media

सबसे ऊंची जगह पर निर्मित होगा :

खबरों के अनुसार, रोहतांग में बनने वाला रोपवे देश का सबसे बड़ा या लंबा होने के साथ ही भारत की सबसे ऊंची जगह पर निर्मित होने वाला हैं। इसके निर्माण से सरकार का मकसद पर्यटकों को सुविधा प्रदान करना है। जो पर्यटक यहाँ सर्दी के मौसम में आते हैं वह इस रोपवे के बनने के बाद बर्फ के फाहों में रोहतांग दर्रे की भी सैर आराम से कर सकेंगे। कई सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए रोपवे में मढ़ी तथा रोहतांग दर्रे पर दो हेलीपैड भी बनाये जाएंगे।

सरकार की अनुमति :

भारत के सबसे लंबे इस रोपवे के निर्माण कार्य के लिए लगभग सभी प्रक्रियाएं पूरी हो चुकी हैं। इन सब के बाद इस प्रोजेक्ट को सिर्फ सरकार की अनुमति बाकि है। रोपवे के द्वारा इन सभी पर्यटन स्थलों को जोड़ा जाएगा। इनके बीच में कोठी से रोहतांग दर्रा भी आएगा।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co