Mukesh Ambani active for RIL from Corona outbreak
Mukesh Ambani active for RIL from Corona outbreak|Kavita Singh Rathore -RE
व्यापार

कोरोना के प्रकोप से कंपनी को बचाने के लिए मुकेश अंबानी हुए एक्टिव

रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने भी अब कोरोना वायरस के प्रकोप से अपने समूह के लगभग 5 लाख कर्मचारियों और कंपनी को नुकसान से बचाने के लिए एक्टिव हो गये हैं।

Kavita Singh Rathore

Kavita Singh Rathore

हाइलाइट्स :

  • कोरोना के प्रकोप से हर दिन लड़ रही है कॉर्पोरेट जगत की कंपनियां

  • कंपनी को बचाने के लिए मुकेश अंबानी हुए एक्टिव

  • 5 लाख कर्मचारियों की सुरक्षा के लिए जारी की मेडिकल हेल्पलाइन

  • मुकेश अंबानी करते हैं हर तीसरे दिन बैठक

राज एक्सप्रेस। आज दुनिया का आधे से ज्यादा हिस्सा कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप से घबराया हुआ और बेचैन है। इस बढ़ती बेचैनी के चलते ही सरकार ने स्कूल-कॉलेज, जिम, सिनेमाघर और माल्स बंद करवा दिए हैं। वहीं कॉरपोरेट जगत की कंपनियों ने भी अपने कर्मचारियों को घर से कार्य करने की सुविधा, कंपनी के ऑफिस को बंद करने के साथ ही कर्मचारियों को एहतियात बरतने का आदेश दिए हैं। इन सब के बीच हम भारत की सबसे बड़ी कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज को कैसे भूल सकते हैं। हर कोई जानना चाहता है कि, कोरोना के प्रकोप से बचने के लिए मुकेश अंबानी क्या कदम उठा रहे हैं।

मुकेश अंबानी हुए एक्टिव :

रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने भी अब कोरोना वायरस के प्रकोप से अपने समूह के लगभग 5 लाख कर्मचारियों और कंपनी को नुकसान से बचाने के लिए एक्टिव हो गये है। वह हर 3 दिन में अपने कर्मचारियों के साथ बैठक कर रहे है और ऐसा वो पिछले एक महीने से कर रहे हैं। उनकी बारीक नजरें अपनी कंपनी के पूरे हालात पर हैं। इसी के साथ उन्होंने अपने कर्मचारियों को घर से कार्य करने की सुविधा भी मुहैया करवा दी है।

प्रवक्ता ने बताया :

रिलायंस के एक प्रवक्ता से बातचीत के बाद यह बात सामने आई है कि, 'वह मुकेश अंबानी उन कर्मचारियों को लेकर चिंतित हैं जिन्हें काम के लिए कई बार देश-विदेशों की यात्रा करनी पड़ती है। इनके साथ ही ऐसे कर्मचारी जो विदेश में रहकर कंपनी के लिए काम कर रहे हैं। रिलायंस ग्रुप डॉक्टरों की एक टीम से इस बारे में बातचीत कर रहा है और जरूरत के हिसाब से राय भी ले रहा है। कंपनी में स्वास्थ्य मानक तय किए जाएंगे। इसी के साथ RIL ग्रुप की डिजिटल टीम ने भी सबको सचेत करने के लिए एक अभियान की शुरुआत की है।

कच्चे तेल की कीमत का असर पड़ा RIL पर :

कच्चे तेल के कोरोना वायरस की चपेट में आजाने से कीमतें काफी घटी हैं जिसका सीधा असर रिलायंस इंडस्ट्रीज पर पड़ा और कंपनी को नुकसान उठाना पड़ा। बता दें कि, बीते साढ़े तीन माह में कंपनी के मार्केट कैप में 4.4 लाख करोड़ रुपये की गिरावट दर्ज की गई है। कंपनी का मार्केट कैप नवंबर 2019 में 10 लाख करोड़ रुपये के भी ऊपर निकल गया था। तब से अब तक देखा जाये तो, इसमें 44% की गिरावट आ चुकी है। कच्चे तेल की कीमतों में गिरावट सऊदी अरब और रूस के बीच प्राइस वॉर शुरू होने से आई है।

मेडिकल हेल्पलाइन :

कोरोना वायरस से बचने के लिए सबसे ज्यादा सावधानी नवी मुंबई के रिलायंस कॉरपोरेट पार्क और जामनगर स्थित रिफाइनिंग और पेट्रोकेमिकल कॉम्प्लेक्स में बरती जा रही है। वहीं, पातालगंगा की प्रोडक्शन यूनिट और रिलायंस के रिटेल आउटलेट में भी साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखा जा रहा है। इन सब के साथ ही कंपनी ने एक मेडिकल हेल्पलाइन निर्मित की है। जिससे मेडिकल इमरजेंसी के केस में परिवारों से संपर्क करना आसान हो जाये। साथ ही परिसरों में डॉक्टर की व्यवस्था की गई है।

रिलायंस ग्रुप के कर्मचारी :

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि, रिलायंस ग्रुप में कर्मचारियों की संख्या लगभग 5 लाख है। इनमें ज्यादातर कर्मचारी भारत की यूनिटों में काम करते हैं। रिलायंस ग्रुप के मैनेजर में कुल कर्मचारियों में लगभग 14% महिलाएं हैं। कंपनी ने इन सभी को घर से कार्य करने की अनुमति दे दी है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co