लंदन कोर्ट ने बढ़ाई नीरव मोदी की रिमांड अवधि, इस तारीख को होगा अंतिम फैसला
London court extended Nirav Modi's remand periodKavita Singh Rathore -RE

लंदन कोर्ट ने बढ़ाई नीरव मोदी की रिमांड अवधि, इस तारीख को होगा अंतिम फैसला

पंजाब नेशनल बैंक घोटाले का मुख्य आरोपी हीरा कारोबारी नीरव मोदी का लंदन कोर्ट में प्रत्यर्पण का मामला चल रहा है। वहीं, अब नीरव मोदी के प्रत्यर्पण मामले को लेकर अंतिम फैसला आने की तारीख सामने आ गई है।

राज एक्सप्रेस। पंजाब नेशनल बैंक से सामने आये बड़े घोटाले का मुख्य आरोपी हीरा कारोबारी नीरव मोदी जिसे भारत द्वारा भगोड़ा घोषित कर दिया गया था, उसे 19 मार्च को लंदन में पकड़ा गया था और तब से उस पर लंदन में ही केस चल रहा है। वहीं, जैसे-जैसे दिन बढ़ रहे हैं वैसे-वैसे ही नीरव मोदी की मुश्किलें भी बढ़ती हुई नजर आ रही हैं। क्योंकि, अब नीरव मोदी के प्रत्यर्पण मामले को लेकर अंतिम फैसला आने की तारीख सामने आई है।

7 जनवरी को होगी अंतिम सुनवाई :

बताते चलें, नीरव मोदी पिछले साल 2019 के मार्च से दक्षिण-पश्चिम लंदन की वैंड्सवर्थ जेल में बन्द हैं। लंदन कोर्ट में ही नीरव मोदी को लंदन से भारत भेजने को लेकर प्रत्यर्पण का मामला चल रहा है। पिछली सुनवाई के बाद नीरव मोदी को 1 दिसंबर तक के लिए रिमांड में भेजा गया था। कोर्ट का यह फैसला भारतीय अफसरों के लिए एक छोटी कामयाबी साबित हो सकता है। वहीं, अब नीरव मोदी के प्रत्यर्पण मामले की अंतिम सुनवाई अगले साल यानी 7 व 8 जनवरी 2019 को होगी। दोनों पक्षों को सुनने के बाद 7 जनवरी को ही अंतिम फैसला होगा।

कोर्ट ने बढ़ाई रिमांड की अवधि :

बताते चलें, लंदन के वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट में मंगलवार को नीरव मोदी के प्रत्यर्पण मामले पर हुई सुनवाई में चीफ मजिस्ट्रेट एम्मा अर्बथनॉट ने नीरव की रिमांड की अवधि बढ़ा कर 29 दिसंबर तक कर दी है। बता दें, कोरोना के प्रोटोकॉल को ध्यान में रखते हुए इस बार नीरव मोदी सुनवाई के लिए वैंड्सवर्थ जेल से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये पेश हुआ। चीफ मजिस्ट्रेट एम्म अर्बथनॉट ने सुनवाई के दौरान नीरव मोदी से कहा कि, 'अब बस एक और छोटी सी सुनवाई होगी और उसके बाद कोर्ट अपना फैसला सुनाएगी।'

इस हाल में नजर आया नीरव मोदी :

बताते चलें, सुनवाई के दौरान नीरव मोदी बढ़ी हुई दाढ़ी और मरून स्वेटर में में नजर आया। उसने कोर्ट में सिर्फ अपना नाम और जन्मतिथि बताई। बाकी पूरे समय वह चुप रहा। बता दें, आखिरी सुनवाई के दौरान ब्रिटिश अदालत ने नीरव मोदी के खिलाफ पेश किए गए भारतीय सबूतों को स्वीकार कर लिया था। अदालत ने सुनवाई के दौरान सेन्ट्रल ब्यूरो ऑफ़ इन्वेस्टिगेशन (CBI) और प्रवर्तन निदेशालय (ED) द्वारा पेश कुछ गवाहों के बयानों की स्वीकार्यता के खिलाफ और पक्ष में दलीलें सुनीं।

पंजाब नेशनल बैंक (PNB) घोटाले के दोषी :

ज्ञात हो, पंजाब नेशनल बैंक घोटाला 13 हजार करोड़ रुपए से ज़्यादा रूपये के घोटाले का मामला है जो, बैंक की मार्केट वैल्यू का क़रीब एक-तिहाई और साल 2017 की आख़िरी तिमाही के मुनाफ़े का 50 गुना था। ये घोटाला मुंबई की एक ब्रांच से गलत ट्रांसेक्शन के द्वारा किया गया था। इस घोटाले में मुख्य तौर पर 2 डायमंड कंपनियों के मालिक नीरव मोदी का नाम सामने था साथ ही गीतांजलि जेम्स लिमिटेड कंपनी के प्रमुख मेहुल चौकसी का नाम भी इस मामले से जुड़ा था।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co