एक दिन सरकारी क्वारंटीन सेंटर में रखने के बाद मेहुल चौकसी को भेजा अस्पताल
एक दिन सरकारी क्वारंटीन सेंटर में रखने के बाद मेहुल चौकसी को भेजा अस्पताल Syed Dabeer Hussain - RE

एक दिन सरकारी क्वारंटीन सेंटर में रखने के बाद मेहुल चौकसी को भेजा अस्पताल

मेहुल चौकसी के एंटीगुआ/बारबुडा से लापता होने की खबर सामने आई थी। हालांकि, 2 ही दिनों में वह डोमिनिका से पकड़ा गया। इसके बाद उसे एक दिन सरकारी क्वारंटीन सेंटर में रखने के बाद अस्पताल भेज दिया गया है।

राज एक्सप्रेस। भारत में हुए बड़े बैंक घोटालों में शुमार पंजाब नेशनल बैंक (PNB) का घोटाला सबको याद ही होगा। इस घोटाले को अंजाम देने वाले मुख्य आरोपियों में नीरव मोदी और मेहुल चौकसी का नाम शामिल है। इन दोनों ने सांठ-गांठ से यह घोटाला किया था। इनमें से नीरव मोदी का मामला अब भारत प्रत्यर्पण की ओर पहुंच चुका है। जबकि, पिछले दिनों भगोड़े हीरा कारोबारी मेहुल चौकसी के एंटीगुआ और बारबुडा से लापता होने की खबर सामने आई थी। हालांकि, 2 ही दिनों में वह डोमिनिका से पकड़ा गया। इसके बाद उसे एक दिन सरकारी क्वारंटीन सेंटर में रखने के बाद अस्पताल भेज दिया गया है।

मेहुल चौकसी को भेजा गया अस्पताल :

दरअसल, डोमिनिका से पकड़े जाने के बाद से मेहुल चौकसी पुलिस की कस्टडी में ही था। ईस्टर्न कैरेबियन सुप्रीम कोर्ट में उसके मामले पर सुनवाई के दौरान उसे कही भी नहीं भेजने के आदेश दिए। साथ ही ईस्टर्न कैरेबियन सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिए गए आदेशों के तहत चौकसी को अपने वकील से मिलने और मेडिकल सुविधाएं लेने की भी अनुमति दी गई थी। जिसमें कोरोना का टेस्ट भी शामिल था। अब मेहुल चौकसी का कोरोना टेस्ट हो चुका है जिसकी रिपोर्ट नेगेटिव आई है। उसके बावजूद भी मेहुल चौकसी को भारी पुलिस सुरक्षा के बीच अस्पताल में रखा गया है। हालांकि, वह वहां भी अपने वकील से मिल सकते हैं।

एक दिन रहे क्वॉरंटीन सेंटर में :

बताते चलें, एक दिन पहले चौकसी को पुलिस सेल से हटाकर डोमेनिका के पोर्ट्समाउथ में सरकारी क्वॉरंटीन सेंटर में भी रखा गया था। इस मामले में चौकसी के वकीलों का कहना है कि, 'उनका अपहरण कर लाया गया है। उनके साथ मारपीट भी की गई। वकीलों ने मामले में राहत के लिए अदालत में अपील दाखिल की है। मेहुल के शरीर पर चोट के निशान भी पाए गए हैं। जो बीते दिनों आमने आई उनकी फोटोज में भी नजर आ रहे हैं। इस मामले में मेहुल के वकीलों और सरकारी पक्ष को 1 जून तक हलफनामा दाखिल करना होगा। जिसके बाद अगली सुनवाई 2 जून को की जाएगी।

एंटीगुआ के प्रधानमंत्री के बयान :

बता दें, यह मामला कोर्ट पहुंचने से पहले डोमेनिका सरकार मेहुल को एंटीगुआ वापस भेजना चाहती थी। इतना ही नहीं एंटीगुआ के प्रधानमंत्री गेस्टन ब्राउन कई बार अपने बयान में कह चुके हैं कि, डोमिनिका को हीरा कारोबारी को सीधे भारत को सौंप दिया जाए, जहां वो वांटेड हैं।

पंजाब नेशनल बैंक (PNB) घोटाले के दोषी :

पंजाब नेशनल बैंक घोटाला, 13 हज़ार करोड़ रुपए से ज़्यादा रूपये के घोटाले का मामला है जो, बैंक की मार्केट वैल्यू का क़रीब एक-तिहाई और साल 2017 की आख़िरी तिमाही के मुनाफ़े का 50 गुना था। ये घोटाला मुंबई की एक ब्रांच से गलत ट्रांसेक्शन के द्वारा किया गया था। इस घोटाले में मुख्य तौर पर 2 डायमंड कंपनियों के मालिक नीरव मोदी का नाम सामने आया था, साथ ही गीतांजलि जेम्स लिमिटेड कंपनी के प्रमुख मेहुल चौकसी का नाम भी इस मामले से जुड़ा था। मेहुल चौकसी, नीरव मोदी का मामा है। CBI की जांच शुरू होने से पहले चौकसी 2018 में भारत से भाग गया था।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co