मेहुल चोकसी ने लगाए भारतीय जांच एजेंसियों पर कई गंभीर आरोप
मेहुल चोकसी ने लगाए भारतीय जांच एजेंसियों पर कई गंभीर आरोपSocial Media

मेहुल चोकसी ने लगाए भारतीय जांच एजेंसियों पर कई गंभीर आरोप

डोमिनिका कोर्ट ने कुछ शर्तों के साथ मेहुल चोकसी को जमानत देकर राहत दे दी है। वहीं, अब वह फिर नए नए पैंतरे अपनाता नजर आ रहा है। इसी कड़ी में उसने अब भारतीय जांच एजेंसियों पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं।

राज एक्सप्रेस। भारत में हुए बड़े बैंक घोटालों में शुमार पंजाब नेशनल बैंक (PNB) का घोटाला सबको याद ही होगा। इस घोटाले को अंजाम देने वाले मुख्य आरोपियों में नीरव मोदी और मेहुल चोकसी का नाम शामिल है। इन दोनों ने सांठ-गांठ से यह घोटाला किया था। पिछले कुछ दिनों से भगोड़ा हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी काफी चर्चा में बना हुआ है। हाल ही में उसे डोमिनिका कोर्ट ने कुछ शर्तों के साथ जमानत देकर राहत दे दी थी। वहीं, अब वह फिर नए-नए पैंतरे अपनाता नजर आ रहा है। इसी कड़ी में उसने अब भारतीय जांच एजेंसियों पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं।

मेहुल चोकसी के आरोप :

दरअसल, डोमिनिका की कोर्ट से जमानत मिलते ही भगोड़ा मेहुल चोकसी एंटीगुआ पहुंच गया है। यहां पहुंच कर मेहुल चोकसी ने भारतीय जांच एजेंसियों पर अपहरण और कारोबार बंद करने जैसे कई गंभीर आरोप लगाए हैं। उसने एक न्यूज एजेंसी से बात करते हुए कहा कि,

'मैं घर वापस आ गया हूं, लेकिन इस यातना ने मेरी आत्मा पर साइकोलॉजिकल और फिजिकल रूप से स्थायी निशान छोड़े हैं। मैं सोच भी नहीं सकता था कि भारतीय एजेंसियों द्वारा मेरा सारा कारोबार बंद करने और मेरी सारी संपत्तियां जब्त करने के बाद मेरे अपहरण का प्रयास किया जाएगा। मैं भारत में अपनी बेगुनाही साबित करने के लिए लौटने पर विचार कर रहा हूं। मेरे अपहरण के बाद पिछले 50 दिनों से मेरी हेल्थ कंडीशन खराब है और कुछ ज्यादा ही खराब हो गई है। मैं भारत में अपनी सुरक्षा को लेकर आशंकित हूं। मुझे नहीं पता कि मैं सामान्य शारीरिक या मानसिक स्थिति में वापस आऊंगा। कई बार, मैंने एजेंसियों को मुझसे पूछताछ करने के लिए एंटीगुआ आने के लिए कहा, क्योंकि स्वास्थ्य समस्याओं के कारण मैं अब यात्रा नहीं कर पा रहा था। मैं एजेंसी के सहयोग के लिए हमेशा उपलब्ध हूं, लेकिन इस अमानवीय अपहरण की मुझे कभी उम्मीद नहीं थी।'

मेहुल चोकसी

डोमिनिका कोर्ट से मिली जमानत :

बताते चलें, पिछले महीनों मेहुल चोकसी लापता हो गया था। उसकी जाँच करने पर वह डोमिनिका से पकड़ा गया था। इसके बाद वह की पुलिस ने उसके गैरकानूनी तरीके से डोमिनिका में प्रवेश करने के चलते उसे 51 दिन तक जेल में बंद रखा, लेकिन पिछले दिनों मेहुल चोकसी ने डोमिनिका की कोर्ट में एक याचिका दायर की थी, जिसमें कहा गया था कि, 'उसकी तबीयत तेजी से खराब हो रही है। उसने इलाज के लिए ऐंटीगा में अपने फिजिशन से फौरन डॉक्टर की जरूरत बताई थी।' इस याचिका की सुनवाई करते हुए कोर्ट ने जमानत दे तो दी है, लेकिन साथ ही कोर्ट ने इस शर्त रखी है कि, 'चोकसी ऐंटीगा का अपना पूरा पता कोर्ट को देगा और 10 हजार डॉलर का जुर्माना भी भरेगा। इलाज के बाद उसे वापस डोमिनिका आना होगा।'

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co