Vodafone-Idea के नेटवर्क अचानक हो सकते हैं गोल
Vodafone-Idea के नेटवर्क अचानक हो सकते हैं गोलKavita Singh Rathore -RE

Vodafone-Idea के नेटवर्क अचानक हो सकते हैं गोल, इंडस टावर्स ने दी VI को धमकी

आज भी देश में एक बड़ा वर्ग है जो VI पर विश्वसनीयता दिखाते हुए कंपनी के नेटवर्क का इस्तेमाल कर रहे हैं। ऐसे में यदि VI के नेटवर्क अचानक गोल हो जाये तो, ग्राहकों को कितनी परेशानी का सामना करना पड़ेगा।

राज एक्सप्रेस। देश में Reliance Jio की एंट्री के बाद से लगभग सभी टेलिकॉम कंपनियां या तो मर्ज हो गई है या बंद हो गई है। इसके बाद अब देश में कुल 3 ही टेलिकॉम कंपनियां संचालन करती है, Jio, Airtel और Vodafone-Idea (VI) हैं। Vodafone और Idea के मर्ज होने के बाद VI कंपनी बनी। अब देश भर में ज्यादातर ग्राहक या तो Jio के है या Airtel के। इसके अलावा अब भी देश का एक बड़ा वर्ग ऐसा है जो VI पर विश्वसनीयता दिखाते हुए VI कंपनी के नेटवर्क का इस्तेमाल कर रहे हैं। ऐसे में सोचिएं, यदि VI के नेटवर्क अचानक गोल हो जाये तो ग्राहकों को कितनी परेशानी का सामना करना पड़ेगा।

Vodafone-Idea के नेटवर्क हो सकते हैं गायब :

दरअसल, आज इस्तेमाल करने वाली जरूरत की चीजों में एक सबसे जरूरी चीज मोबाईल फोन भी हो गया है। वहीं, यदि फोन का नेटवर्क चला जाए तो, बहुत से कार्य रुक सकते हैं। ऐसा ही कुछ Vodafone-Idea (VI) के ग्राहकों के साथ कभी भी हो सकता है। क्योंकि, इंडस टावर्स द्वारा VI को नेटवर्क बंद करने की धमकी दी गई है। बता दें, पिछले काफी समय से कर्ज में डूबी टेलिकॉम कंपनी Vodafone-Idea (VI) पर अब भी इंडस टावर्स का लगभग 7000 करोड़ रुपये कर्ज बकाया है। जो पिछले सफी समय से कंपनी द्वारा भुगतान नही किया जा रहा है। इसलिए इंडस टावर्स ने कंपनी को धमकी दी है कि, यदि कंपनी ने जल्द से जल्द यह कर्ज नहीं चुकाया तो नवंबर से कंपनी टावर्स का इस्तेमाल नहीं कर सकेगी।

महीने भर का समय दिया है :

बताते चलें, इंडस टावर्स द्वारा दी गई धमकी में नवंबर से कंपनी टावर्स का इस्तेमाल नहीं करने की बात कही गई है। इसका सीधा मतलब यह है कि, कंपनी को पूरे एक महीने का समय मिला है कि, वह कर्ज चुका दे। यदि इस एक महीने में Vodafone-Idea (VI) कर्ज नही चुकाती है तो कंपनी के वर्तमान समय में मौजूद 25.5 करोड़ ग्राहकों के मोबाइल के नेटवर्क अपने आप ही बंद हो जाएंगे। जिससे ग्राहकों को बड़ी मुश्किल का सामना करना पड़ेगा। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो, इंडस टावर्स की तरफ से VI को चिट्ठी लिखकर यह चेतावनी दी गई है। इससे पहले बीते सोमवार को इंडस टावर्स के बोर्ड की मीटिंग हुई थी। इस मीटिंग के दौरान कंपनी की वित्तीय स्थिति पर चर्चा हुई थी। तब यह बात सामने आई कि, VI पर लगभग इंडस टावर्स का सात हजार करोड़ रुपये का बकाया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co