स्वदेशी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म Koo ने जुटाए करीब 220 करोड़ रुपये
स्वदेशी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म Koo ने जुटाए करीब 220 करोड़ रुपयेKavita Singh Rathore - RE

स्वदेशी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म Koo ने जुटाए करीब 220 करोड़ रुपये

पूर्ण रूप से स्वदेशी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म भारत के 'कू ऐप' (Koo App) ने सीरीज बी फंडिंग के तहत बहुत कम समय में करोड़ो रूपये का फंड जुटा लिया है। इस बारे में जानकारी कंपनी ने गुरुवार को दी।

राज एक्सप्रेस। पिछले कुछ समय से लगातार सोशल नेटवर्किंग साइट Twitter विवादों में नजर आ रही थी। चाहे वो कृषि कानून और किसान आंदोलन को लेकर फैलाई जा रही गलत जानकारी के चलते हो या किसी अन्य कारण के चलते। इसी का फायदा उठाते हुए उसी समय केंद्र सरकार ने Twitter को टक्कर देने के लिए अपनी देशवासियों के लिए Twitter के स्थान पर एक अन्य दूसरा विकल्प 'कू ऐप' (Koo App) लांच किया था जो कि, पूर्ण रूप से स्वदेशी प्लेटफॉर्म है। वहीं, बहुत कम समय में भारत के सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म Koo ने सीरीज बी फंडिंग के तहत करोड़ों का फंड जुटा लिया है।

Koo ऐप ने जुटाया करोड़ों का फंड :

दरअसल, भारत के स्वदेशी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म Koo ऐप द्वारा सीरीज बी फंडिंग के तहत जुटाई राशि की जानकारी दी गई है। कंपनी द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक, Koo ऐप ने सीरीज बी फंडिंग के तहत 3 करोड़ डॉलर (भारतीय करेंसी में लगभग 220 करोड़ रुपये) का फंड जुटाया है। बताते चलें, Koo ऐप की मार्केट वेल्यू (बाजार मूल्य) 5 गुना बढ़कर 100 करोड़ डॉलर से अधिक हो गई है।

बी फंडिंग के तहत जुटाया फंड :

कंपनी द्वारा दी गई जानकारी में बताया गया है कि, Koo ऐप ने यह फंड सीरीज बी फंडिंग के तहत जुटाया है, जिसमें टाइगर ग्लोबल, एक्सेल पार्टनर, कलारी कैपिटल, ब्लूम वेंचर्स और ड्रीम इनक्यूबेटर शामिल हैं। इसके अलावा नए निवेशकों के तौर पर इस लिस्ट में IIFLऔर मिराइ असेट्स हैं। स्वदेशी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ने यह फंड ऐसे समय में जुटाया है जब भारत ने एक बार फिर सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म Twitter के कंटेंट को लेकर नई गाइडलाइन्स जारी की है और उसके खिलाफ सख्ती बरतना शुरू कर दी है।

Koo ऐप के यूजर्स :

बताते चलें, Koo ऐप पिछले साल 2020 में लांच हुआ एक स्वदेशी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म है और Koo एप के संस्था संस्थापक अप्रमेय राधाकृष्णन है। इसके यूजर्स की संख्या पिछले 3 महीनों के दौरान इतनी बड़ी है कि, मात्र 3 महीनो में इस ऐप के यूजर्स दोगुने हो गए हैं। बताते चलें, Koo एप के यूजर्स की संख्या फरवरी में 30 लाख थी जबकि अब वही आंकड़ा 60 लाख पर पहुंच गया है। यह आंकड़ा Koo ऐप के निवेशकों के लिए काफी उम्मीदों से भरा साबित हो सकता है। बता दें, Koo ऐप के संस्था संस्थापक अप्रमेय राधाकृष्णन का कहना है कि, 'उनके प्लेटफार्म में विश्व का सबसे बड़ा सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म बनने की क्षमता है।'

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co