Gautam Adani
Gautam AdaniRaj Express

करण बने अडाणी पोर्ट्स के प्रबंध निदेशक,अश्विनी संभालेंगे कंपनी के मुख्य कार्यकारी की जिम्मेदारी

अडाणी पोर्ट्स एंड स्पेशल इकोनॉमिक जोन ने बोर्ड में गौतम अडाणी को एग्जीक्यूटिव चेयरमैन, करण अडाणी को प्रबंध निदेशक और अश्वनी गुप्ता को सीईओ नियुक्त किया गया है।

हाईलाइट्स

  • अडाणी पोर्ट्स के के एग्जीक्यूटिव चेयरमैन होंगे गौतम अडाणी

  • ग्रुप के रणनीतिक विकास की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं करण

  • नवनियुक्त सीईओ अश्वनी गुप्ता 4 जनवरी 2024 से पद संभालेंगे।

राज एक्सप्रेस। अडाणी समूह की शेयर बाजार में लिस्टेड दस कंपनियों में से एक अडाणी पोर्ट्स एंड स्पेशल इकोनॉमिक जोन लिमिटेड ने बुधवार को अपने बोर्ड में बदलाव कर दिया है। इस बदलाव के अनुसार गौतम अडाणी को कंपनी का एग्जीक्यूटिव चेयरमैन, जबकि उनके बेटे करण अडाणी को प्रबंध निदेशक और अश्वनी गुप्ता को सीईओ नियुक्त किया गया है। उल्लेखनीय है कि करण अडाणी, गौतम अडाणी के बेटे हैं। उन्होंने अमेरिकी विश्वविद्यालट से अर्थशास्त्र में ग्रेजुएशन किया है। उन्होंने मुंद्रा पोट्स पर ऑपरेशन की बारीकियों को सीखते हुए अपने कारोबारी करियर की शुरुआत की थी। करण अडाणी 2009 से अडाणी समूह के रणनीतिक विकास की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं।

इसके साथ ही बोर्ड ने नॉन-कन्वर्टिबल डिबेंचर (एनसीडी) के माध्यम से 5,000 करोड़ रुपए जुटाने को भी मंजूरी दे दी है। आंतरिक पुनर्गठन की वजह से कंपनी के निदेशक मंडल ने नॉमिनेशन एंड रेमुनरेशन कमेटी की सिफारिश पर यह मंजूरी दी है। कंपनी के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर गौतम अडाणी को 4 जनवरी, 2024 से उनके वर्तमान कार्यकाल के अंत तक यानी 30 जून, 2027 तक कार्यकारी अध्यक्ष के रूप में पुनः नामित किया गया है। नई नियुक्ति के दौरान पूर्व के नियम और शर्तें ही लागू रहेंगी। कंपनी के चीफ एग्जीक्यूटिव ऑफिसर (सीईओ) के रूप में नियुक्त किए गए अश्वनी गुप्ता 4 जनवरी 2024 से अपना पद संभालेंगे। उन्हें होल-टाइम डायरेक्टर भी बनाया गया है। उनकी नियुक्ति तीन साल के लिए की गई है। उनकी नियुक्ति शेयरहोल्डर्स की मंजूरी के अधीन है।

बता दें कि अडाणी समूह देश का सबसे बड़ा पोर्ट आपरेटर है। अडाणी समूह देश के 13 सबसे बड़े बंदरगाहों का संचालन करता है। दो दशकों से भी कम समय में, अडाणी पोर्ट्स ने पूरे देश में बंदरगाहों के बुनियादी ढांचे और सेवाओं के एक पोर्टफोलियो का निर्माण, अधिग्रहण और विकास किया है। इसके 13 पोर्ट और टर्मिनल देश की पोर्ट कैपेसिटी का करीब 24 फीसदी का प्रतिनिधित्व करते हैं। इसकी क्षमता 580 एमएमटीपीए है। इसे 26 मई 1998 को इनकॉर्पोरेट किया गया था। पहले इसका नाम गुजरात अडाणी पोर्ट लिमिटेड (जीएपीएल) था।

अडाणी पोर्ट्स के नवनियुक्त सीईओ अश्विनी गुप्ता निसान मोटर्स के जापान हेडक्वार्टर में ग्लोबल चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर के तौर पर काम कर चुके हैं। अश्विनी गुप्ता के नेतृत्व में निसान मोटर्स ने 3 साल की रिकॉर्ड अवधि में ऑपरेटिंग प्रॉफिट में 300 मिलियन डॉलर के घाटे से 3 बिलियन डॉलर के ऑपरेटिंग प्रॉफिट का सफर तय किया है। हार्वर्ड बिजनेस स्कूल से दीक्षित अश्विनी गुप्ता ने काफी समय तक रेनॉल्ट और मित्सुबिशी के साथ भी काम किया है। उन्होंने हार्वर्ड से एडवांस मैनेजमेंट प्रोग्राम किया है। इसके अलावा उन्होंने इंस्टीड से एक जनरल मैनेजमेंट प्रोग्राम भी पूरा किया है। इंडस्ट्रियल इंजीनियरिंग में भी उन्हें महारत हासिल है।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co