देशी ब्लागिंग प्लेटफॉर्म Koo देगा Twitter को कड़ी टक्कर, स्विच हुए BJP नेता
देशी ब्लागिंग प्लेटफॉर्म Koo देगा Twitter को कड़ी टक्करSyed Dabeer Hussain - RE

देशी ब्लागिंग प्लेटफॉर्म Koo देगा Twitter को कड़ी टक्कर, स्विच हुए BJP नेता

भारत सरकार ने देशवासियों के लिए Twitter के स्थान पर एक अन्य दूसरा विकल्प ढूंढ निकाला है। जो पूर्ण रूप से स्वदेशी प्लेटफॉर्म है और इसका नाम 'कू ऐप' (Koo App) है।

राज एक्सप्रेस। पिछले कुछ समय से लगातार सोशल नेटवर्किंग साइट Twitter विवादों में घिरती चली जा रही है। क्योंकि, इसी प्लेटफॉर्म के माध्यम से कृषि कानून और किसान आंदोलन को लेकर गलत जानकारी फैलाई जा रही है। इतना ही नहीं किसानों के प्रदर्शन पिछले दिनों Twitter पर भी नजर आया क्योंकि, Twitter पर इसी को लेकर चर्चा चल रही थी और जो मन में आरहा था वो बयान दे रहे थे। इसी के चलते केंद्र सरकार ने Twitter के खिलाफ सख्त रवैया अपनाने की चेतावनी देते हुए 1178 पाकिस्तानी-खालिस्तानी अकाउंट बैन करने के आदेश दिए थे, लेकिन अब सरकार किसी और इरादे में ही नजर आ रही है।

क्या है सरकार का यह इरादा ?

दरअसल, पिछले साल सरकार ने चीन की एप्स को लेकर सख्त रवैया अपनाया था तो उसका क्या अंजाम था यह सब जानते हैं, लेकिन यदि आप Twitter यूजर हैं तो आप घबराइए मत क्योंकि, सरकार इसे बैन करने पर विचार नहीं कर रही है बल्कि, भारत सरकार ने देशवासियों के लिए Twitter के स्थान पर एक अन्य दूसरा विकल्प ढूंढ निकाला है। जो पूर्ण रूप से स्वदेशी प्लेटफॉर्म है और इसका नाम 'कु ऐप' (Koo App) है। सरकार का इरादा इस एप के द्वारा Twitter को मुँह तोड़ जबाव देने का नजर आरहा है।

भारत ने तैयार किया खुद का स्वदेशी ब्लागिंग प्लेटफॉर्म :

जी हां, आपको जानकार हैरानी हो रही होगी, लेकिन यह सच है कि, भारत ने भी खुद का स्वदेशी ब्लागिंग प्लेटफॉर्म कु (Koo App) तैयार कर लिया है। बता दें, दुनियाभर में अब तक खबरों के प्रसार के लिए सबसे अच्छा, उचित और तेज प्लेटफ्रॉम Twitter ही मन जाता था, लेकिन अब हो सकता है भारत में इसका इस्तेमाल बहुत काम स्तर पर किया जाये क्योंकि, अब भारतवासियों को एक स्वदेशी ब्लागिंग प्लेटफॉर्म मिल गया है। इतना ही नहीं इसे एक कंपटीशन के बाद आईटी मंत्रालय ने चुना था। बताते चलें, पिछले कुछ समय से भारत के प्रधानमंत्री देश में स्वदेशी प्रोडक्ट्स को काफी बढ़ावा दे रहे है। जिससे भारत आत्मनिर्भर भारत बन सके। इसी राह में ये ऐप भी लांच किया गया है जिससे भारत के लोग अपने देश की बनी ऐप का इस्तेमाल करें।

तेजी से हो रहा डाउनलोड :

दरअसल 26 जनवरी लाल किले पर हुई घटना को लेकर Twitter का कहना है कि, ये अभिव्यक्ति की आज़ादी है लोग इस बारे में कुछ भी बोल सकते है। क्योंकि, सरकार के कई बार नोटिस जारी करने के बाद भी Twitter ने इस मामले पर कोई रिएक्शन नहीं लिया। इस बात को लेकर भारतवासियों के मन में भी Twitter को लेकर गुस्सा है। ऐसा माना जा रहा है कि, इसी के फलस्वरूप आज लोग Twitter की जगह देशी माइक्रोब्लॉगिंग साइट Koo App पर तेजी से स्विच कर रहे हैं। इसके अलावा मोदी सरकार के मंत्री भी अब भारतीय माइक्रो ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म Koo को बढ़ावा दे रहे हैं।

इन नेताओं ने अपनाया Koo App :

बता दें अब तक केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद, पीयूष गोयल और स्मृति ईरानी ने जैसे दिग्गज नेताओं ने Koo प्लेटफॉर्म पर अपना अकाउंट भी बना लिया है और इसे इस्तेमाल करना भी शुरू कर दिया है। उम्मीद तो यह भी है कि जल्द ही अन्य दूसरे भी सभी मंत्री Twitter को छोड़कर Koo App को ही अपना लेंगे। इसके अलावा BJP प्रवक्ता संबित पात्रा ने भी Koo App पर होने की जानकारी अकाउंट का लिंक भी शेयर करके दी। संबित पात्रा ने Twitter पर ही बताया कि,

'मित्रों अब मैं Koo पर हूं।'
संबित पात्रा, BJP प्रवक्ता

गौरतलब है कि, Koo App भले ही अभी चर्चा में है लेकिन इससे पहले वह आत्मनिर्भर भारत एप्लीकेशन चैलेंज में भी हिस्सा ले चुकी है। इसके अलावा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने Koo App की चर्चा मन की बात कार्यक्रम में भी की थी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

AD
No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co