McDonald CEO Steve Easterbrook
McDonald CEO Steve Easterbrook|Kavita Singh Rathore -RE
व्यापार

McDonald के CEO को कर्मचारी से रिलेशन बनाना पड़ा महंगा

अक्सर आपने देखा होगा, एक ही ऑफिस में कार्य करने वाले कर्मचारियों के बीच रिलेशन बन ही जाते हैं, लेकिन McDonald के एक्जिक्यूटिव ऑफिसर (CEO) स्टीव इस्टरब्रुक को कर्मचारी से रिलेशन बनाना पड़ा महंगा।

Kavita Singh Rathore

Kavita Singh Rathore

हाइलाइट्स :

  • CEO स्टीव इस्टरब्रुक को छोड़ना होगा McDonald

  • महिला कर्मचारी से रिलेशन बनाना पड़ा महंगा

  • पॉलिसी के नियमों को किया ब्रेक

  • इस्टरब्रुक ने E-Mail द्वारा मांगी माफ़ी

राज एक्सप्रेस। दुनिया की सबसे बड़ी फूड चेन और बेवरेज कंपनी मैक्डोनाल्ड (McDonald) ने अपनी ही कंपनी के चीफ एक्जिक्यूटिव ऑफिसर (CEO) स्टीव इस्टरब्रुक (McDonald CEO Steve Easterbrook) को निलंबित करने का फैसला लिया है, जो साल 2015 से कंपनी का संचालन कर रहे हैं। आपको निलंबित करने का कारण जानकर हैरानी होगी, क्योंकि कंपनी ने एक महिला कर्मचारी से रिलेशन रखने के कारण ये फैसला लिया है।

कौन थी महिला :

McDonald के CEO को जिस महिला से रिलेशन रखने के चलते निलंबित किया गया है, वो उसी McDonald के ऑफिस में कार्यरत थी। दरअसल कंपनी के CEO का किसी कर्मचारी से रिलेशन रखना कंपनी की पॉलिसी के खिलाफ है, और CEO इस्टरब्रुक ने ऐसा करके कंपनी की पॉलिसी को ब्रेक किया है। हालांकि यह रिलेशन महिला और इस्टरब्रुक ने आपसी सहमति से बनाए थे।

बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स का पद भी गया :

McDonald बोर्ड द्वारा 52 वर्षीय एक्जिक्यूटिव ऑफिसर (CEO) स्टीव इस्टरब्रुक को कंपनी की पॉलिसी ब्रेक करने के लिए सजा के तौर पर बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स के पद से भी हटा दिया है। जिसके चलते स्टीव इस्टरब्रुक ने कंपनी को माफ़ी मांगते हुए एक E-Mail भी किया, जो कंपनी द्वारा शेयर किया गया है। इस E-Mail में लिखा था कि,

'वो मेरे द्वारा की गई एक गलती थी। मैं कंपनी की गरिमा को बनाए रखने के लिए McDonald बोर्ड के फैसले को स्वीकार करता हूँ। मुझे लगता है कि, अब वो समय आ गया है जब मुझे यहां से जाना चाहिए।'

स्टीव इस्टरब्रुक, McDonald एक्जिक्यूटिव ऑफिसर, बोर्ड ऑफ डायरेक्टर

ये लेंगे CEO की जगह :

अब स्टीव इस्टरब्रुक के McDonald को छोड़ने के बाद उनके स्थान पर नए CEO अमेरिका विंग के प्रेसिडेंट क्रिस केम्पजिंस्की बनेंगे। साथ ही कंपनी के इंटरनेशनल ऑपरेशंस संभाल रहे, अर्लिंगर को यूएस विंग की जिम्मेदारी भी दे दी गई है। हालांकि जब स्टीव इस्टरब्रुक कंपनी के CEO रहे तब कंपनी के शेयरों की कीमत चार साल में दोगुनी हो गई थी, लेकिन सेल में थोड़ी गिरावट दर्ज की गई थी। अब उम्मीद की जा रही है नए CEO भी अच्छी तरह से कार्य संभालेंगे। खबरों के मुताबिक, स्टीव इस्टरब्रुक की 2017 में सैलरी 2.2 करोड़ डॉलर (भारतीय करेंसी के हिसाब से लगभग 153 करोड़ रुपए) तक थी।

नए सीईओ का कहना :

McDonald के नए सीईओ क्रिस केम्पजिंस्की ने अपना पद संभल लिया है, हालांकि उन्होंने पहले ही घोषणा कर दी है कि, McDonald कंपनी के कामकाज में किसी तरह का कोई बदलाव नहीं किया जाएगा। इसका मतलब यह है कि स्टीव (पुराने CEO) के जाने से कंपनी के कार्यो में कोई खास बदलाव नहीं किया जाएगा।

रिपोर्ट के मुताबिक :

22 अक्टूबर को सामने आई रिपोर्ट के मुताबिक, McDonald कंपनी को पिछले साल की तीसरी तिमाही की तुलना में इस साल की जुलाई-सितंबर तिमाही में 1.8% तक नुकसान हुआ है। जबकि, इस दौरान कंपनी का राजस्व 1.1% से बढ़कर 5.4 अरब डॉलर तक (करीब 38,366 करोड़ रुपए) पहुंच गया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co