फ्लाइट कैंसिल होने पर मिलेगा 2 लाख तक का बीमा कवर, जानिए और क्या मिल सकते हैं लाभ

शीतलहर और घने कोहरे की वजह से हवाई यातायात अव्यवस्थित हो गया है। कई फ्लाइट्स विलंब से चल रही हैं, जबकि कई को कैंसिल भी करना पड़ता है।
Fog hinders flights
Fog hinders flightsRaj Express

हाईलाइट्स

  • शीतलहर व घने कोहरे की वजह से हवाई यातायात अव्यवस्थित हो गया है

  • ऐसे में कई फ्लाइट्स विलंब से चल रहीं और कई को स्थगित करना पड़ता है

  • ऐसी स्थिति में ट्रैवेल इंस्योरेंस आपके लिए काफी सहायक हो सकता है

राज एक्सप्रेस । उत्तर भारत में चल रही शीतलहर और घने कोहरे की वजह से हवाई यातायात बुरी तरह से अव्यवस्थित हो गया है। इसकी वजह से कई फ्लाइट्स विलंब से चल रही हैं, जबकि कई को कैंसिल भी करना पड़ता है। ऐसी स्थिति में यात्रियों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है। ऐसी स्थिति में ट्रैवेल इंस्योरेंस आपके लिए काफी सहायक हो सकता है। ट्रैवल इंश्योरेंस के जरिये फ्लाइट डिले या स्थगित होने की स्थिति में यात्रियों को 2 लाख रुपये तक का कवर मिल सकता है।

समझ सीजिए कि अगर आपकी फ्लाइट डिले या कैंसिल होती है तो उस स्थिति में आपको क्या करना चाहिए? दरअसल डीजीसीए के नियमों के अनुसार अगर कोई फ्लाइट विलंब से चली है या स्थगित हो जाती है, तो एयरलाइन यात्री को वैकल्पिक उड़ान का विकल्प देगी या फिर फ्लाइट की टिकट के पूरे रिफंड के अलावा मुआवजा भी देगी। अगर कोई यात्री वैकल्पिक

उड़ान की प्रतीक्षा कर रहा है, तो विमानन कंपनी उस यात्री को भोजन और जलपान की सुविधा देगी। उड़ान ज्यादा डिले होने की स्थिति में होटल की सुविधा भी उपलब्ध कराएगी।

लेकिन यहां यह जानना जरूरी है कि कोई फ्लाइट किसी अप्रत्याशित घटना की वजह से कैंसिल या डिले होती है, तो उस स्थिति में वह इस प्रकार की सुविधाएं देने के लिए बाध्य नहीं है। घने कोहरे की वजह से विमान को उड़ान भरने के लिए मौसम में सुधार की प्रतीक्षा करनी पड़ती है। इस वजह से कई बार फ्लाइट देरी से उड़ान भरती है। फ्लाइट के डिले होने पर ट्रैवल इंश्योरेंस एक सुरक्षा कवच के तौर पर काम करती है।

ट्रैवल इंश्योरेंस की पॉलिसी में उल्लेखित निर्धारित से परे उड़ान में देरी पर इंश्योरेंस कंपनी उन सभी आकस्मिक खर्चों के लिए मुआवजा देती है। अगर आपके ट्रैवल इंश्योरेंस में आपकी विदेश यात्रा भी शामिल है तो यह सोने पर सुहागा है। अगर फ्लाइट निर्धारित समय से देरी से उड़ान भरती है तब इंश्योरेंस कंपनी बीमाधारक को एक निश्चित राशि का पेमेंट करती है। अगर देरी की वजह से आपको किसी होटल में रुकना पड़ता है तो कई इंश्योरेंस कंपनियां होटल के खर्चे को भी कवर करती हैं। अगर फ्लाइट किसी वजह से स्थगित हो जाती है तो इंश्योरेंस कंपनी यात्री को 2 लाख रुपये तक का बीमा कवर देती है।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

और खबरें

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co