आयरलैंड के डाटा नियामक ने Twitter पर लगाया करोड़ों का जुर्माना
Ireland data regulator fined on TwitterSocial Media

आयरलैंड के डाटा नियामक ने Twitter पर लगाया करोड़ों का जुर्माना

दुनियाभर के सबसे बड़ी और दिग्गज माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर Twitter पर बग के चलते आयरलैंड के डाटा नियामक द्वारा 4,50,000 यूरो यानी करीब चार करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया है।

राज एक्सप्रेस। दुनियाभर की सभी कंपनियों के लिए हर देश में कोई न कोई खास नियम बनाये गए हैं। यदि यह कंपनियां इन नियमों का पालन नहीं करती है तो, इन पर देश की सरकार द्वारा जुर्माना लगाया जाता है। ऐसे ही अब आयरलैंड द्वारा दुनियाभर के सबसे बड़ी और दिग्गज माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर Twitter पर करोड़ों रूपये का जुर्माना लगाया है।

Twitter पर लगा करोड़ों का जुर्माना :

दरअसल, माइक्रो ब्लॉगिंग साइट Twitter पर बग के चलते आयरलैंड के डाटा नियामक द्वारा 4,50,000 यूरो यानी करीब चार करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया है। Twitter पर यह जुर्माना एक ऐसे बग के चलते लगा है जिसके कारण कई लोगों के प्राइवेट ट्वीट भी पब्लिक हो गए थे। बता दें, नए यूरोपियन यूनियन डाटा प्राइवेसी सिस्टम के अंतर्गत आने वाली किसी अमेरिकी कंपनी पर होने वाली यह अपने तरह की पहली कार्रवाई है। यूरोपियन यूनियन द्वारा साल 2018 में जनरल डाटा प्रोटेक्शन रेगुलेशन (GDPR) लागू किया गया था।

जनरल डाटा प्रोटेक्शन रेगुलेशन :

बताते चलें, आयरलैंड द्वारा Twitter के खिलाफ की गई यह कार्रवाई इसी जनरल डाटा प्रोटेक्शन रेगुलेशन (GDPR) के तहत की है। खबरों की मानें तो, GDPR के तहत Twitter के खिलाफ की गई यह कार्रवाई पहली बार की गई है। बता दें, पिछले साल भी Twitter के एंड्रॉयड ऐप में एक बग आया था तब भी कुछ ऐसा ही हुआ था कई यूजर्स के प्राइवेट ट्वीट अपने आप ही पब्लिक हो गए थे, लेकिन तब कंपनी पर जुर्माना नहीं लगाया गया था, परंतु इस बार यह जुर्माना इसलिए लगाया गया क्योंकि, Twitter ने तत्काल प्रभाव से इस बग से जुड़ी जानकारी अपने यूजर्स को नहीं दी। इस बारे में Twitter का बयान भी सामने आचुका है।

Twitter का बयान :

Twitter के सामने आए बयान में कंपनी ने कहा है कि, 'यह बग साल 2018 में क्रिसमस की छुट्टियों के दौरान आया था और अधिकतर कर्मचारी छुट्टी पर थे, इसलिए इसके बारे में यूजर्स को जानकारी देने में देर हुई। हम इस गलती की पूरी जिम्मेदारी लेते हैं और अपने यूजर्स के डाटा और प्राइवेसी की सुरक्षा को लेकर प्रतिबद्ध हैं। हमारी कोशिश रहेगी कि, यदि इस तरह की कोई समस्या आती है तो यूजर्स को सबसे पहले जानकारी दी जाए।'

कंपनी ने मांगी थी माफी :

बताते चलें, पिछले साल इस तरह की समस्या आने के बाद Twitter ने जान के बाद इस बग की पहचान जनवरी 2019 में की गई थी। जबकि, यह इस तरह की परेशानी 3 नवंबर 2014 से 14 जनवरी 2019 तक लोगों के अकाउंट में आई थी। हालांकि इस बग का असर सिर्फ एंड्रॉयड यूजर्स के अकाउंट पर ही हुआ था और तब कंपनी ने अपने यूजर्स से साल 2019 में माफी भी मांगी थी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co