DGCA ने बढ़ाई शेड्यूल इंटरनेशनल फ्लाइट्स पर लगे प्रतिबंध की अवधि
DGCA ने बढ़ाई शेड्यूल इंटरनेशनल फ्लाइट्स पर लगे प्रतिबंध की अवधिSyed Dabeer Hussain - RE

DGCA ने बढ़ाई शेड्यूल इंटरनेशनल फ्लाइट्स पर लगे प्रतिबंध की अवधि

देश में लगातार बढ़ रहे कोरोना के मामलों को मद्देनजर रखते हुए भारत के डायरेक्टोरेट जनरल ऑफ सिविल एविएशन (DGCA) ने शेड्यूल इंटरनेशनल फ्लाइट्स पर लगे प्रतिबंध की अवधि को बढ़ाने का ऐलान कर दिया है।

राज एक्सप्रेस। वर्तमान में पूरी दुनिया कोरोना के खौफ में जी रही है और इससे बचाव के लिए कोरोना से जुड़े सभी नियमों का पालन कर रही है। इतना ही नहीं भारत की राज्य सरकारें अपने लेवल पर कोरोना से रोकथाम के लिए उपाय कर रही है। किसी राज्य में वीकएंड लॉकडाउन लगाया गया है तो कई कोरोना कर्फ्यू। इसी बीच पिछले दिनों कई देशों ने भारत से आने-जाने वाली सभी फ्लाइट्स पर रोक लगा दी थी। वहीं, अब भारत के डायरेक्टोरेट जनरल ऑफ सिविल एविएशन (DGCA) ने शेड्यूल इंटरनेशनल फ्लाइट्स पर प्रतिबंध लगा दिया है।

DGCA ने फिर बढ़ाई प्रतिबंध की अवधि :

दरअसल, देश में कोरोना का आंकड़ा थमने का नाम नहीं ले रहा है। हर दिन 1 से 2 लाख तक मामले सामने आरहे हैं। इन बढ़ते हुए मामलों को मद्देनजर रखते हुए डायरेक्टोरेट जनरल ऑफ सिविल एविएशन (DGCA) ने शेड्यूल इंटरनेशनल फ्लाइट्स को रद्द करने का ऐलान किया था। जिसकी अवधि अब DGCA ने एक बार फिर बढ़ा कर 30 जून 2021 तक कर दी है। DGCA ने इस मामले में जानकारी देने के लिए नोटिफिकेशन जारी कर दिया है।

कार्गो फ्लाइट्स नहीं होंगी रद्द :

DGCA द्वारा जारी किए गए नोटिफिकेशन के मुताबिक, 'सभी इंटरनेशनल कार्गो उड़ानों और DGCA की ओर से अनुमति प्राप्त उड़ानों पर यह प्रतिबंध लागू नहीं होगा।' सीधे शब्दों में कहें तो, कार्गो और अन्य ऐसी सभी फ्लाइट्स भी जारी रहेंगी, जिनके अनुमति प्राप्त है। इनके अलावा वंदे भारत मिशन और ट्रैवल बबल वाली सभी शेड्यूल्ड फ्लाइट भी पहले की तरह ही जारी रहेंगी।

DGCA को उठाना पड़ा नुकसान :

बताते चलें, पिछले साल देशभर में कोरोना की एंट्री के बाद से 23 मार्च, 2020 को प्रधानमंत्री द्वारा लागू किए गए लॉकडाउन से इंटरनेशनल फ्लाइट्स पर रोक लगा दी गई थी, लेकिन जरूरतों को देखते हुए मई 2020 से कुछ विशेष इंटरनेशनल फ्लाइट्स वंदे भारत मिशन के तहत शुरू कर दी गई। इन फ्लाइट्स के माध्यम से विदेशों में फंसे यात्रियों को भारत वापस लाया गया। इनके अलावा 27 देशों के साथ एयर बबल समझौता किया गया। हालांकि, इस दौरान इंटरनेशनल फ्लाइट्स बंद रहने के चलते भारतीय विमानन उद्योग को काफी नुकसान उठाना पड़ा। जिससे उबरने की कोशिश DGCA लगातार कर रहा है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co