सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम में 12 से 16 फरवरी के बीच कीजिए निवेश, आपको मिलेगा बेहतरीन रिटर्न

आपके पास एक बार फिर सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड में निवेश करने का बेहतीन अवसर है। गोल्ड बॉन्ड स्कीम के तहत आप 12 से 16 फरवरी के बीच सोने में निवेश कर सकते हैं।
Invest in Sovereign Gold Bond
Invest in Sovereign Gold BondRaj Express

हाईलाइट्स

  • सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड का सब्सक्रिप्शन खोलने वाला है आरबीआई

  • डिजिटल गोल्ड में निवेश करना कई तरह से होता है लाभदायक

  • सॉवरिन गोल्ड बॉन्ड सरकारी प्रतिभूति है, यह बेहद सुरक्षित है

राज एक्सप्रेस। आपके पास एक बार फिर सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड में निवेश करने का बेहतीन अपसर है। सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम 2023-24 के तहत आप 12 से 16 फरवरी के बीच सोने में निवेश कर सकते हैं। भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड का सब्सक्रिप्शन खोलने वाला है। उल्लेखनीय है कि अगर आप सोने में निवेश करना चाहते हैं तो आप डिजिटल गोल्ड में निवेश कर सकते हैं। बता दें कि भारत सरकार ने भौतिक सोने के बदले वैकल्पिक निवेश की पेशकश करने के लिए नवंबर 2015 में सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड (एसजीबी) योजना शुरू की थी।

तेजी से बढ़ रहा है एसजीबी में निवेश

उल्लेखनीय है कि इसकी वजह से पिछले कुछ सालों में बाजार में भौतिक सोने की मांग में काफी गिरावट देखने को मिली है। एसजीबी सरकारी प्रतिभूतियां हैं और इसे बेहद सुरक्षित माना जाता है। उनका मूल्य सोने के ग्राम के गुणकों में दर्शाया जाता है। एसजीबी में निवेशकों की संख्या में उल्लेखनीय वृद्धि देखने को मिली है, इसे भौतिक सोने का विकल्प माना जा सकता है। सीरीज-4 में सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड 12 से 16 फरवरी के बीच खरीद सकते हैं। 21 फरवरी डेट आफ इस्यूएंस है।

एक ग्राम से लेकर चार किग्रा तक कीजिए निवेश

इस योजना के तहत आप एक ग्राम से लेकर चार किलोग्राम तक सोने में निवेश कर सकते हैं। इस निवेश पर 2.5 फीसदी सालाना ब्याज मिलना तय है। यह सावरेन गोल्ड बांड किस दर पर जारी होगा इसकी अब तक घोषणा नहीं की गई है। दिसंबर 2023 में आरबीआई ने सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड मे्ं निवेश के लिए अपनी सीरीज के लिए 6199 रुपए प्रति ग्राम मूल्य निर्धारित किया था।

पोर्टफोलियो में रखिए गोल्ड बॉंड, मिलेगा अच्छा रिटर्न

इससे पहले सितंबर 2023 में 5,923 रुपए प्रति दस ग्राम मूल्य निर्धारित किया गया था। आपको अपने पोर्टफोलियो में सोने को जरूर रखना चाहिए। यह निवेश का सबसे बेहतरीन माध्यम है। कम जोखिम की वजह से सावरेन गोल्ड बांड में किया गया निवेश आपको अच्छा खासा रिटर्न देता है। मौतिक रूप से सोना खरीदने की तुलना में सॉवरिन गोल्ड बॉन्ड के रूप में सोना खरीदने की लागत काफी कम है। इसे बेचना भी उतना ही आसान है।

इलेक्ट्रानिक फॉर्म में होने के कारण चोरी संभव नहीं

बहुत सारे लोग भौतिक रूप से सोना खरीदना पसंद नहीं करते, क्योंकि उसके रख-रखाव को लेकर लगातार सावधानी बरतनी होती है। लेकिन अगर आप इन परेशानियों से नहीं गुजरना चाहते तो सॉवरिन गोल्ड बॉन्ड आपके लिए सेबसे बेहतर विकल्प है। सॉवरिन गोल्ड बॉन्ड खरीदना बेहद आसान है। इसे आप अपने डीमैट अकाउन्ट में स्टोर कर सकते हैं। इलेक्ट्रानिक फॉर्म में होने के कारण इसकी सुरक्षा को लेकर आपको चिंता करने की जरूरत नहीं है।

क्या है बॉन्ड खरीदने का पात्रता मापदंड

कोई भी भारतीय व्यक्ति, ट्रस्ट, एचयूएफ, धर्मार्थ संस्थान और विश्वविद्यालय - एसजीबी में निवेश कर सकता है। आप किसी नाबालिग की ओर से भी सॉवरिन गोल्ड बॉन्ड में निवेश कर सकते हैं। केंद्र सरकार की ओर से केवल भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ही एसबीजी जारी कर सकता है और उनका स्टॉक एक्सचेंज में कारोबार किया जाता है। सॉवरिन गोल्ड बॉन्ड एक ग्राम सोने के गुणकों में जारी किया जाता है।

यह है सॉवरिन गोल्ड बॉन्ड ब्याज दर/रिटर्न

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड पर ब्याज आईटी अधिनियम, 1961 के प्रावधानों के अनुसार कर योग्य है। एसजीबी के लिए वर्तमान ब्याज दर आपके प्रारंभिक निवेश पर 2.50% प्रति वर्ष है। इसका भुगतान साल में दो बार (अर्ध-वार्षिक) 8 साल तक, यानी परिपक्वता तक किया जाता है। ब्याज सीधे आपके खाते में जमा किया जाएगा, जिसे आपने निवेश करते समय साझा किया था। रिटर्न आमतौर पर सोने की मौजूदा बाजार कीमत से जुड़ा होता है।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

और खबरें

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co