नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट तक ले लिए शुरू होगा मेट्रो का संचालन
नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट तक ले लिए शुरू होगा मेट्रो का संचालनSyed Dabeer Hussain - RE

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट तक ले लिए शुरू होगा मेट्रो का संचालन

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट को मेट्रो कनेक्टिविटी देने के लिए उत्तर प्रदेश और केंद्र सरकार के बीच बातचीत हुई है। दोनों ही सरकारों ने इस परियोजना की फंडिंग को सहमति जताई है।

राज एक्सप्रेस। देश के उत्तर प्रदेश राज्य के कई हिस्सों में भी जल्द ही मेट्रो की शुरुआत होने वाली है क्योंकि, नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट को मेट्रो कनेक्टिविटी देने के लिए उत्तर प्रदेश और केंद्र सरकार के बीच बातचीत हुई है। दोनों ही सरकारों ने इस परियोजना की फंडिंग को सहमति जताई है।

मेट्रो चलाने की योजना :

दरअसल, अब उत्तर प्रदेश के लोगों की सुविधा का ध्यान रखते हुए सरकार ने वहां भी मेट्रो चलाने के लिए एक योजना तैयार की है। इस मेट्रो योजना के तहत इसट्रो के निर्माण में लगभग पांच हजार करोड़ रुपये का खर्च आने का अनुमान लगाया गया है। बता दें, यमुना प्राधिकरण ने फंडिंग पैटर्न तय करने को उत्तर प्रदेश सरकार को पूर्व में रिपोर्ट भेजी थी। नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट को कनेक्टिविटी देने के लिए विभिन्न विकल्पों पर काम किया जा रहा है। इन्हीं योजनाओं में ही मेट्रो वाली योजना भी शामिल है। इस योजना के तहत एक्वा लाइन मेट्रो के नॉलेज पार्क दो स्टेशन से नोएडा एयरपोर्ट तक मेट्रो ले जाने की योजना है।

कुल स्टेशन प्रस्तावित :

बताते चलें, यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण ने इसकी व्यावहारिकता एवं विस्तृत परियोजना रिपोर्ट दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन द्वारा तैयार कराई थी। जिसके तहत लगभग 36 किमी लंबे रूट पर मेट्रो के कुल 19 स्टेशन प्रस्तावित हैं। इस परियोजना को पूरा करने के लिए कम से कम पांच हजार करोड़ आने का अनुमान लगाया गया है। यमुना प्राधिकरण के सेक्टरों को भी मेट्रो से भी कनेक्टिविटी मिलेगी।

कुछ खास बातें :

  • DMRC की डीपीआर के अनुसार, ग्रेटर नोएडा के नॉलेज पार्क से नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट तक 35.6 किलोमीटर लंबी मेट्रो लाइन का निर्माण किया जाएगा।

  • ग्रेटर नोएडा के नॉलेज पार्क से लेकर नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट तक कुल 29 मेट्रो स्टेशन बनाए जाने हैं।

  • इस योजना में कुल 1500 करोड़ रुपये की लागत लगने का अनुमान लगाया गया है।

  • उत्तर प्रदेश सरकार और केंद्र सरकार तकरीबन 1050 करोड़ रुपये इस प्रोजेक्ट को मुहैया कराएंगीं। बाकि 450 करोड़ रुपये यमुना एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण अपने हिस्से से खर्च करेगा।

  • उत्तर प्रदेश मेट्रो रेल निगम वर्ष 2023 तक हर हाल में मेट्रो जेवर तक ले जाना चाहता है, क्योंकि तब तक यह से हवाई सेवा भी शुरू हो जाएगी।

  • इस योजना का फायदा दिल्ली के साथ ही नोएडा और ग्रेटर नोएडा के लोगों को भी मिलेगा।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co