Share Market
Share MarketRaj Express

बाजार खुलने के पहले इन ट्रेड सेटअप पर डालें नजर, मुनाफे वाले सौदे पकड़ना होगा आसान

भारतीय बाजारों में कल विदेशी संस्थागत निवेशकों ने 1510.86 करोड़ की बिकवाली की थी। घरेलू संस्थागत निवेशकों ने भी कल के दिन 313.97 करोड़ रुपए की बिकवाली की थी।

हाईलाइट्स

  • विशेषज्ञों के अनुसार आगे भी निफ्टी एक सीमित दायरे में ही घूमता नजर आ सकता है

  • 19250-19500 रेंज के किसी भी तरफ ब्रेकआउट से तय होगी शेयर बाजार की दिशा

राज एक्सप्रेस । भारतीय बाजारों में कल 17 अगस्त गुरूवार को विदेशी संस्थागत निवेशकों ने 1510.86 करोड़ रुपए की बिकवाली की थी। घरेलू संस्थागत निवेशकों ने भी कल के दिन 313.97 करोड़ रुपए की बिकवाली की थी। इससे निर्मित हुए दबाव ने भारतीय बाजार में मामूली गिरावट की परिस्थियां निर्मित कर दी। कारोबार के अंत में निफ्टी 0.50 फीसदी से थोड़ी ज्यादा गिरावट लेकर बंद हुआ। लेकिन कुल मिलाकर ये पिछले कारोबारी दिन के रेंज में ही घूमता दिखा। शेयर बाजार के जानकारों का कहना है कि आगे भी निफ्टी हमें एक सीमित दायरे में ही घूमता नजर आ सकता है। बाजार विशेषज्ञों का मानना है कि अब 19250-19500 रेंज के किसी भी तरफ ब्रेकआउट से ही बाजार की दिशा तय होगी।

स्माल और मिडकैप शेयरों ने कल अच्छा प्रदर्शन किया

गुरुवार को बीएसई सेंसेक्स 388 अंक गिरकर 65151 पर बंद हुआ था। जबकि निफ्टी 50 इंडेक्स 100 अंक गिरकर 19365 पर बंद हुआ था। डेली चार्ट पर इसने एक बियरिश कैंडलस्टिक पैटर्न बनाया था। स्माल और मिडकैप शेयरों ने कल दिग्गज कंपनियों की तुलना में कहीं बेहतर प्रदर्शन किया था। कल के कारोबार में निफ्टी मिडकैप 100 और स्मॉलकैप 100 इंडेक्स में क्रमशः 0.25 फीसदी और 0.14 फीसदी की बढ़त देखने को मिली थी। यहां आपको कुछ ऐसे आंकड़े दे रहे हैं, जिनके आधार पर आपको मुनाफे वाले सौदे पकड़ने में आसानी होगी। यहां इस बात का ध्यान रखें कि इस स्टोरी में दिए गए ओपन इंटरेस्ट (ओआई)और स्टॉक्स के वॉल्यूम से संबंधित आंकड़े तीन महीनों के आंकड़ों का योग हैं, ये सिर्फ चालू महीनें से संबंधित नहीं हैं।

निफ्टी के लिए सपोर्ट और रजिस्टेंस लेवल

निफ्टी के लिए पहला सपोर्ट 19333 और उसके बाद दूसरे बड़े सपोर्ट 19301 और 19249 पर स्थित हैं। अगर इंडेक्स ऊपर की तरफ रुख करता है तो 19436 फिर 19468 और 19520 पर इसको रजिस्टेंस का सामना करना पड़ सकता है। निफ्टी बैंक के लिए पहला सपोर्ट 43778 और उसके बाद दूसरे बड़े सपोर्ट 43701 और 43576 पर स्थित हैं। अगर इंडेक्स ऊपर की तरफ रुख करता है तो 44028 फिर 44105 और 44230 पर इसको रजिस्टेंस का सामना करना पड़ सकता है।

साप्ताहिक आधार पर 19400 की स्ट्राइक पर 2.2 करोड़ का अधिकतम कॉल ओपन इंटरेस्ट देखने को मिला है जो आगे आने वाले कारोबारी सत्रों में अहम रजिस्टेंस लेवल का काम करेगा। 19400 की स्ट्राइक पर सबसे ज्यादा काल राइटिंग देखने को मिली। इस स्ट्राइक पर 1.48 करोड़ कॉन्ट्रैक्ट जुड़े। 19600 की स्ट्राइक पर सबसे ज्यादा कॉल अनवाइंडिंग देखने को मिली। 19000 की स्ट्राइक पर 78.45 लाख कॉन्ट्रैक्ट का अधिकतम पुट ओपन इंटरेस्ट देखने को मिला है जो आने वाले कारोबारी सत्रों में अहम सपोर्ट लेवल का काम करेगा। 19000 की स्ट्राइक पर पुट राइटिंग देखने को मिली। इस स्ट्राइक पर 1.61 लाख कॉन्ट्रैक्ट जुड़े। 19300 की स्ट्राइक पर सबसे ज्यादा पुट अनवाइंडिंग देखने को मिली।

FII और डीआईआई ने बड़े पैमाने पर की बिकवाली

17 अगस्त को भारतीय बाजारों में विदेशी संस्थागत निवेशकों ने 1510.86 करोड़ रुपए की बिकवाली की। इस दिन घरेलू संस्थागत निवेशकों ने भी 313.97 करोड़ रुपए की बिकवाली की। एनएसई ने पंजाब नेशनल बैंक को 18 अगस्त के लिए अपनी एफएंडओ प्रतिबंध सूची में शामिल कर लिया है। इसके अलावा चंबल फर्टिलाइजर्स एंड केमिकल्स, डेल्टा कॉर्प, गुजरात नर्मदा वैली फर्टिलाइजर्स एंड केमिकल्स (जीएनएफसी), ग्रैन्यूल्स इंडिया, हिंदुस्तान कॉपर, इंडियाबुल्स हाउसिंग फाइनेंस, इंडिया सीमेंट्स, सेल और ज़ी एंटरटेनमेंट एंटरप्राइजेज को भी इस सूचि में बरकरार रखा है। हालांकि, बलरामपुर चीनी मिल्स और मणप्पुरम फाइनेंस को इस सूची से हटा दिया गया है। बताते चलें कि एफएँडओ सेगमेंट में शामिल स्टॉक्स को उस स्थिति में बैन कैटेगरी में डाल दिया जाता है, जिसमें सिक्योरिटीज की पोजीशन उनकी मार्केट वाइड पोजीशन लिमिट से ज्यादा हो जाती है।

डिस्क्लेमर: राजएक्सप्रेस.कॉम पर दिए गए विचार विशेषज्ञों के निजी विचार होते हैं। इसके लिए हमारी वेबसाइट किसी भी रूप में उत्तरदाई नहीं है। निवेश का कोई भी निर्णय लेने से पहले अपने निवेश सलाहकार से सलाह अवश्य लें, नहीं तो आपको नुकसान हो सकता है।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co