इटली ने Google द्वारा मनमानी करने पर लगाया करोड़ों का जुर्माना
इटली ने Google द्वारा मनमानी करने पर लगाया करोड़ों का जुर्मानाSocial Media

इटली ने Google द्वारा मनमानी करने पर लगाया करोड़ों का जुर्माना

IT सेक्टर की बहुचर्चित कंपनी Google पर इटली के 'Antitrust Watchdog' द्वारा जुर्माना लगाया गया है। बता दें, कंपनी पर यह जुर्माना अपनी मनमानी करने के चलते लगा है।

राज एक्सप्रेस। दुनियाभर की सभी कंपनियों के लिए हर देश में कोई न कोई खास नियम बनाये गए हैं। यदि यह कंपनियां इन नियमों का पालन नहीं करती है या किसी भी बात को लेकर अपनी मनमानी करती है तो, इन पर जुर्माना लगाया जाता है। ऐसे ही अब IT सेक्टर की बहुचर्चित कंपनी Google पर इटली के 'Antitrust Watchdog' द्वारा जुर्माना लगाया गया है। बता दें, कंपनी पर यह जुर्माना अपनी मनमानी करने के चलते लगा है।

इटली ने लगाया Google पर जुर्माना :

जी हां, इटली के antitrust watchdog ने Google कंपनी पर 904 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया है। क्योंकि, Google पर आरोप लगा है कि, कंपनी ने इलेक्ट्रिक वाहनों के चार्जिंग स्टेशन का पता बताने वाले एक सरकारी मोबाइल एप को अपने एंड्राइड ऑटो प्लेटफॉर्म पर काम नहीं करने दिया। यह एक तरह का नियमों का उलंघन है जो कि, Google कंपनी पहले भी कर चुकी है। पिछले बार लगे आरोप के तहत कंपनी ने अपनी dominant position का दुरुपयोग किया था।

AGCM के कंपनी को आदेश :

इटली की प्रतिस्पर्धा व बाजार अथॉरिटी (AGCM) ने गूगल को जूसपास को एंड्राइड ऑटो पर तत्काल उपलब्ध करवाने के आदेश जारी किए है। इस बारे में जानकारी देते हुए AGCM ने कहा कि, 'लगभग हर दूसरे स्मार्टफोन में इस्तेमाल हो रहे अपने ऑपरेटिंग सिस्टम एंड्राइड से मिले एकाधिकार का दुरुपयोग कर उसने प्रतियोगिता को खत्म करने की कोशिश की। अपने एप स्टोर गूगल प्ले का भी गलत इस्तेमाल कर एप की उपयोगकर्ताओं तक पहुंच को सीमित कर दिया।'

AGCM के आदेश के खिलाफ याचिका :

इस मामले में Google के प्रवक्ता ने एक प्रेस में कहा कि, 'वह AGCM के आदेश से सहमत नहीं है और इसके खिलाफ याचिका दाखिल करेंगे।' बताते चलें, इटली में इलेक्ट्रिक वाहन इस्तेमाल कर रहे लोगों की सुविधा के लिए इटली सहित यूरोपीय संघ में 95 हजार सार्वजनिक चार्जिंग स्टेशन निर्मित किए हैं। इन्हीं लोगों को सुविधा प्रधान करने के मकसद से इटली की सरकारी संस्था एनिल की एक शाखा एनिल - एक्स ने जूसपास नामक एप तैयार किया है। जिसे Google ने अपने एंड्राइड ऑटो प्लेटफॉर्म पर चलने नहीं दिया।

शिकायतों के आधार पर की गई जांच :

AGCM को की गई शिकायत में बताया गया कि, 'करीब दो साल से Google ने जूसपास को चलाने की अनुमति नहीं दी। इन शिकायतों के आधार पर इस मामले की जाँच की गई जो सही मानते हुए AGCM ने कहा कि, एप को अपने प्लेटफार्म पर रोक कर Google ने गलत किया।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co